शादी के बाद भी कितना जरूरी होता है पर्सनल स्पेस, जानें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 31, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • हर रिश्ते में निजी स्वतंत्रता का सम्मान करना चाहिए।
  • पति-पत्नी हमेशा एक ही छत के नीचे रहते हैं।
  • पर्सनल स्पेस पश्चिमी संस्कृति की देन है।

केवल शादी ही नहीं, बल्कि हर रिश्ते में हमें एक-दूसरे की निजी स्वतंत्रता का सम्मान करना चाहिए। पति-पत्नी हमेशा एक ही छत के नीचे रहते हैं। इसलिए दांपत्य जीवन को तनावमुक्त बनाएं रखने के लिए अपने पार्टनर की पसंद-नापसंद, शौक और उसकी निजता का सम्मान करना बेहद जरूरी है। 

क्या है पश्चिम की अवधारणा

पर्सनल स्पेस की अवधारणा पूरी तरह से पश्चिमी संस्कृति की देन है। हमारे लिए इसके बजाय परिवार के साथ बिताए जाने वाले क्वॉलिटी टाइम की ज्यादा अहमियत है। आजकल कामकाजी दंपतियों के पास घर-परिवार के लिए जरा भी वक्त नहीं होता। ऐसे में ऑफिस के बाद उनके लिए अपने घर और बच्चों पर ध्यान देना ज्यादा जरूरी हो जाता है। क्रिएटिव फील्ड से जुड़े लोगों के लिए पर्सनल स्पेस की अहमियत हो सकती है, लेकिन आम लोगों के लिए यह जरूरी नहीं है। पर्सनल स्पेस की अवधारणा को अपनाने से हमारे समाज में व्यक्तिवादी और आत्मकेंद्रित सोच को बढ़ावा मिलेगा।

इसे भी पढ़ें : अपनी गर्लफ्रेंड से 5 तरह के झूठ बोलते हैं पुरूष, जानें क्‍यों

पर्सनल स्पेस की जरूरत कई बातों से तय होती है। मसलन, पति-पत्नी का व्यक्तित्व, उम्र, परिवार में बच्चों की संख्या और उम्र आदि कई ऐसी बातें हैं, जो उनके रिश्ते में पर्सनल स्पेस की सीमा निर्धारित करती हैं। आमतौर पर इंट्रोवर्ट पर्सनैलिटी वाले लोग एकांत पसंद करते हैं, वहीं एक्सट्रोवर्ट लोगों को अपने पार्टनर के साथ वक्त बिताना अच्छा लगता है। इसी तरह जिन लोगों में अपनी रुचियों को लेकर प्रतिबद्धता होती है, वे किसी भी हाल में थोड़ा वक्त अकेले अपने साथ बिताना पसंद करते हैं।

इसे भी पढ़ें : शादी के बंधन को मजबूत रखने का 10 बेस्‍ट फॉर्मूला

विशेष राय

वहीं, कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जिनके लिए पर्सनल स्पेस की कोई अहमियत नहीं होती। जिन दंपत्तियों पर कई जिम्मेदारियां होती हैं, उन्हें पर्सनल स्पेस के बजाय आपसी सहयोग की ज्यादा जरूरत होती है। जहां तक पाठिकाओं के विचारों का सवाल है तो भारती जी में शुरू से ही अपनी रुचियों को लेकर कमिटमेंट की भावना रही होगी। इसीलिए उनके पति ने इसका खयाल रखा। हर दंपती के लिए पर्सनल स्पेस की जरूरत उसकी प्राथमिकताओं पर निर्भर करती है। वैसे, खुशहाल दांपत्य के लिए सहयोग और पर्सनल स्पेस के बीच संतुलन रखना बेहद जरूरी है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Relationship

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1028 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर