सामान्य प्रसव के लिए गर्भावस्था सुझाव

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 23, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बच्चे और मां दोनों के लिए अच्छा होता है सामान्य प्रसव।
  • सामान्य प्रसव के लिए नियमित व्यायाम होता है जरूरी।
  • तैलीय पदार्थों का सेवन बढ़ाता है सिजेरियन की संभावना।
  • पौष्टिक आहार लेना और आराम करना होता है आवश्यक।

गर्भावस्था के नौ महीने के पूरे कार्यकाल के माध्यम से गर्भवती मां विविध अनुभवों को महसूस करती है। हालांकि, गर्भावस्था अंतिम दिन कुछ ज्यादा कष्टकर साबित हो सकते है। अधिकांश महिलाएं अपने बच्चे को एक सामान्य प्रसव के माध्यम से जन्म देना चाहती हैं और प्रसव के लिए किसी प्रकार की सर्जरी आदि से बचना चाहती हैं। इस लेख के माध्यम से हम आपको सामान्य प्रसव के लिए गर्भावस्था के कुछ सुझाव दे रहे हैं।

 सामान्य प्रसव बच्चे और मां दोनों के लिए सबसे अच्छा होता है सामान्य प्रसव से हुआ बच्चे का जन्म। लेकिन कुछ मामलों या किसी आपातकालीन स्थिति  पैदा हो जाने पर सर्जरी का सहारा लिया जाता है। आपातकालीन सीजेरियन में मां और बच्चे दोनों के साथ कुछ जोखिम जुड़े होता है। अधिकांश मामलों में, महिलाएं सामान्य प्रसव के लिए कुछ सरल गर्भावस्था सुझावों का सहारा ले सकती है। ये सामान्य प्रसव के सुझाव गर्भावस्था के महीनों की प्रगति के अनुसार सामान्य प्रसव की प्रक्रिया के लिए शरीर को तैयार करते है।

 

बहुत सी महिलाओं को यह मालूम नहीं होता कि सिजेरियन से प्रसव करा कर वे सामान्य प्रसव के बहुत सारे फायदों से अपने बच्चों को वंचित रखती हैं। इसलिए वे महिलाएं जो मां बनने जा रही हैं, उन्हें गर्भधारण करने से लेकर बच्चे के जन्म तक की प्राकृतिक तरीकों की जानकारियां होनी चाहिए। ताकि वे बिना किसी डर के बिना वे बच्चे को जन्म दे सकती हैं। बच्चे का जन्म कोई रौकिट साइंस नहीं है। बल्कि यह एक लाजवाब आनुभव है, जिसे आप पूरी उम्र याद रख पाती हैं।

सामान्य प्रसव के लिए गर्भावस्था सुझाव

अपने बच्चे के प्रसव के महीनों के दौरान स्वस्थ और फिट बने रहना सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। स्वस्थ आदतों को बनाए रखने के अलावा, आप एक सामान्य प्रसव सुनिश्चित करने के लिए निम्नलिखित उपायों का उपयोग भी कर सकते है:

 

  • सबसे पहले गर्भावस्था के उन्नत चरणों के दौरान आपको अधिक देर तक खड़े रहने से बचना चाहिए। इससे अपकी श्रोणि में नीचे की ओर बच्चे पर स्थायी गुरुत्वीय बल पड़ता है। यह समस्या पैदा कर सकता है। आपको भारी सामान उठाने से भी बचना चाहिए।
  • मसालेदार भोजन या खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए। ये आपके स्वास्थ्य पर एक बुरा प्रभाव डालते हो। लेकिन यदि आप मितली या जलन का अनुभव कर रही हैं तो मसालेदार भोजन से कतई दूर रहें।
  • अनानास, पपीता और आम जैसे फल ब्रोमेलीन से भरपूर होते है, जो गर्भाशय ग्रीवा के लिए अच्छे एंजाइम है। यह सुनिश्चित करें कि आप ताजा फलों का सेवन कर रही हैं। डिब्बाबंद फलों और खाने से बचें।
  • यदि आप  संकुचन/जकड़ाव का अनुभव करती हैं तो रोज आधे घंटे वॉक करें। वॉकिंग आपको प्रसव के समय बच्चे को आराम से बाहर धकेलने में मदद मिलती है। नियमित रूप से भी तेज चलना यह सुनिश्चित करता है कि अपनी मांसपेशियों टोन रहती है।
  • सामान्य प्रसव के लिए नियमित व्यायाम जरूरी होता है। प्रसव के लिए आपको सहनशक्ति और ताकत की आवश्यकता होती है। इसलिए कुछ हल्के हृदय व्यायाम आपको जरूर करने चाहिए। नियमित आधार पर उनका अभ्यास करना आप के आवश्यक सहनशक्ति को बढ़ाता है। प्रसव के दिनों के दौरान किसी भी तरह के शारिरिक व्यायाम को करने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।
  • नियमित रूप से योग करने से शल्य प्रसव को दूर रखने में मदद मिलती है। योग आपके श्वसन और दिल की धड़कन को नियंत्रित करने में मदद करता है। और यह प्रणाली को रिलेक्स करने में भी मदद करता है।


उपर्युक्त सुझावों को अपना कर शल्य चिकित्सा प्रसव से दूर रखा जा सकता है। साथ ही पौष्टिक आहार लेकर व नियमित व्यायाम कर आप बड़े आराम से सामान्य प्रसव की मदद से अपने शिशु को जन्म दे सकती हैं।

 

Read More Articles on Pregnancy in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES325 Votes 56759 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर