बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए पोषक तत्व

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 16, 2014
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बच्चों को स्वादिष्ट और स्वस्थ भोजन दें।
  • बच्चों को जंक फूड , चॉकलेट, केक और बिस्किट से दूर रखें।
  • हर बच्चे की शारीरिक जरूरतें अलग होती हैं।
  • बच्चों का मानसिक विकास उनके आहार पर निर्भर होता है।

छोटे बच्चे खाने को लेकर काफी परेशान करते हैं। हर मां-बाप की यह समस्या है कि उनका बच्चा कुछ खाता नहीं है। बच्चे को सिर्फ खाना खिलाने और उसकी शारीरिक व मानसिक जरूरत के हिसाब से उसके आहार का चुनाव करने में काफी अंतर होता है। बच्चे की जिंदगी के शुरुआती वर्षों में पौष्टिक आहार का खास महत्व है। जरा सी लापरवाही बच्चे के लिए भारी पड़ सकती है।

healthy foodकिसी भी बच्चे के दिमागी विकास, दांत, हड्डियां मजबूत तथा सुदृढ़ मांसपेशियां तभी बन सकती हैं जब उसे नियमित और पौष्टिक आहार मिलता रहे। केवल विटामिन की गोलियां या टॉनिक पिलाने से किसी भी बच्चे को स्वस्थ नहीं रखा जा सकता। समय पर दी गई अच्छी खुराक उसके अच्छे स्वास्थ्य का भविष्य निर्धारित करती है। बच्चे का आहार तय करते समय बहुत सावधानी की जरूरत होती है।


एक से चार साल तक के बच्चों को भरपूर कैलोरी और पौष्टिक तत्व की जरूरत होती है क्योंकि उसका शारीरिक व मानसिक विकास उसी पर निर्भर होता है। बच्चों की भूख बड़ी जल्दी शांत हो जाती है उनकी खाने-पीने की आदतें उसके मूड पर निर्भर होती हैं। इसलिए जरूरी है कि उसे जल्दी-जल्दी भोजन दिया जाए और ऐसा बनाया जाए, जिसमें भरपूर पौष्टिक तत्व भी शामिल रहें।

आहार के जरिए पर्याप्त सूक्ष्म पोषक तत्व प्राप्त करना कोई कठिन कार्य नहीं है। बच्चे को संतुलित आहार देने की ओर ध्यान दें। सूखे मेवे, साबुत अनाज, हरी पत्तेदार सब्जियां, विभिन्न रंगों के फल व सब्जियां (काले अंगूर, बेर, चुंकदर, आलूबुखारे आदि)। खाने में तरह-तरह की चीजों को शामिल करने से सभी प्रकार के पोषक तत्व प्राप्त हो जाते हैं। आहार में प्राकृतिक रुप से रंगों की जितनी विविधता होगी पोषण के लिहाज से उतना ही अच्छा होगा। आइए जानें बच्चों को किस तरह के आहार देने चाहिए।

सोडियम है जरूरी

बच्चे तरल पदार्थ का सेवन बहुत कम करते हैं इसलिए उन्हें सोडियम का सेवन जरूर करना चाहिए। शरीर में तरल पदार्थ का संतुलन बनाए रखने के लिए यह काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा रक्त का पी.एच. लेवल नियमित करने के लिए महत्वपूर्ण है।

मैंग्नीज मजबूत करे हड्डियां

बच्चों की हड्डियों को मजबूत और उसके निर्माण के लिए बहुत महत्वपूर्ण तत्व है। इसके अलावा प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट के चयापचय में सहायक। होता है।

मैग्नीशियम हृदय के लिए फायदेमंद

हृदय दर (रिदम) को नियमित करने के लिए महत्वपूर्ण। यह रक्त में मौजूद शर्करा (ब्लड ग्लुकोज़) को ऊर्जा में परिवर्तित करने में सहायक होता है। साथ ही कैल्शियम और विटामिन-सी जैसे सूक्ष्म पोषक तत्वों के चयापचय के लिए आवश्यक है।

लौह तत्व बढ़ाए रक्त

हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं और लिंफोसाइट्स के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण है।

आयोडीन बचए थायराइड से

थायरॉइड ग्रंथि के कार्य और विकास के लिए अत्यावश्यक होता है। फैट के चयापचय, यह ऊर्जा के उत्पादन और शरीर के विकास के लिए सहायक है।

क्लोराइड भी दें

यह कोशिकाओं में पानी और इलेक्ट्रोलाइट के स्तर को नियमित करने के साथ ही कोशिकाओं का पी.एच. लेवल बनाए रखने में सहायक है।

 

बच्चों को शारीरिक और मानसिक रुप से स्वस्थ रखने के लिए माता-पिता को उनके आहार के बारे में जानकारी होना जरूरी है। ऊपर दी गई जानकारी की मदद से आप बच्चे को स्वस्थ रख सकते हैं।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES19 Votes 2067 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर