बालों की देखभाल के लिए बाजार में उपलब्‍ध ये उत्‍पाद हैं फायदेमंद

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 08, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ये उत्‍पाद बालों की बीमारियों को दूर कर प्राकृतिक चमक प्रदान करते हैं।
  • हिना को बालों में लगाने से बालों का झड़ना बंद हो जाता है।
  • भृंगराज की पत्तियों से निकले हुए रस में मिलाकर बालों में लगायें।
  • एलोवेरा जूस लगाने से बाल, मुलायम, घने और काले होते हैं।

 

बालों की देखभाल के लिए कई प्रकार उत्‍पाद बाजार में उपलब्‍ध हैं। आप अपने बालों के अनुसार इन उत्‍पादों का चयन कर सकते हैं। ये उत्‍पाद आपके बालों की बीमारियों को दूर करते हीं हैं साथ ही ये आपके बालों को प्राकृतिक चमक भी प्रदान करते हैं।

Products For Haircareइन उत्‍पादों के अलावा आप अपने घर के आस-पास मौजूद प्राकृतिक उत्‍पादों से भी अपने बालों को संवार सकते हैं। आंवला, शिकाकाई, हिना, एलोवेरा, मेहंदी, भृंगराज आदि आपके घर के पास आसानी से मिल जायेंगें। आइए हम आपको इन उप्‍पादों के बारे में विस्‍तार से जानकारी दे रहे हैं।

 

बालों के लिए उत्‍पाद

हिना

बालों को प्राकृतिक रूप से रंगने के लिए इसका उपयोग किया जाता है और इसे बालों के लिए अच्छा कंडीशनर माना जाता है। हिना का उपयोग करने से बालों का झड़ना बंद हो जाता है। यदि आपके बाल बेजान और रूखे हैं तो हिना प्रयोग करने से बालों की खोई रौनक वापिस आ जाती है, हिना बेजान बालों को नई चमक देती है।


एलोवेरा

एलोवेरा एक प्राचीन पौधा हैं और बालों के लिए बहुत ही लाभदायक है। बालों में एलोवेरा जूस लगाने से बाल, मुलायम, घने और काले होते हैं। एलोवेरा जेल को मेहंदी में लगाकर मिलाने से बालों का झड़ना बंद हो जाता है। यदि आपके बाल झड़ गयें हों तो एलोवेरा का रस नियमित सर पर लगाते रहने से नये बाल उग आते हैं।

 

भृंगराज

अगर आपके बाल सफेद हो रहे हैं तो आप त्रिफला, नील और लोहे के बुरादे को 1-2 चम्मच लेकर उसे भृंगराज की पत्तियों से निकले हुए रस में मिलाकर बालों में लगायें। रात में सोते समय इस मिश्रण को लोहे की कड़ाही में रख दें। सुबह इसे बालों में लगाएं। जब यह अच्छी तरह से सूख जाए तो इसे धो लें। ऐसा करने से आपके बाल सफेद होना बंद हो जाएंगे। इसे बालों की वृद्धि को नयी ताजगी देने के लिए एक अच्‍छी औषधि माना जाता है।

 

शैवाल का सार

समुद्री वनस्पति में आवश्यरक एमीनो अम्लों, खनिजों और विटामिनों का उच्च स्रोत होता है। समुद्री वनस्पतियों की कई प्रजातियों का प्रयोग बालों की देखभाल के लिए किया जाता है। एटलांटिक केल्प, हिमांथालिया एलांगेटा आदि समुद्री वनस्‍पतियां बाल उगाने के उपचारों के रूप में उपयोग की जाती हैं। ये सिर की त्वचा को स्वस्थ बनाती हैं साथ ही बालों की समस्याओं का निवारण भी करती हैं। ये बालों के उगने में भी मदद करती हैं।

 

ग्रीन टी

इस औषधि को मेल पैटर्न बाल्डनेस कम करने वाली दवा माना जाता है और रोज़ाना लेने पर यह बालों की वृद्धि भी करता है। यह काफी प्रभावशाली है क्योंकि यह टेस्टोस्टेरॉन को डीएचटी में बदलने को रोकती है जो कि बाल गिरने का मुख्य कारण होता है। 

 

जिनसेंग

यह बहुत ही लोकप्रिय औषधि है जिसका उपयोग एशिया में हजारों वर्षों से किया जाता रहा है। यह वस्कुलर सर्कुलेशन को बढ़ाती है और कोशिकीय उपापचय (सेलुलर मेटॉबालिज्म) को नियमित करती है। इसे शैम्पू और हेयर टॉनिक में उपयोग किया जाता है। यह बालों को पोषण देती है और उन्‍हें मज़बूत बनाती है।

 

 

Read More Articles On Hair Care In Hindi

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES36 Votes 19033 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • mehjabeen06 Dec 2012

    yeh sari cheeze kaha mil sakti hai?

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर