प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट के जरिए की जाती है गर्भावस्‍था की जांच

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 26, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट के जरिए प्रेग्नेंसी टेस्ट किया जा सकता है।
  • इस किट का प्रयोग बहुत आसानी से घर पर किया जा सकता है।
  • यह किट यूरीन में एचसीजी नामक हार्मोन की पहचान करता है।
  • प्रेग्नेंसी टेस्ट करने से पहले किसी भी प्रकार का पेय पदार्थ न लें।

प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट के जरिए प्रेग्नेंसी टेस्ट किया जा सकता है। प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट का इस्तेमाल बहुत ही आसान है और यह मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध होता है। यह किट महिलाओं के यूरीन में एचसीजी नामक हार्मोन की पहचान करता है, जिससे महिला का प्रेगनेंसी टेस्ट पॉजिटिव आता है।

Pregnancy Detection Kitइस किट के जरिए आप आसानी से घर पर ही गर्भावस्‍था का परीक्षण कर सकती हैं। इस किट का प्रयोग सुबह करें, इस दौरान मूत्र में एचसीजी हार्मोन की मात्रा अधिक पायी जाती है और परिणाम पॉजिटिव आने की ज्‍यादा संभावना होती है। यदि इस जांच में आपका रिजल्‍ट निगेटिव आये तो घबराने की बजाय चिकित्‍सक से संपर्क करें। आइए हम आपको इस किट के बारे में विस्‍तार से जानकारी दे रहे हैं।

 

एचसीजी हार्मोन

एचसीजी नामक हार्मोन शरीर में तभी विकसित होते हैं जब गर्भ में भ्रूण  का प्रत्यारोपण होता है। यह क्रिया आम तौर पर निषेचन के एक या दो हफ्ते बाद होती है। जल्दी गर्भावधि विकास के दौरान एचसीजी स्तर में निरंतर वृद्धि होना प्रेगनेंसी का लक्षण है।महिला के गर्भवती होने पर उसकेयूरीन व खून में एचसीजी की मात्रा पाई जाती है जिसके जरिए पता चलता है कि वह गर्भवती है।

 

 

डॉक्टर के पास जरूर जाएं

प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट से घर पर महिलाएं अपनी गर्भवती होने की जांच कर सकती हैं लेकिन प्रेग्नेंसी को सुनिश्चित करने के लिए महिलाओं को डॉक्टर के पास जरूर जाना चाहिए। साथ ही डॉक्टर के पास जाने का एक फायदा और भी है कि वह आपकी जांच करके यह भी बताएगा कि आपका शरीर बच्चे को जन्म देने के लिए तैयार है या नहीं या कोई अन्य समस्या तो नहीं है।

 

डिटेक्शन किट का प्रयोग

प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट को इस्तेमाल करने से पहले उसके प्रयोग के बारे जानना बहुत जरूरी है। स्ट्रीप के पैकेट पर लिखी जानकारी को ध्यान से पढ़कर वैसा ही करें। आपकी छोटी सी गलती से परिणाम गलत हो सकता है। इस किट से आपको परिणाम एक मिनट में पता चल जाता है।

 

निगेटिव रिजल्‍ट के कारण

  • पीरियड्स मिस होने के कुछ समय बाद ही टेस्ट करने से यह निगेटिव हो सकता है, क्योंकि हो सकता है कि शरीर में एचसीजी हार्मोन का निर्माण शुरु नहीं हुआ हो।
  • इंफर्टिलिटी के लिए ली जाने वाली दवाओं से यह टेस्ट गलत हो सकता है।
  • एचसीजी का स्तर कम होने पर भी इसके परिणाम गलत आ सकते हैं।

 

कब करें गर्भावस्था की जांच

  • प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट का प्रयोग दिन भर में कभी भी किया जा सकता है, लेकिन सुबह के समय टेस्ट करना अच्छा रहता है इसे परिणामों के गलत होने की संभावना कम होती है।
  • प्रेग्नेंसी टेस्ट के पहले कोई भी पेय पदार्थ नहीं लेना चाहिए इससे एचसीजी के स्तर असर हो सकता है।

 

 

Read More Articles on Pregnancy Test in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES17 Votes 49829 Views 2 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • mukesh08 Oct 2012

    Thank,s you

  • mohan13 Aug 2012

    meri wife ko 15 july ko koperiod aaya. 19 july se 11 august tk roj sex karne ke bad 13 august ko Pregnancy Test Kit se test kiya to negative result aaya . kya ye test shi tha? pregnancy test kit se kb test kiya jana chahiye?

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर