एक चम्मच चीनी आपका गुस्सा शांत करती है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 03, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Sugar spoonमेरी पॉपिंस यह पहले से जानता था, उसकी प्रशंसा में वह कहता था कि ‘चीनी से भरी एक चम्मच दवाओँ को दूर भगाती है’ बच्चों की बदमिजाजी से आए गुस्से को संभालती है। 

अमेरिकी शोधकर्ताओं ने पाया है कि एक नींबू चीनी के पानी का गिलास या चॉकलेट बार कम से कम समय थोड़े समय के लिए आक्रामकता और गुस्से को कम कर सकते हैं। यह तब नही होता है जब कोई व्यक्ति शुगर सब्सिट्यूट का सेवन करता है – चीनी का जिस तरह से मस्तिष्क कार्यों के साथ एक रिश्ता है। स्वयं पर काफी नियंत्रण करने पर आक्रामक आवेगों पर करते है जोकि काफी ऊर्जा का उपभोग करने के लिए माना जाता है। ग्लूकोज़ के रूप में शुगर(चीनी) मस्तिष्क को ऊर्जा प्रदान करती है, थोड़े समय के लिए ऊर्जा गुस्से को शांत करने के लिए आवश्यक है।

रक्त शर्करा का कम स्तर और मस्तिष्क में चीनी की इसी कम मात्रा की स्थिति को हाइपोग्लेसिमिया के नाम से जाना जाता है जो मूड परिवर्तन, चिड़चिड़ेपन और गुस्से के साथ जुड़ा हुआ है। चूंकि मस्तिष्क ईंधन की जरूरत है (ग्लूकोज) यह स्ट्रेस हार्मोन (एड्रेनालाईन) के साथ-साथ अस्थिर रहता है, परिणामस्वरूप, भावनात्मक लक्षण जैसे कि घबराहट, पैल्पिटेशन्ज़, बुरे सपने, अत्यधिक आक्रान्त, भय, क्रोध, हिंसा और यहां तक कि ऐंठन के रूप में उठते है।

 

काफी शोधो ने आक्रामकता से संबंधित आनुवंशिकी की भूमिका पर नज़र डाली है। इनमें से उल्लेखनीय हैं X और Y असंतुलन के साथ, जैसेकि XXY  और टेस्टोस्टेरोन स्तर आक्रामकता के साथ बिना किसी भी संबंध के, के साथ पुरुषों में अध्ययन किया।

 

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES3 Votes 13147 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर