आठवें हफ्ते में बनी रहती है गर्भपात की आशंका

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 06, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • स्‍तनों में नरमाई और दर्द का अहसास हो सकता है।
  • संतुलित आहार और व्‍यायाम करना है बहुत जरूरी।
  • रात को सोने से एक घंटा पहले भोजन करना फायदेमंद।
  • गर्भावस्‍था से संबंधित किताब पढ़ें और इसके बारे में जानें।

आप गर्भावस्था के दूसरे माह के अंत में पहुंच गई हैं। आप पहली तिमाही का आधे से ज्‍यादा समय पार कर चुकी हैं। इस समय आपको सुबह के समय होने वाली परेशानी ज्‍यादा हो रही होगी।

eighth week of pregnancy
अभी आपको देखकर यह पता नहीं लगाया जा सकता कि आप मां बनने वाली हैं। इस समय आपके वजन में थोड़ी बढ़ोतरी हो सकती है। गर्भस्‍थ शिशु का आकार बढ़ने पर आपका वजन और बढ़ेगा। इस समय गर्भपात की आशंका बनी रहती है। यदि आप पहली बार गर्भवती हुई हैं तो आपका यह यह जानना जरूरी है कि समय आगे बढ़ने के साथ गर्भपात होने की आशंका भी कम होती जाएगी।

भ्रूण इस समय अंगूर के आकार का है, अब भ्रूण के विकास में तेजी आएगी। आपको अपच और दिल में जलन का अहसास हो सकता है। अपच से राहत के लिए बिना डॉक्‍टरी सलाह के किसी भी दवा का सेवन न करे। इस समय कुछ महिलाओं को सुबह के समय होने वाली परेशानी ज्‍यादा होती है। ज्‍यादा परेशानी होने पर आपको डॉक्‍टर से मशविरा करना चाहिए। आमतौर पर सुबह को होने वाली बीमारी पहली तिमाही में ज्‍यादा होती है।

शिशु विकास

गर्भावस्था के आठवें सप्‍ताह तक, बच्चे के लिंग का निर्धारण हो जाता है। इसे सोनोग्राम में स्पष्‍ट रुप से देखने के लिए चार से पांच महीने का समय लग जाता है। इस समय बच्चे के चेहरे और जबड़े की रेखा का गठन हो रहा हैं।  बच्चे के दांत और चेहरे की मांसपेशियां भी विकसित होनी शुरू हो गई हैं। हालांकि भ्रूण अभी काफी छोटा है, और उसका वजन  3 ग्राम तक होगा।

आने वाले सप्‍ताहों में आप भ्रूण के विकास में ज्‍यादा परिवर्तन देख सकेंगी। हर बार जब आप सोनोग्राम करेंगी तो आप पहले के सोनोग्राम से अब तक के सोनोग्राम को देखकर अपने बच्चे में हुई प्रगति पर एक नजर डाल सकती हैं। समय गुजरने के साथ यह परिवर्तन और भी अधिक आश्‍चर्यजनक रूप में होता रहेगा।

शरीर में परिवर्तन

आप कुछ बाहरी शारीरिक और साथ ही और अधिक आंतरिक परिवर्तन देख सकती हैं। आठवें हफ्ते में रक्‍त की मात्रा बढ़ गई है। यह 40 फीसदी से 50 फीसदी तक बढ़ गई है। शारीरिक परिवर्तनों की बात करें तो अभी आपके स्तनों में नरमाई और दर्द हो सकता है। आपका शरीर स्तनपान के लिए तैयारी कर रहा है। स्तन क्षेत्र के आसपास काली नसें भी दिखाई देंगी, इसका कारण रक्‍त प्रवाह में वृद्धि है। आपको सहायक ब्रा या आरामदायक ब्रा लेनी चाहिए। यह स्तन में होने वाली परेशानी से राहत देगी और आपको आराम मिलेगा।

यदि आपके पेट के निचले हिस्से में दर्द हो रहा है, तो चिंता की बात नहीं है। दर्द का कारण बढ़ता हुआ गर्भाश्‍य है। बच्चा बढ़ने के साथ आपको उस क्षेत्र में अधिक दबाव महसूस होना शुरू होगा। गर्भाशय में कसाव या संकुचन का अनुभव भी हो सकता है। पैरों में दर्द महसूस हो सकता है। गर्भावस्था से संबंधित किताब पढ़कर आप आने वाले महीनों में आपको क्‍या परेशानी हो सकती हैं, इसकी जानकारी मिल सकती है।

क्या उम्मीद की जाती है

यदि आपका वजन कम है तो गर्भावस्‍था के दौरान यह बढ़ना शुरू हो जाएगा। शरीर ने आंतरिक परिवर्तन के साथ समायोजन किया है और सुबह की बीमारी कम होना शुरू हो जाएगी। आप डॉक्टरों से अपनी अगली मुलाकात के लिए तैयार हो रही है, जिसमें आपकी शारीरिक जांच होगी। आपके रक्‍तचाप और वजन के बारे में पता चलेगा। डॉक्टर आपका यूरिन टेस्‍ट करके आपकी स्‍वस्‍थ्‍यता का पता लगाएंगे। आपको एचआईवी टेस्ट के रूप में कुछ परीक्षण के माध्यम से भी जाना होगा। यह परीक्षण कानूनी रुप से जरूरी है।

सुझाव

आपका शरीर बच्चे के साथ समायोजित हो जाना चाहिए। इस समय आपको कुछ लक्षण कम होते हुए और कुछ में और वृद्धि होती हुई दिखाई देगी। स्वस्थ रहने के लिए आपको एक योजना का पालन करना चाहिए। इसमें व्यायाम के साथ ही संतुलित आहार आपके लिए बहुत फायदेमंद है। आप हल्‍का भोजन दिन में कई बार खा सकती हैं, लेकिन ध्‍यान रखें आपको एक बार में पेट भरकर नहीं खाना है। रात को भोजन सोने से कम से कम एक घंटे पहले करें। भोजन के बाद तुरंत सोने से मितली और अपच की समस्‍या हो सकती है।

दिन के दौरान भारी भोजन खाने और रात के लिए हल्का भोजन खाने की कोशिश करें। स्वस्थ बने रहना आपके और बच्चे के लिए सबसे जरूरी है। शारीरिक रूप से स्वस्थ रहना सिर्फ शुरुआत है, अगर आपको गर्भावस्था के बारे में कोई भी चिंता या विचार है, तो अपने साथी से उसकी चर्चा करना अच्छा रहेगा। खुलकर चर्चा करने से आपको अच्‍छा लगेगा।

 

 

 

 

Read More Articles On Pregnancy Week In Hindi


Write a Review
Is it Helpful Article?YES206 Votes 56904 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • geetsen3205 May 2011

    Post your comm pregnancy related tips in link, It may be good for you too, http://www.besttipszone.com ent

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर