मोटापे के लिए प्रदूषण भी है जिम्‍मेदार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 04, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

मोटापे के लिए कई कारण जिम्‍मेदार होते हैं, इसके लिए सबसे अधिक दोष खानपान और आलस को दिया जाता है। लेकिन हाल ही में हुए शोध की मानें तो मोटापे के लिए जिम्‍मेदार प्रमुख कारणों में प्रदूषण भी है।

weight Gain in Hindiस्पेन के ग्रेनाडा विश्वविद्यालय द्वारा किये गये अध्ययन के मुताबिक वातावरण में मौजूद कुछ प्रदूषक तत्व मोटापा बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं।

इस अध्ययन के मुख्य लेखक जुआन प्रेडो एरेबोला ने बताया कि, वैसे व्यक्ति जिनके शरीर में स्थायी जैविक प्रदूषक (पीओपी) की मात्रा अधिक पाई गई, वे मोटापे से अधिक ग्रस्त थे और उनके शरीर में कोलेस्ट्रॉल व ट्राइग्लिसराइड की मात्रा भी अधिक मिली।

ये कारक दिल की बीमारियों के विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने 300 महिलाओं व पुरुषों के वसा ऊतकों (एडिपोज टिश्यू) में जमा प्रदूषक तत्वों का विश्लेषण किया।

उल्लेखनीय है कि पीओपी बिना नष्ट हुए वातावरण में दशकों तक मौजूद रह सकता है। एरेबोला ने यह भी बताया कि, पीओपी के संपर्क में मानव मूलत: आहार के माध्यम से आते हैं।

पीओपी धीमे-धीमे शरीर के वसा उतकों में जमा होता जाता है। जटिल सांख्यिकीय पद्धतियों की मदद से वैज्ञानिकों ने इस बात की पुष्टि की है कि शरीर में जमा पीओपी का संबंध मोटापे तथा रक्त में कोलेस्ट्रॉल तथा ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर से है। यह अध्ययन पत्रिका 'एनवायरन्मेंटल पॉल्यूशन' में प्रकाशित हुआ है।

 

Image source - getty images

Read More Health News in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2 Votes 810 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर