गर्भ निरोधक दवाओं से स्तन कैंसर का खतरा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 03, 2014
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

risk of contreceptive pillsगर्भ निरोधक दवाओं का नियमित रूप से सेवन महिलाओं की सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञन संस्थान (एम्स) के शोध का दावा है कि जो महिलाएं नियमित तौर पर इन दवाओं का सेवन करती हैं, उनमें ब्रेस्ट कैंसर का खतरा ज्यादा होता है।

शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन के आधार पर दावा किया है कि जो महिलाएं नियमित तौर पर गर्भ निरोधक दवाएं लेती हैं उन्हें दूसरों की अपेक्षा ब्रेस्ट कैंसर का रिस्क 9.5 गुना अधिक होता है।

शोध के अनुसार, महिलाओं में बढ़ते ब्रेस्ट कैंसर के मामलों के पीछे गर्भ निरोधक गोलियों के अलावा, जल्दी मासिक चक्र का शुरू होना, देर से शादियां और कम समय तक ब्रेस्ट फीडिंग जैसे कारण भी माने गए हैं।

शोध के दौरान 640 महिलाओं का परीक्षण किया गया जिसमें 320 महिलाएं ब्रेस्ट कैंसर की मरीज हैं। शोधकर्ता डॉ. उमेश कपिल के अनुसार, ''शोध में हमने पाया कि लंबे समय तक गर्भ निरोधक गोलियों के सेवन से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का रिस्क सबसे अधिक बढ़ा जो 11.9 प्रतिशत है।''

उनका मानना है कि इन दवाओं में मौजूद एस्ट्रोजन व प्रोजेस्टोरोन को लंबे समय तक लेने से शरीर में हार्मोनल असंतुलन होता है जिसकी वजह से ब्रेस्ट कैंसर की आशंका बढ़ जाती है।

Source journal of cancer

Read More Health News In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1 Vote 1117 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर