ओवरएक्टिव ब्‍लैडर का उपचार और उसके साथ जीना

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 05, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ओवरएक्टिव ब्‍लैडर को मूत्र असंयम भी कहते हैं।
  • इसके कारण आप कहीं भी हो सकते हैं शर्मिंदा।
  • सर्जरी और चोट के कारण हो सकती है समस्‍या।
  • कीगल और पेल्विक फ्लोर एक्‍सरसाइज कीजिए।

ओवरएक्टिव ब्‍लैडर यानी अतिसक्रिया मूत्राशय बहुत ही खतरनाक स्थिति है, इसे मूत्र असंयम भी कहते हैं। इसके कारण आप कई प्रकार की सामाजिक गतिविधियों में हिस्‍सा नहीं ले सकते हैं। क्‍योंकि इसके कारण अक्‍सर आपको डिनर, पार्टी आदि को छोड़ना पड़ सकता है, इसके साथ सबसे बड़ी समस्‍या यह है कि इसके कारण आप शर्मिंदा भी हो सकते हैं।

हालांकि इस समस्‍या का उपचार संभव है। चिकित्‍सा के जरिए आप इस समस्‍या से निजात पा सकते हैं। आप अपनी जीवनशैली में भी बदलाव लाकर इसकी शिकायत को कम कर सकते हैं। इस लेख में ओवरएक्टिव मूत्राशय की समस्‍या और इसके उपचार के बारे में विस्‍तार से जानिए।

Overactive Bladder Treating and Living With it

ओवएक्टिव ब्‍लैडर के कारण

यह दिमाग, रीढ़ की हड्डी की चोटों, मूत्राशय की मांसपेशियों, श्रोणि आदि से जुड़ा है। मूत्र असंयम के लिए इनमें से संबंधित कोई समस्‍या जिम्‍मेदार हो सकती है। हालांकि यह एक प्रकार का लक्षण है कोई बीमारी नहीं। उम्र बढ़ना, पैदा‍इशी दोष, पैल्विक सर्जरी, रीढ़ की हड्डी की चोटें, संक्रमण, गर्भावस्‍था आदि के कारण मांसपेशियों में बदलाव होता है और यही ओवरएक्टिव ब्‍लैडर का कारण बन सकता है।

 


निदान कैसे होता है

इस समस्‍या से ग्रस्‍त लोगों को उपचार के लिए चिकित्‍सक पूरे शरीर के निरीक्षण का निर्देश दे सकता है। इसके निदान के लिए चिकित्‍सक मूत्राशय और तंत्रिका तंत्र की जांच भी कर सकता है। इसके लिए आपके मूत्र का नमूना लेकर उसकी जांच की जायेगी। आपके मूत्राशय की क्षमता जानने के लिए एक्‍सरे, मूत्र का विश्‍लेषण, और अन्‍य जांच की जा सकती है। इसके लिए आप यूरोलॉजिस्‍ट से संपर्क कीजिए।

 

उपचार के तरीके

ओवरएक्टिव मूत्राशय की समस्‍या के निदान के बाच चिकित्‍सक इसके उपचार के लिए व्‍यायाम या फिर ब्‍लैडर की सर्जरी की सलाह दे सकता है। अगर मूत्राशय की जांच के बाद सर्जरी की संभावना बनती है तो सर्जरी किया जाता है। अगर दवाओं से इसका उपचार हो सकता है तो चिकत्‍सक दवाओं के सेवन की सलाह देते हैं।

 

Overactive Bladder Treatment
व्‍यायाम से उपचार

व्‍यायाम के जरिये भी मूत्र असंयम की स्थिति को नियंत्रित की जा सकती है। कीगल व्‍यायाम और पेल्विक फ्लोर व्‍यायाम की सलाह चिकित्‍सक भी देते हैं। अगर आप नियमि‍त इन व्‍यायामों को करते हैं तो काफी हद तक इस समस्‍या पर नियंत्रण पा सकते हैं और स्थिति को काबू में रख सकते हैं।

 

कैसे जियें ओवरएक्टिव ब्‍लडैडर के साथ

इस समस्‍या के साथ जीना बहुत मुश्किल होता है, क्‍योंकि आपको खुद नहीं पता कि किस जगह पर यह समस्‍या उठ खड़ी हो। कई बार तो आपके न जानते हुए भी यूरीन लीक हो सकता है। इसके साथ आप ज्‍यादा मस्‍ती नहीं कर सकते, पार्टी में नहीं जा सकते, दोस्‍तों के साथ पिकनिक पर नहीं जा सकते। इस समस्‍या से निपटने के लिए जरूरी है आप शराब और कैफीन का अधिक सेवन न करें। अगर बहुत जरूरी न हो तो बाहर जाने से बचें।


ओवरएक्टिव ब्‍लैडर की समस्‍या पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक होता है। इसलिए अगर आपको यह समस्‍या है तो इसके उपचार के लिए चिकित्‍सक से संपर्क करें।

 

Read More Articles on OverActive Bladder in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES2 Votes 1286 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर