नौवें सप्‍ताह में कम हो सकती है सुबह में होने वाली परेशानी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 06, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • इस सप्‍ताह आपको दिल में जलन और अपच महसूस हो सकती है।
  • पीठ के बल सोने की बजाय करवट लेकर सोना रहेगा फायदेमंद।
  • गर्भस्‍थ शिशु की पलकें तैयार हो गई हैं, लेकिन ये बाद में खुलेंगी।
  • पहली बार गर्भवती होने वाली महिलाएं डॉक्‍टर से परामर्श में संकोच न करें।

गर्भावस्था के नौवें सप्‍ताह में, आप सोनोग्राम से बच्‍चे की तस्वीर आराम से देख सकती हैं। इस सप्‍ताह में पहली बार गर्भवती होने वाली महिलाओं को अधिक अपच और दिल में जलन महसूस को सकती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उनका शरीर बढ़ते हुए गर्भस्थ शिशु के साथ समायोजन कर रहा होता है।

Pregnancy Nine Weeks
गर्भावस्था के नौवें सप्ताह में आपका कुछ वजन बढ़ना चाहिए। एक बार में ही सारा वजन बढ़ने के बजाय वजन का धीरे-धीरे बढ़ना अच्छा है। सुबह के समय होने वाली समस्‍या भी इस हफ्ते में कम होगी। आपके मूड में बदलाव आएगा और आपको अधिक फूला हुआ महसूस हो सकता है। इन लक्षणों को कम करने का तरीका है कि आप अपने पक्ष पर सोना शुरू करें। अपने पक्ष पर सोना बेहतर रक्‍त परिसंचरण और पाचन को भी बढ़ावा देगा।


गर्भा में पल रहे शिशु के आकार में बदलाव हो रहा है, ऐसे में आपको पीठ पर सोने में परेशानी होगी। डॉक्‍टर भी आपको करवट लेकर सोने की सलाह देते हैं। यदि आपको इस तरह भी कोई परेशानी होती है तो अपने घुटनों के बीच में तकिया रखने की कोशिश करे। इस लेख के जरिए हम आपको बताते हैं गर्भावस्‍था के नौवें महीने के बारे में विस्‍तार से।

शिशु विकास

आप गर्भावस्‍था के नौवें सप्‍ताह में यानी पहला ट्राइमेस्‍टर जल्‍द ही खत्‍म होने वाला है। भ्रूण अभी आकार में छोटा है। आने वाले दिनों में शिशु का और विकास होगा। गर्भस्‍थ शिशु की पलकें पूरी तरह तैयार हो गई हैं, लेकिन जब आप गर्भावस्था के 28 सप्‍ताह में प्रवेश करेंगी तब आंखें खुलने लगेंगी। अब बच्चे का लिंग निर्धारित किया जा सकता है, लेकिन आपको 20 वें सप्‍ताह तक उसको सोनोग्राम पर साफ तौर पर देखने में कठिनाई हो सकती है।

बच्चा अमनिओटिक थैली के सभोवताल पूरी तरह से गठित एड़ियों, कलाई, कोहनी और घुटने के हलचल के साथ गति से तैर रहा है। अब तक अगर आपने बच्चे के दिल की धड़कन पहले नहीं सुनी है, तो आपकी डॉक्‍टर के साथ अगली मुलाकात में आप इसे और स्पष्‍ट, अच्छे और मजबूत रुप में सुन सकेंगे। यदि आपको बच्‍चे का सिर सामान्‍ से बड़ा लग रहा है तो इसके लिए बिल्कुल चिंता ना करे यह सामान्य है।

आपके शरीर में परिवर्तन

  • गर्भावस्था के नौवें सप्ताह में आपका वजन अधिक बढ़ेगा और आप को और अधिक भूख लगनी शुरू हो जाएगी। वहां कुछ धब्बे दिखाई दे सकते हैं, लेकिन यह सामान्य है। अगर खून गहरे रंग का है, तो चिंता की कोई बात नहीं है, लेकिन अगर खून उज्‍जव लाल है और आपको ऐंठन के साथ दर्द भी महसूस हो रहा है, तो तुरंत चेकअप कराना चाहिए।
  • गर्भवती होने के बाद हार्मोन, एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के स्तर में वृद्धि होती है। इस कारण श्‍लेष्‍म झिल्ली बड़ी होती है और ऐसे में नाक से खून बहना और यह कुछ रुकावट का कारण भी बन सकता है। यदि आपको नाक में रुकावट महसूस होती है, तो इसके लिए एक वपोरायजर का उपयोग रहेगा। डॉक्टर के परामर्श के बिना कोई भी दवा ना लें।
  • आपको पहली तिमाही में सेक्स की इच्छा में कमी लानी होगी। दूसरी तिमाही में आप फिर से पहले की तरह अपने पार्टनर से शारीरिक संबंध बना सकती हैं। विटामिन डी कि मात्रा नियमित रखने के लिए कैल्शियम का सेवन करना जरूरी है। गर्भावस्था के दौरान अपने दंत चिकित्सक से नियमित रूप से मिलकर अपने दंत स्वास्थय पर नजर रखे।

 

क्या उम्मीद होती है

  • जिन महिलाओं की उम्र 35 साल या इससे अधिक है, उनकी गर्भावस्था को उच्च जोखिम युक्‍त गर्भधारणा माना जाता हैं। ऐसे में आपको डॉक्‍टर की निगरानी में ज्‍यादा रहने की जरूरत होती है। यदि आपके परिवार में किसी का आनुवांशिक विकार का इतिहास है, तो उसके बारे में भी डॉक्टर से चर्चा करें।
  • डॉक्टर कुछ आनुवंशिक परीक्षण करेंगे, जिसमें गुणसूत्रों की गिनती शामिल होंगी। यह नौवें सप्‍ताह से बारहवें सप्‍ताह तक कभी भी हो सकती है। इस दौरान आप शिशु के जन्म से पूर्व लिए जाने वाले विटामिन, पर्याप्‍त आराम और संतुलित आहार को लेना जारी रखें।
  • अपने लिए चिकित्सक से व्यायाम का कार्यक्रम निर्धारित करने में मदद लें। सुबह के समय घूमना और तैराकी एक अच्‍छा व्यायाम हैं। आपके मन में बहुत से सवाल आना लाजमी है, इसलिए डॉक्‍टर से कुछ भी पूछते समय संकोच महसूस न करें। पहली बार मां बनने वाली महिला और पिता बनने वाले पुरुष के मन में इसको लेकर काफी सवाल हो सकते हैं।

 

सुझाव / सलाह

  • इस हफ्ते में पहली बार गर्भवती होने वाली महिलाओं को सबसे अच्छी सलाह है, कि एक समय में एक दिन के बारे में सोचे। किसी भी बात के बारे में ज्‍यादा आगे तक न सोचें। आप अभी सिर्फ नौवें सप्‍ताह में हैं और आपको अभी 32 सप्‍ताह से गुजरना है। अगर आप पहले से ही बहुत दूर की सोचना शुरु कर देंगी तो गर्भावस्था एक लंबी और थकानेवाली यात्रा लगेगी।
  • हर कोई कहता है कि आपको गर्भावस्था का आनंद उठाना चाहिए। यदि आपको सुबह की बीमारी, दिल मे जलन और थकान होती है, तब ऐसा करना कठिन हो सकता है। लेकिन अंधेरी रात के बाद सुबह होती है और आप अपनी पहली तिमाही के पूरा करने से ज्‍यादा दूर नहीं हैं।
  • डॉक्टरों से मुलाकात में सोनोग्राम और भ्रूण के दिल की धड़कन को सुनना शामिल होगा। ये वास्तव में गर्भावस्था का सबसे अच्छा भाग है। बच्चे को शुरूवात से जन्म के दिन तक विकसित होते देखना वास्तव में अच्‍छा लगता है।
  • आप जब बच्चे के दिल की धड़कन सुनते है तो किसी भी तरह का संदेह दूर हो जाएगा, लेकिन आपको अभी भी अपनी ओर से स्वस्थ रहना, आराम करना और बेहतर आहार लेना जरूरी है।
  • आपको पूरी तरह से अपने खाने की आदतों को बदलने की जरुरत नहीं है, पर कुछ समायोजन करना पड़ेगा, अधिक फल और सब्जियों अपने भोजन में शामिल करें। इससे आपको अच्छा लगेगा और अधिक ऊर्जा मिलेगी।

 

 

 

 

Read More Article On Pregnancy Weeks in Hindi


Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES87 Votes 55891 Views 2 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर