सत्‍ताइसवें हफ्ते में निश्‍चित होता है शिशु के सोने-जागने का समय

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 26, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • जन्‍म पूर्व जानकारी देने वाली कक्षाओं में भाग ले सकती हैं।
  • गर्भस्‍थ शिशु की लंबाई 14 से 15 तक हो सकती है।
  • किसी भी तरह की परेशानी होने पर तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें।
  • हाइड्रेटेड रहने के लिए ज्‍यादा पानी पीना है फायदेमंद।

सत्‍ताइसवें हफ्ते के साथ आपने गर्भावस्था की तीसरी और अंतिम तिमाही में प्रवेश कर लिया है। यदि आप शिशु के जन्‍म से पूर्व जानकारी देने वाली कक्षाओं में जाने का प्‍लान कर रही हैं, तो इसके लिए यह समय ठीक है।

Pregnancy Twenty Seven Weeks

अस्पताल आपको गर्भावस्‍था के हफ्तों के अगले कुछ हफ्तों में प्रवेश फार्म भेज देंगे और वे बच्चे के जन्म से संबंधित जानकारी की कक्षाओं में भाग लेने की सलाह देते हैं। इन वर्गों में आपको बच्चे के जन्म के दौरान सांस लेने की तकनीक और कुछ व्यायाम सिखाएंगे, जो बच्चे के जन्म को तनावमुक्‍त और आरामदायक कर देगा। गर्भावस्था के इस स्तर पर आपको डॉक्टर से प्रसव के विकल्प पर चर्चा करनी चाहिए।

यदि आपने गर्भावस्था के दौरान अभी तक संतुलित आहार नहीं लिया है, तो अब भी आप इसे शुरू कर सकती हैं। अंतिम कुछ हफ्तों में आप बच्चे को ज्‍यादा से ज्यादा पोषण दे सकती हैं। केवल कैलोरी ही गर्भस्‍थ शिशु को स्वस्थ नहीं रख सकती। जो खाना आप खा रही हैं, उससे ही बच्‍चे का विकास होता है। इसलिए अंतिम महीनों में स्वस्थ आहार लेने की कोशिश करें। फल और सब्जियों का अधिक सेवन करें व तले हुए भोजन से परहेज करें।

बच्चे का विकास

गर्भावस्था के 27वें हफ्ते में बच्चे की लंबाई 14 से साढ़े चौदह इंच के करीब और वजन 2 पाउंड के करीब होगा। इसके बाद शिशु का वजन तेजी से बढ़ेगा। अंतिम हफ्तों में तो प्रति सप्‍ताह आधा पाउंड तक वजन बढ़ता है। गर्भस्‍थ शिश की त्वचा झुर्रियों वाली होती है, क्योंकि वह पिछले पांच महीनों से पानी से घिरा है। बच्चे की त्वचा पैदा होने के बाद भी कुछ हफ्तों तक झुर्रियों वाली दिखेगी। त्वचा का बाहर खिंचाव होगा और चिकनी दिखेगी।

बच्चे कि रेटिना का अच्छी गति से विकास हो रहा है, वे जल्द ही बच्चे को प्रकाश छवियों को समायोजित करने में मदद करने के लिए सक्षम हो जाएंगी। इन परतों को मस्तिष्क को प्रकाश और कुछ छवियों को प्राप्‍त करने के साथ ही मस्तिष्क को वो क्या देख रहे है इसकी सूचना प्रसारित करने में मदद करने के रूप में अच्छी तरह सक्षम माना जाता है। बच्चे की आंखों को ढकने वाली झिल्ली अलग होना शुरू हो जाएगी। कुछ हफ्तों में बच्चा आंखें खोलनें में सक्षम हो जाएगा।

अधिकांश बच्चो की जन्म के समय आंखें नीली होती हैं। अगर आंखों का रंग जन्म के बाद बदलने वाला है, तो यह जन्म के कुछ ही हफ्तो पहले शुरु हो जाएगा। गर्भावस्था में इस सप्‍ताह में बच्चा सोने का और जागने का एक समय बना लेता है। आपको जल्द ही इसका अहसास भी हो जाएगा। यदि आपके सोने का समय शिशु के सोने के समय से विपरीत हैं तो इसको मिलाने की कोशिश करें। जब गर्भ में पल रहा शिशु सो रहा है, आप भी उसी समय सोने की कोशिश करें।

कई बार आप सोने की कोशिश करती हैं, लेकिन उस समय आपको शिशु की लात महसूस होगी। कहा जाता है कि बच्चा गर्भ से ही सपना देखना शुरू करता है। मस्तिष्क अभी भी सक्रिय है और मस्तिष्क की सतह की झुर्रियां प्रदर्शित होना शुरु होंगी, क्‍योंकि अब मस्तिष्क के ऊतकों का विकसित होना शुरू हो जाएगा। बच्चे हिचकी ले रहा है, इसका अहसास भी आपको होगा। अब उसके फेफड़ें परिपक्व हो रहे हैं और वे सांस लेने का अभ्यास कर रहे हैं।

शरीर में परिवर्तन

सत्‍ताइसवें हफ्ते में शरीर को और अधिक उष्मांक सेवन की जरूरत होगी। 300 से 350 कैलोरी के साथ शुरूआत करना सुरक्षित होगा। गर्भावस्था के 36वें या 37वें सप्‍ताह तक आपका अधिक वजन वजन बढ़ेगा। इस समय तक कई महिलाओं को लगता है कि वे मोटी लग रही हैं और यह उनके लिए सही नहीं है। लेकिन ध्‍यान रखें कि आप कम कैलोरी के लिए आहार में बदलाव न करें। कम खाने से आप बच्चे को कैलोरी से वंचित कर रही हैं।

वजन के बारे में चिंतित हैं तो डॉक्टर से बात करें। आप एक बच्चे का भी वजन उठा रही है, इसलिए बच्चा पैदा होने के बाद आपका उतना वजन उसी समय कम हो जाएगा। जन्म के पूर्व विटामिन और पोषक तत्वों की खुराक लेना जारी रखे। इस सप्‍ताह में गर्भाश्‍य रिब पिंजरे पर झुकता है। गर्भाश्‍य फेफड़ों को पूर्ण विस्तार करने से रोकता है, जिसके कारण सांस लेने की कुछ समस्याएं होंगी। डॉक्‍टर से बात करे लेकिन आपको चिंता नहीं करनी चाहिए।

आपने तीसरी तिमाही में प्रवेश किया है, तो अब समय से पहले प्रसव की चेतावनी के संकेत के बारे में डॉक्टर से बात करें। गर्मी के महीनों में हाइड्रेशन की कमी कारण ऐसा अधिक होता है। हाइड्रेटेड रहना बहुत जरूरी है, पानी की बोतल हर समय अपने साथ रखे। आपको ज्‍यादा बाथरूम में जाना पडता है, लेकिन आपको हाइड्रेटेड रहने के लिए यह करना हैं।

चेतावनी के संकेतों में योनि क्षेत्र से चमकीला लाल रक्‍त बहना है। यदि आपको योनि क्षेत्र से अचानक पानी के निर्वहन का अनुभव होता है, तो  तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें। श्रोणि क्षेत्र में गंभीर दर्द या पीठ के निचले हिस्से में बहुत ही सुस्त दर्द का अनुभव हो सकता है। कुछ महिलाओं को एक घंटे या उससे अधिक समय तक संकुचन महसूस होता है। यदि आपके हाथ और पैर फूलते हैं तो यह समय से पहले प्रसव का संकेत हो सकता है।

क्या उम्मीद की जाती है

जब आप गर्भावस्था के इस स्तर तक पहुंचती हैं तो बच्चे की हलचल महसूस होने का मतलब है कि सब कुछ ठीक है। यह बात महिलाओं को सहज महसूस कराती हैं और आत्मविश्‍वास बढ़ाती है। आपके पेट के क्षेत्र में वजन ढ़ने के कारण आपको बच्चे की लात महसूस नहीं हो सकती हैं। यदि आपको लगता है कि बच्चा थोड़ा सक्रिय है और आप पहले जैसा महसूस नहीं कर रही हैं, तो तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें। बाद में पछताने से अच्‍छा है सतर्क रहना।

आपको कब्ज, पैरों में ऐंठन, अस्थिबंध दर्द और लगातार बाथरूम जैसी परेशानी हो सकती है। डॉक्‍टर के पास जांच के लिए आपका जारी है। वे आपके रक्‍तचाप, वजन और मूत्र की लगातार जांच करते रहते हैं। तीसरी तिमाही में आपको उच्च रक्‍तचाप या पूर्व एक्लंप्षण नामक हालत से सावधान रहना होगा। इस हालत का मूत्र परीक्षण के माध्यम से निर्धारण किया जा सकता है, यह तब होता है जब मूत्र में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है।

सुझाव

गर्भावस्था का यह चरण महत्वपूर्ण है। आपको शारीरिक और मानसिक दोनों स्थितियों से स्वस्थ रहना है। जन्म के पूर्व के विटामिन लेना और अपने आहार में फल और सब्जियों को जोड़ना जारी रखना है। यदि आपको लगता है कि कुछ ठीक नहीं है, तो डॉक्‍टर से संपर्क करें या स्थानीय आपातकालीन कक्ष में जाएं।

 

 

 

 

Read More Articles On Pregnancy Week In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES286 Votes 65257 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर