नट्स होते हैं फायदेमंद

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 04, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • नट्स ओमेगा-3 फैटी एसिड के प्रमुख स्रोत है।
  • शरीर के सा‍थ-साथ मस्तिष्‍क को भी तारोताजा रखते हैं।
  • मूंगफली आयरन और कैल्शियम से भरपूर होती है।
  • उम्र के असर को कम करने में मददगार होते हैं नट्स।

नट्स पौष्टिक होने के साथ-साथ प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फाइबर के अच्छे स्त्रोत हैं। इसमें विटमिन ई, फोलिक एसिड, बी- कॉम्प्लेक्स, मैग्नेशियम, कॉपर जिंक आदि की भी मात्रा मौजूद रहती है।

यदि नट्स को सुपर फूड्स कहा जाए तो गलत न होगा। नट्स महत्वपूर्ण पोषक तत्व ओमेगा-3 फैटी एसिड के प्रमुख स्रोत होते हैं, और रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करते हैं। नट्स खाने से दिल के रोग आधे से भी कम हो जाते हैं। नट्स से मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड और सुरक्षात्मक फ्लेवोनाइडस का मिश्रण होता है, जो दिल के लिए वरदान है। नट्स में मौजूद फाइटोकेमिकल कैंसर को रोकने में मददगार होते हैं। थोड़े से नट्स खाने से ही आपको आवश्यक पोषक तत्व और कैलोरी मिल जाती है जो आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होती है।

woman eating nuts

आहार विशेषज्ञों के अनुसार नट्स में पाएं जाने वाले एंटी-ऑक्‍सीडेंट, विटामिन और कई तरह के पोषक तत्‍व शरीर के सा‍थ-साथ मस्तिष्‍क को भी तारोताजा रखते हैं। इसके सेवन से आपका मूड अच्‍छा रहता है। उम्र के असर को कम करता है ओर बढ़ती उम्र में भी आपको चुस्‍त-दुरुस्‍त रखता हैं। साथ ही नट्स में पाया जाने वाला प्रोटीन विभिन्न अंगों, मांसपेशियों, हार्मोस और विभिन्न एंजाइमों के निर्माण में सहायक होता है। आइए हम आपको बताते हैं कौन सा नट्स किन पोषक तत्‍वों से भरपूर होता है।

बादाम

बादाम को अगर नट्स का राजा कहा जाये तो गलत नहीं होगा। बादाम में मौजूद कई तरह के एंटी-ऑक्‍सीडेंट बालों और त्‍वचा के लिए सौंदर्यवर्धन होते हैं। इसमें मौजूद सैचुरेटेड फैट बुरे कॉलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम कर अच्‍छे कॉलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को बढ़ता है। बादाम में अमीनो एसिड होते हैं, जो ऐसे हॉर्मोन रिलीज करते हैं, जिससे भूख नियंत्रित होती है। इसके अलावा इसमें मौजूद कैल्शियम और विटामिन डी हडि्डयों को मजबूत बनाता हैं। साथ ही बादाम में पोटेशियम की अधिक मात्रा और सोडियम कम मात्रा होती है। इस कारण इसके सेवन से रक्त का संचार ठीक रहता है।

अखरोट

अखरोट में फाइबर, विटामिन बी, मैग्नीशियम और एंटी-ऑक्सीडेंट्‌स अधिक मात्रा में होते हैं। यह सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। अखरोट में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड अस्थमा, अर्थराइटिस, त्वचा की समस्याओं, एक्जीमा और सोरियासिस जैसी बीमारियों से सुरक्षा देता है। साथ ही अखरोट प्रोटीन का अच्‍छा स्रोत होता है। बहुत से शोधों के अनुसार, बादाम में विटामिन ई की अधिक मात्रा में मौजूदगी दिमाग के लिए बहुत लाभकारी होती है।

चिल्‍गोजा

चिल्‍गोजा जिसे पाइन नट्स भी कहते है। इसमें विटामिन 'बी' और 'सी' भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह पिनोलैनिक एसिड का एकमात्र प्राकृतिक स्रोत हैं। 10 ग्राम चिल्‍गोजे में 0.6 मिलीग्राम आयरन होता हैं। आप इसे कच्‍चा या भुना हुआ खा सकते हैं। यह हीमोग्लोबिन के स्तर में सुधार करने में मदद करता है। यह भूख को बढ़ाने में सहायक होते हैं। यह मोनोसैचुरेटेड फैट से भरपूर होते हैं और इनमें हृदय रोगों से बचाव के तमाम तत्व मौजूद होते हैं। साथ ही इसमें कैलोरी की मात्रा सबसे ज्यादा होती है। इसके सेवन से नेत्र ज्योति बढ़ती है और यह खून भी साफ रखता है।  

 

healthy nuts

मूंगफली

मूंगफली एक ऐसा नट है जो सस्ता और पौष्टिकता से भरपूर होता है। यह आयरन और कैल्शियम का भंडार होता है। इसके अलावा इसमें फाइबर भी होता है। जब मूंगफली को मूंगफली मक्‍खन के रूप में सेवन किया जाता है तो इसके दो बड़े चम्‍मच में 0.6 मिलीग्राम आयरन शामिल होता है। इसमें पोटेशियम, मैग्नीशियम और विटामिन बी भी शामिल होता हैं। डायटिंग पर रहने वालों और कम खाने वालों के लिए यह प्रोटीन का भंडार होता है।

 

पिस्ता

आयरन से भरपूर होने के कारण पिस्‍ते को सबसे अच्‍छा ड्राई फूट्स माना जाता है और यह भारत में आसानी से उपलब्‍ध भी हो जाता है। पिस्‍ते में कई प्रकार के विटामिन और मिनरल मौजूद होते हैं। इसमें वह सब कुछ है, जो एक हेल्दी डाइट में शामिल किया जा सकता है। 28 ग्राम पिस्‍ते में लगभग 1.1 मिलीग्राम आयरन होता है। हाल ही हुए एक रिसर्च के अनुसार, नियमित रूप से पिस्ता खाने से शरीर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा नियंत्रित होने के साथ ब्लड शुगर का लेवल घटता है।

काजू

काजू में आयरन, फास्फोरस, सेलेनियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, फाइबर और जिंक पाया जाता हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट और प्रोटीन का भी अच्छा स्रोत हैं। काजू स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता हैं। काजू में मौजूद मैग्नीशियम रक्तचाप को कम करने और दिल के दौरे को रोकने में, एंटीऑक्सीडेंट हृदय रोग और कैंसर को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा काजू में कॉपर की अधिक मात्रा शरीर की हड्डियों और जोड़ों को लचीला बनाने में मदद करता हैं।
 

जब भी आपको स्नैक्स खाने की इच्छा हो तो उसमें थोड़े से नट्स मिला लें। इससे आपको एक अलग स्‍वाद मिलने के साथ  ही आपकी सेहत भी सही रहेगी।

 

image courtesy : getty images

 

Read More Article on Diet and Nutrition in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES7 Votes 14658 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर