गर्भावस्था के दौरान व्यायाम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 20, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • गर्भावस्था में किस प्रकार के व्यायाम फायदेमंद हो सकते हैं इनका जानकारी जरूरी है।
  • इस दौरन टहलना मां व बच्चे दोनों के लिए अच्छा हो सकता है।
  • व्यायाम के जरिए प्रसव के समय होने वाली समस्या से बचा जा सकता है।
  • कमर दर्द दूर करने के लिए व्यायाम एक अच्छा विकल्प है।

गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करना बहुत लाभदायक है। यह न सिर्फ कई खतरनाक बीमारियों से बचाव करता है। बल्कि आपको तरोताज़ा भी रखता हैं। गर्भावस्था के दौरान फिट रहने के लिए आपको पता होना चाहिए कि गर्भावस्था के दौरान कौन-कौन से व्यायाम करने चाहिए, गर्भावस्था सावधानी और सुझाव क्या-क्या हैं । गर्भावस्था के दौरान किन-किन व्यायामों से असुविधा हो सकती है। साथ ही गर्भावस्था में फिट रहने के लिए क्या करें। व्यायाम से पहले किन बातों का ध्यान रखें। आइए जानें गर्भावस्था के दौरान व्यायाम के बारे में कुछ और बातें।

 

 

  • गर्भावस्था के दौरान किसी भी व्यायाम को करने से पहले डॉक्टर्स की सलाह लेना अत्यंत आवश्यक है। डॉक्टर से नियमित संपर्क में रहकर ही आपको व्या‍याम करना चाहिए।
  • फिट रहने के लिए गर्भावस्था की शुरूआत में टहलना लाभदायक है। लेकिन बहुत ज्यादा न टहलें।
  • सुबह, दोपहर और शाम को काम के बाद शरीर को पूरी तरह ढीला छोड़कर आराम करने की मुद्रा में रहना भी जरूरी है। आराम के लिए व्यायाम भी जरूरी है, इससे दूसरे काम करने के लिए आपमें चुस्ती-फुर्ती बनी रहती है।
  • गर्भावस्था  में व्यायाम से कमर दर्द को दूर किया जा सकता है। इसके लिए कमर से संबंधित उचित व्यायाम करने चाहिए।
  • गर्भावस्था में योगा और प्रणायाम करना सबसे अच्छा विकल्प होता है। लेकिन कठिन व्यायाम बिलकुल न करें, बल्कि हल्की-फुल्की योगा करना ही बेहतर है।
  • अत्यधिक थकावट होने पर व्यायाम बिलकुल ना करें। लेकिन आलसपन और थकान से बचने के लिए व्यायाम और आराम का संतुलन होना भी जरूरी है।
  • बॉस्‍‍केटबॉल, वॉलीबॉल जैसे उछलने-कूदने वाले खेलों से गर्भावस्था के दौरान दूर ही रहें। इन खेलों को खेलने से गर्भावस्था में असुविधा हो सकती है।

 

  • गर्भावस्था में पेट और छाती की मांसपेशियां फैलती है लेकिन उन्हें व्यायाम से ठीक किया जा सकता है।
  • व्यायाम के द्वारा शारीरिक संतुलन बनाए रखना जरूरी है। ऐसे में बैठने,चलने और लेटने की सही मुद्राएं होनी जरूरी है। ताकि सामान्य तौर पर टहलते हुए या कोई काम करते हुए भी गर्भावस्था में पैरों, पेट और कमर पर या फिर गर्भ पर बुरा असर न पड़ें।

व्या़याम आपको गर्भावस्था के बाद होने वाले शारीरिक बदलाव और ढीलेपन से बचाएगा और आपको स्वस्थ भी रखेगा।

 

Read More Articles on Pregnancy Fitness In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES26 Votes 50169 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर