गर्भावस्था और सेक्स की समस्या

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 19, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Man with woman

गर्भावस्था का समय न सिर्फ एक मां के लिए बल्कि होने वाले बच्चे के पिता के लिए भी महत्वपूर्ण होता है। पति-पत्नी दोनों ही अपने होने वाले बच्चे के लिए खूब सपने, इच्छाएं और उम्मीदें रखते हैं जिसके लिए वह हर संभव देखभाल करते हैं।

कई बार सेक्स के दौरान गर्भस्थ स्ञी को कई तकलीफें होनी लगती हैं। आइए जानें गर्भावस्था और सेक्स की समस्याओं के बारे में।अधिक सावधानी बरतने के कारण गर्भावस्था में सेक्स की समस्या आ जाती है। पति-पत्नी इस बात को नहीं समय पाते कि गर्भावस्था में आने वाली सेक्स समस्याओं से कैसे निजात पाएं। कई बार गर्भावस्था में सेक्स करना गर्भस्थ शिशु के लिए घातक सिद्व हो सकता है। कई बार सेक्स के दौरान गर्भस्थ स्ञी को कई तकलीफें होनी लगती हैं। आइए विस्तार से जानें गर्भावस्था और सेक्स की समस्याओं के बारे में।

 

[इसे भी पढ़ें : गर्भावस्‍था के विशेष क्षण]

 

  • आमतौर पर सामान्य गर्भावस्था में यौन गतिविधियां और सेक्स किया जा सकता है।
  • महिला जब गर्भवती होती है तो उसके जीवन में कई उतार-चढ़ाव आते है जिससे वह बहुत मूडी हो जाती है। ऐसे में कई बार स्ञी की सेक्स करने की प्रबल इच्छा भी होती है लेकिन सेक्स करने से पहले ये ध्यान में रख लेना भी आवश्यक होता है कि क्या वह सही समय है सेक्स करने का या नहीं।
  • कई बार इंटरकोर्स से बेहतर ओरल सेक्स ही अच्छा होता है। ओरल सेक्स से गर्भावस्था‍ में कोई हानि नहीं पहुंचती ।
  • यदि डॉक्टर ने सेक्स न करने की सलाह दी है तो बिल्कु्ल भी सेक्स नहीं करना चाहिए, नहीं तो इससे गर्भपात होने का खतरा बना रहता है।
  • सेक्स के दौरान कई बार बहुत तकलीफ होने लगती है या चक्कर आने लगते हैं तो सेक्स करने से बचना चाहिए। हालांकि सेक्स के दौरान भ्रूण बिल्कुल सुरक्षित रहता है लेकिन गर्भवती स्ञी को तकलीफ उस समय होने लगती है जब उस पर अधिक दबाव बनाया जाए।


  • गर्भावस्था के दौरान जैसे-जैसे समय बीतता है महिला की परेशानियां बढ़ने लगती है। जिससे सेक्स करने में कई समस्याएं भी आ सकती हैं।
  • गर्भावस्था के दौरान 6 से 7 महीने तक आराम से सेक्स किया जा सकता है। लेकिन डॉक्टर की सलाहानुसार।
  • कई बार गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को सेक्स करने में कोई रूचि नहीं होती। ऐसे में जबरन या अनमने ढ़ग से सेक्स करना हानिकारक हो सकता है।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाएं अक्सर थकावट महसूस करती हैं और पहली बार गर्भवती हुई महिलाएं तो शुरू के सप्ताहों में सेक्स में कोई रूचि नहीं रखती लेकिन धीरे-धीरे समय बीतते ही उनमें पहले जैसे ही सेक्स की प्रबल इच्छा होने लगती है।
  • आमतौर पर डॉक्टर्स गर्भावस्‍था के लक्षणों को देखकर ही सेक्स करने या न करने की सलाह देते हैं लेकिन फिर भी जितना संभव हो सके गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को सेक्स करने से बचना चाहिए। इससे मां और होने वाला बच्चा तो सुरक्षित रहते ही हैं साथ ही मां को अधिक से अधिक आराम भी मिलता हैं।

 

Read More articles on Pregnancy Care in Hindi.

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES49 Votes 54152 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर