बड़ी उम्र में महिलाओं को होती हैं ये समस्याएं

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 26, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बड़ी उम्र में महिलाओं को होती हैं कई समस्याएं।
  • रजोनिवृत्ति के साथ घट जाता है एस्ट्रोजन उत्पादन।
  • माहवारी लगभग 50 वर्षों तक ही करती है मदद।
  • इससे हड्‍डियां होती हैं कमजोर। 

मनुष्यों में वृद्धावस्था, मनोवैज्ञानिक, शारीरिक, और सामाजिक परिवर्तन की एक बहुआयामी प्रक्रिया माना जाता है। और कोई बुढ़ापे के परिवर्तन से बच नही सकता हैं। एक औरत जैसे रजोनिवृत्ति के करीब पहुंचती है,उसको कुछ बदलाव का सामना करना पडता हैं, जो उसके सेक्स जीवन को प्रभावित करते हैं। नीचे सूची में कुछ मुद्दे दिये हैं, जो प्राढ उम्र महिला के सेक्स जीवन को कैसे बदल सकती हैं, यह बताते हैं।

Aged woman

  • रजोनिवृत्ति के साथ, महिला के शरीर में एस्ट्रोजन उत्पादन घट जाता है, जो उसकी सेक्स की इच्छा काफी कम कर देता हैं। इसके साथ ही एक महिला के प्रजनन अंग सामान्य मोटाई से दोगूना सिकुड जाते हैं, जिससे योनि में भी संकुचन आकर शारीरिक परिवर्तन भी होता हैं। ज्यादातर महिलाओं को योनि ऊतकों में लोच की कमी का अनुभव होता हैं और स्नेहन की कमी और सूखापन का अनुभव होता है।
  • प्रौढ उम्र के कारण कामोन्माद में देरी या पूर्ण विफलता पैदा हो सकती है। यह कामोन्माद को कम हर्षित कर सकता हैं। हालांकि, आपको यह ध्यान में रखना चाहिये की एक महिला रजोनिवृत्ति तक पहुँचने के बाद भी भगशेफ क्षेत्र की संवेदनशीलता कायम रहती हैं।
  • रजोनिवृत्ति में पहुँचने वाली महिलाओं की हड्डियां कमजोर और अन्य स्वास्थ्य समस्याऐं जैसे कमजोर दिल विकसित हो सकती हैं। ऐसा होता है क्योंकि महावारी शरीर को सामान्य रुप से कार्य करने के लिए लगभग 50 वर्षों तक मदत करती है और अचानक उसमे ठहराव शरीर के कामकाज में असंतुलन का कारण बनता है। गंभीर स्वास्थ्य स्थितियां सेक्स के लिए महिला की इच्छा के साथ हस्तक्षेप कर सकती हैं।
  • गर्भाशयोच्छेदन और स्तन कैंसर के कारण स्तन हटाना जैसे अन्य कारकों से औरत की सेक्स की इच्छा में एक भारी नुकसान हो सकता है। उसे अधिक थकावट महसूस होती है, जिसका कारण अस्थिर हार्मोन होते है, जो उसकी सेक्स की इच्छा को कम करते हैं।


कुछ महिलाऐं रजोनिवृत्ति अवस्था का मानसिक रूप से सामना करने में असमर्थ रहती हैं और यह एक प्रौढ उम्र  की महिला के यौन जीवन को बदलने में सबसे बड़ा योगदान कारक बन जाता है। इस समय के दौरान, उसको तनावमुक्त रहना और परिवर्तन के दौर से गुजर रहे शरीर के साथ सहज महसूस करना सीखना चाहिए। यदि जरूरत हो तो वह चिकित्सा परामर्श ले सकती हैं।

 

 

Read more articles on Sex and Relationship In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES59 Votes 58995 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर