इसबगोल के हो सकते हैं ये साइड-इफेक्‍ट

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 25, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • इसबगोल के सेहत के लिए बहुत से दुष्‍प्रभाव हैं।
  • मिनरल के अवशोषण को प्रभावित करता है।
  • इसबगोल दवा को सतह पर ही सोख लेता है।
  • पेट में सूजन की समस्‍या पैदा कर सकता है।

इसबगोल सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है। भारत में गैस्ट्रोइंटेस्टिनल समस्याओं जैसे कब्‍ज, डायरिया और एसिडिटी से राहत पाने के लिए व्‍यापक रूप से इसका इस्‍तेमाल  किया जाता है। यह प्रभावी रूप से वजन कम करने और दिल को स्‍वस्‍थ रखने के लिए जाना जाता है। इसबगोल कई प्रकार के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों से जुड़ा है इसलिए इसे इस्‍तेमाल करने के दौरान हम इस तथ्‍य को नजरअंदाज कर देते हैं कि जरूरत से ज्‍यादा या अनुचित तरीके से इसबगोल के इस्‍तेमाल से कई प्रकार के दुष्‍प्रभाव भी हो सकते हैं।
isabgol in hindi

मिनरल के अवशोषण को करता है प्रभावित

एक अध्‍ययन के अनुसार 25 ग्राम इसबगोल भूसी के इस्‍तेमाल से जिंक, कॉपर और मैंगनीज जैसे मिनरल के ट्रेंस से मल उत्‍सर्जन बढ़ जाता है। साथ ही मिनरल का पता लगाने वाले सीरम का स्‍तर काफी गिर जाता है। यह ट्रेंस मिनरल अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य को बनाये रखने के लिए समान रूप से महत्‍वपूर्ण होते हैं। जिंक इम्‍यूनिटी और एंजाइम की गतिविधि को बढ़ावा देने के साथ घावों को भरने में मदद करता है। मैंगनीज हड्डियों और संयोजी ऊतक की टूट-फूट को रोकता है। साथ ही यह कैल्शियम के अवशोषण, रक्‍त शर्करा के विनियमन और वसा और कार्बोंहाइड्रेट चयापचय में मदद करता है। जबकि कॉपर लाल रक्‍त कोशिकाओं के उत्‍पादन और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए महत्‍वपूर्ण है।


दवाओं के अवशोषण में करता है हस्तक्षेप

इसबगोल दवा को सतह पर ही सोख लेता है ऐसा गैस्ट्रोइंटेस्टिनल पथ या छोटी आंत में रक्‍त के अवशोषण को कम करने के कारण होता है। नतीजतन, दवा का प्रभाव कम हो जाता है। यह दावा एस्पिरिन के लिए सच है, लेकिन यह माना जाता है इसबगोल अन्‍य दवाओं के अवशोषण में हस्‍तक्षेप करता है। हालांकि, इस दावे के समर्थन में कोई सबूत नहीं है।


पेट में सूजन की समस्‍या

इसबगोल फाइबर से भरपूर होता है, इसलिए कब्‍ज और अन्‍य गैस्ट्रोइंटेस्टिनल समस्‍याओं से ग्रस्‍त लोगों को इसबगोल लेने की सलाह दी जाती है। लेकिन फाइबर का बहुत ज्‍यादा सेवन गैस के कारण पेट में सूजन की समस्‍या पैदा कर सकता है। ऐसा पेट की गैस को गैस्ट्रोइंटेस्टिनल पथ से मलाशय में पारित होने में समस्‍या होने के कारण होता है।

ध्यान रखें इसका अत्यधिक सेवन न करें। साथ ही हमेशा इसका सेवन पानी में भिगोकर नियम से करें। गर्भावस्था में इसे लेने से पहले डॉक्टर से राय लेना न भूलें।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty
Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES58 Votes 17442 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर