मोटापा बड़ी समस्या

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 23, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मोटापे की समस्या से बचने के लिए खान-पान पर दें ध्यान।
  • व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।
  • मोटापा कई गंभीर बीमारियों की वजह हो सकता है।
  • जंकफूड से दूर रहना सेहत के लिए अच्छा।

मोटापा किसी को भी अपनी चपेट में ले सकता है, फिर वह चाहे बच्चे  ही क्यों न हो। तमाम रिपोर्ट्स बताती हैं कि बच्चे मोटापे से खासतौर पर प्रभावित हो रहे हैं। जिसके कारण बच्चों में  सेहत से जुड़ी तमाम समस्याएं भी बढ़ रही हैं। मोटापा आज के समय में एक बड़ी समस्या बन गया है।

weight gainआधुनिक जीवनशैली का सबसे बड़ा दुष्प्रभाव मोटापा ही है। मोटापे से कई बीमारियां हो जाती हैं। मोटापे से बचने के लिए खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए क्योंकि मोटापे से बचने का यही सबसे आसान उपाय है।

 

  • मोटापे की समस्या दुनियाभर में फैल रही है। भारत में भी मोटापा एक भंयकर समस्या के रूप में उभर रहा है। बीते सालों के आंकड़ों पर गौर करें तो दिल्ली् में 28 फीसदी वयस्क पुरुष और 47 फीसदी वयस्क महिलाएं मोटापे की समस्या से ग्रस्त हैं। ये आंकडा़ अब और अधिक बढ़ गया है।
  • कुछ समय पहले हुए आंकड़ों के मुताबिक, विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक अनुमान के अनुसार दुनिया भर में पांच साल से कम आयु के करीब दो करोड़ 20 लाख बच्चे  अपने वजन से अधिक पाए गए,जो कि विश्व के भविष्य के लिए खतरा है।
  • मोटापे के कारण बच्चों और लोगों में आत्मविश्वास में कमी, चिंता, डिप्रेशन, ईटिंग डिस्‍ऑर्डर, अकेलापन, डायबिटीज, पॉलिसिस्टिक ओवरी, हाइपोगोनैडिस्म, हाइपरटेंशन, हार्ट डिजीज, स्ट्रोक, स्लीप एपेनिया, अस्थमा, एक्सरसाइज इंटोल्रेंस,गैस्ट्रो इंटेस्टाइनल बीमारी, कब्ज, लीवर पर फैट्स जमना फ्लैट फीट इत्यादि बीमारियां प्रमुख रूप से उभर कर आ रही हैं।
  • मोटापे का ठोस कारण कैलोरी में बढ़ोत्तरी, तैलीय खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन, हर समय कुछ न कुछ खाते रहना और शारीरिक निष्क्रियता है, ऐसे में इन चीजों में कमी करना आवश्यक है।
  • हालाँकि पुरानी आदतों की वजह से मोटापे पर क़ाबू पाना उतना आसान नहीं है। मोटापे से निजात पाने के लिए मज़बूत इच्छाशक्ति की ज़रूरत है। ऐसे में मोटापे से निपटने के लिए भोजन और व्यायाम संबंधी आदतों में बड़े बदलाव की ज़रूरत है।
  • डब्ल्यूएचओ का मानना है कि समाज में तेजी से आ रहे बदलाव के कारण बचपन में मोटापा तेजी से बढ़ रहा है। बच्चों में मोटापा बढने का सीधा संबंध खानपान में स्वास्थ्यवर्धक भोजन की कमी और शारीरिक गतिविधियों के स्तर में कमी आना है लेकिन इसका प्रभाव अन्य गतिविधियों पर भी पड़ रहा है।
  • इन आंकड़ों और तथ्यों से साबित हो चुका है कि मोटापा सचमुच देश के लिए और समाज के लिए आने वाले समय में बड़ा खतरा बन सकता है। इसको रोकने के लिए लोगों को अपनी जीवनशैली में परिवर्तन कर व्यायाम और शारीरिक सक्रियता को अपने जीवन में शामिल करना बेहद जरूरी है।


Read more articles on weight loss in hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES18 Votes 44731 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर