रजोनिवृति के लिए घरेलू नुस्खें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 04, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • महिलाओं को खाने में फलों व हरी सब्जियों का शामिल करना चाहिए।
  • व्यायाम व योग के जरिए रजोनिवृति में होने वाली समस्या से बच सकते हैं।
  • मिर्च मसाले वाले भोजन का सेवन ना करें।
  • चुकंदर और गाजर का जूस ज्यादा फायदेमंद हो सकता है।

रजोनिवृति, यह अधिकतर उन महिलाओं को होता है जिनकी उम्र 45 से 50 वर्ष होती है। इसमें महिलाओं को मासिकधर्म आना बंद हो जाता है। इसे मनोपॉज भी कहते है। यदि किसी महिला को 6 महीने तक मासिकधर्म न आए तो मान लेना चाहिए कि उसे रजोनिवृति हो गई है।

rajonivriti ke liye gharelu nuskhe

रजोनिवृति होने से कई महिलाओं को ऐसा भी लगने लगता है कि रजोनिवृति होने के बाद उनके बुढापे का आरम्भ और सौंदर्य का अंत होना शुरू हो गया है लेकिन ये सभी प्रकार की शंकाएं गलत है। अगर अपने खान-पान तथा दिनचर्या पर ध्यान दिया जाए तो उनका स्वास्‍थ्‍य और सौंदर्य न केवल बना रहता है बल्कि कभी-कभी तो वह पहले से भी ज्यादा अच्छी और आकर्षक लगने लगती है। आइए हम आप को बताते है कुछ ऐसे ही घरेलू उपायो के बारें में। लेकिन सबसे पहले हम इसके लक्षणों के बारे में जान लेते है।

लक्षण

  • जब रजोनिवृति होती है तो उस महिला को गर्मी अधिक लगने लगती है तथा उसके शरीर से पसीना निकलने लगता है।
  • महिला की नींद पूरी नही आती है तथा उसे डिप्रेशन हो जाता है।
  • दिल की धड़कन बढ़ जाती है और उसके हाथ-पैरों पर चीटियां सी रेंगने जैसा अनुभव होता है।
  • महिला की अत:स्रावी ग्रंथियां प्रभावित हो जाती है जिस कारण से उसकी आवाज भारी हो जाती है।
  • रजोनिवृति महिला मोटी होने लगती है।
  • महिला के बाल झड़ने लगते है, त्वचा रूखी हो जाती है और उसे थकावट भी होने लगती है।

 

रजोनिवृति के लिए घरेलू नुस्खे

  • रजोनिवृति होने पर महिला को विटामिन 'सी', 'डी', 'ई' और कैल्शियम युक्त भोजन करना चाहिए जिसमें फल, अंकुरित अन्न, सब्जियां, ड्राईफ्रूट अधिक मात्रा में हो।
  • रजोनिवृति के दौरान फलों का रस अधिक मात्रा में लेना चाहिए। चुकन्दर और गाजर का रस भी बहुत अधिकलाभदायक होता है।
  • रजोनिवृति महिला को दूध में तिल मिलाकर प्रतिदिन पीने से बहुत अधिक लाभ्‍ा मिलता है।

  • रजोनिवृति महिला को दूषित भोजन, मैदा, मिर्च-मसाले तथा चीनी से बनी चीजों का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए।
  • एक गिलास गाय के दूध में एक चम्मच गाजर के बीज डालकर और उबालकर पीने से रजोनिवृति में फायदा होता है।
  • यदि रजोनिवृति महिला के पेट में कब्ज बन रही हो तो उसे अपने पेट पर मिट्टी की गीली पट्टी का लेप करना चाहिए और इसके बाद एनिमा क्रिया करके अपने पेट को साफ करना चाहिए।
  • सुबह के समय में महिलाओं को सैर के लिए जाना चाहिए तथा कई प्रकार के व्यायाम भी करने चाहिए जैसे तैरना आदि।
  • रजोनिवृति होने पर मुश्किलें न आए उसके लिए कई प्रकार के योगासन तथा योगक्रियाएं है जिनको करने से यह ठीक हो जाता है। जैसे
  • प्राणायाम, योगमुद्रासन, ध्यान तथा योगनिद्रा आदि।


Read More Article on Womens-Health in hindi.

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES22 Votes 13688 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर