बीसवें हफ्ते में शिशु की हलचल होगी ज्‍यादा महसूस

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 23, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बच्‍चे के सोने के समय आराम करने की कोशिश करनी चाहिए।
  • इस समय गर्भस्‍थ शिशु की लंबाई छह से साढ़े छह इंच तक होगी।
  • अब आपको बीच-बीच में सांस लेने में परेशानी हो सकती है।
  • बच्‍चा गर्भ के बाहर की आवाजों को आसानी से सुन सकता है।

गर्भावस्‍था की पूरी अवधि के आधे समय को आप अच्‍छे से पार कर चुकी हैं। आप इस समय दूसरी तिमाही में हैं, यह गर्भावस्‍था का सबसे आरामदायक समय होता है।

Pregnancy Twenty Weeks
गर्भावस्‍था की दूसरी तिमाही का समय आसान और सुखद होता है। आमतौर पर पहली तिमाही में महिलाओं को सुबह की बीमारी या थकान होती है। बच्‍चे के यौंन अंग विकसित हो चुके हैं, इन्‍हें 20वें हफ्ते में आसानी से पहचाना जा सकता है, लेकिन लिंग निर्धारण करना कानूनन अपराध है। आप आधे समय से गुजर चुकी हैं इसलिए आपको अब शिशु के जन्म के बारे में सोचना चाहिए।

आपको प्राकृतिक प्रसव से गुजरना है या सिजेरियन कराना है। इसके बारे में आप अपने साथी और डॉक्‍टर दोनों से चर्चा कर सकती हैं। आप इस बारे में जो भी निर्णय लेना चाहे, आराम से लें। आपके पास पर्याप्‍त समय है। इस लेख के जरिए हम बात करते हैं गर्भावस्‍था के बीसवें हफ्ते के बारे में।

बच्चे का विकास

बच्चे का अच्छे से विकास हो रहा है। गर्भस्थ शिशु का जितना वजन गर्भावस्था की शुरूआत में था, उसकी तुलना में अब उसका वजन चार गुना हो चुका है। अब आपको गर्भ होने वाली बच्‍चे की अधिकतर हलचल महसूस होती होंगी। 20वें सप्‍ताह से आपको यह भी आसानी से पता चल जाता है कि बच्‍चा कब सो रहा है, और कब जाग रहा है। आपको यह महूसस हो कि आपका और शिशु के सोने का कार्यक्रम विपरीत है, तो आप भी उस समय सोने का प्रयास करें जब बच्‍चा सोता है।

इस समय बच्चे का वजन 11 औंस और लंबाई छह से साढ़े छह इंच होनी चाहिए। बच्चा सांस लेने का अभ्यास करना शुरु कर देगा। हालांकि फेफड़ें आखिर में पूरी तरह से विकसित होने वाले अंगों में से एक है। बच्चा हल्‍के सूक्ष्‍म बालों से ढका हुआ है, इन्‍हें लानुगो कहते हैं। ये बाल बच्चे को अपने शरीर के अंदर के तापमान को बनाए रखने में मदद करते हैं। बच्चे में सुनने की क्षमता विकसित हो गई है, अब वह आपकी आवाज के साथ गर्भ के बाहर की अन्य आवाजों पर प्रतिक्रिया देना शुरू कर सकता है।

बच्चे के अंगों और संरचनाओं का अभी विकास हो रहा है। शिशु एक सफेद कोटिंग के साथ आच्छादित है, जिसको व्हरनिक्स कसेओसा कहते हैं। यह बच्चे की त्वचा को जन्म मार्ग के माध्यम से बाहर की तरफ यात्रा करते वक्‍त जलन से सुरक्षित रखने में मदद करेगी। अब बच्चा जातविष्‍ठा का उत्पादन करना शुरू कर देगा, यह एक गहरे हरे रंग की चिपचिपा पदार्थ जिसमें कोशिकाओं का नुकसान और एमनिओटिक द्रव जो पाचन स्राव के साथ बच्चा निगल लेता है शामिल है।

शरीर में परिवर्तन

बच्चे का विकास होता है तो मां महिला को सांस लेने में परेशानी होती है। फेफड़ें अपने अंगों से प्रतिबंधित हो जाएंगे, क्योंकि गर्भाश्‍य का बढ़ता हुआ आकार उन्हें ऊपर की तरफ धक्का देता है। यह सामान्य है, इसमें चिंतित होने की बात नहीं है। यदि आपको सांस लेने में कठिनाई हो रही है, तो डॉक्‍टर से बात करें। कुछ महिलाओं को परेशानी का अहसास गर्भावस्था के अंतिम महीनों में, जब बच्चा जन्म नहर में नीचे उतरना शुरु करता है, तब होता है।

गर्भावस्था के इस स्तर पर आपका वजन आठ से 10 पाउंड तक बढ़ना चाहिए। चिकित्‍सक इस समम आपके वजन की निगरानी करते हैं। यदि कुछ चिंताजनक है तो वह इस बारे में आपको बताएंगे। वजन बढ़ रहा है, इसलिए खाना बंद कर दें, ऐसा कभी न सोचें। प्रेग्‍नेंसी के दौरान डायटिंग करना सही नहीं है। गर्भावस्था के इस हफ्ते में आपको खिंचाव के निशान दिखाई दे सकते हैं। कोकोआ मक्खन का उपयोग करें, यह आपके खिंचाव के निशान को कम करेगा और त्वचा को मुलायम व हाइड्रेटेड बनाएगा।

बच्‍चे का आकार बढ़ने के साथ आपको कब्ज, अपच और त्वचा संबंधी परेशानी का अहसास होगा। हाइड्रेटिड रहे और हर दिन खूब तरल पदार्थों का सेवन करें। कैफीन युक्‍त पेय पदार्थो से दूर रहना चाहिए। कैफीन बच्चे के लिए भी अच्‍छी नहीं होती। यदि खुजली महसूस हो रही है, तो यह यकृत विकृति या जन्म के पूर्व विटामिन की कमी का लक्षण हो सकता है। खुजली से ज्‍यादा परेशान होने पर चिकित्‍सक से परामर्श करें। खुजली वाले हिस्सों पर ठंडा सेक देने से भी राहत मिलती है। बेकिंग सोडा और पानी का मिश्रण बनाकर खुजली वाली जगह पर बनाकर लगाने से राहत मिलेगी।

क्या उम्मीद की जाती है

गर्भावस्था के इस स्तर पर आपको आराम करना चाहिए। आपको शारीरिक और मानसिक रूप से शांत रहना चाहिए। व्यायाम और भोजन की योजना का पालन करें। प्रसव पूर्व लिए जाने वाले विटामिन्‍स को जारी रखे। इस समय रक्‍ताल्पता आम बात है, और अगर यह अनुपचारित रही तो इससे समय से पहले जटिलताएं हो सकती हैं। अपने आहार में आयरन युक्‍त पदार्थों कि मात्रा में वृद्ध‍ि या विटामिन पूरक के साथ लोहे की मात्रा में वृद्धि की कोशिश करे। आप अंडे, चिकन, सूखे मेवा, दलिया, ओटमिल और फलों और सब्जियों को चुन सकते हैं।

सलाह

बच्चे तीव्र गति से बढ़ रहा है। आपको बच्चे में परिवर्तन के एक परिणाम के रूप में शरीर में परिवर्तन का अनुभव होगा। ये सामान्य बदलाव हैं और अगर आपको किसी भी बदलाव से चिंता हो रही है, तो डॉक्टर से बात करने का सही समय है। अगर आपको लगता है कि कुछ ठीक नहीं है, तो अपने चिकित्सक को फोन करे या स्थानीय आपातकालीन कमरे में जाने में संकोच ना करे।

 

 

 

 

Read More Articles On Pregnancy Week In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES202 Votes 61175 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर