सभी को पता होनी चाहिए एचआईवी/एड्स संबंधित खतरनाक जटिलताएं

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 28, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एड्स की समस्‍या कमजोर इम्‍यूनिटी से होती है।
  • जीनस कैंडिडा में होने वाली यीस्‍ट संक्रमण है।
  • सेप्टीसीमिया बैक्टीरिया साल्मोनेला से होता है।
  • कापोसी सारकोमा रक्त वाहिनियों के कैंसर है।

एचआईवी/एड्स की समस्‍या कमजोर इम्‍यूनिटी का परिणाम है और यह बीमारी शरीर को अतिसंवेदनशील बना देती है। समय के साथ, वायरस शरीर की सीडी 4 कोशिकाओं पर हमला करता है, यह वायरस स्‍वस्‍थ प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। लेकिन मरीज नियमित रूप से कई प्रकार के सक्रिय कदम उठाकर विकासशील आम खतरनाक बीमारियों की संभावना को कम कर सकते हैं।

HIV in hindi

एचआईवी / एड्स से संबंधित अवसरवादी बीमारियों क्या हैं?

अवसरवादी बीमारियां (OIS) कमजोर इम्‍यूनिटी के कारण होती है। हालांकि इन बीमारियां का एक मजबूत इम्‍यूनिटी वाले प्रणाली पर कोई महत्‍वपूर्ण प्रभाव नहीं पड़ता, लेकिन एचआईवी / एड्स के मरीजों के लिए विनाशकारी प्रभाव हो सकता है। आमतौर पर OIS एचआईवी / एड्स रोगियों में मौजूद सीडी-4 कॉउट का 200 से नीचे जाने की स्थिति को एड्स के रूप में परिभाषित किया जाता है। सामान्‍य तौर पर, एचआईवी रोगी सीडी-4 कॉउट 500 से ऊपर होने पर अवसरवादी बीमारियां नहीं होती है।

एचआईवी संक्रमण से संबंधित जटिलताएं

एचआईवी / एड्स से ग्रस्‍त लोगों में विभिन्‍न प्रकार के वायरस और रोगाणुओं जैसे बैक्टीरिया, कवक, और परजीवी की विस्‍तृत श्रृंखला से संक्रमित होना का जोखिम बहुत ज्‍यादा होता है। सीडीसी के अनुसार, एचआईवी / एड्स से ग्रस्‍त लोगों में सबसे आम अवसरवादी संक्रमण इस प्रकार है।


एचआईवी/एड्स संबंधित जटिलताएं

  • कैंडिडिआसिस, जीनस कैंडिडा में होने वाली यीस्‍ट संक्रमण है, और गंभीर मामलों में ये घेघा, श्वासनली, ब्रांकाई, और फेफड़ों के ऊतकों को प्रभावित कर सकता है।
  • कोक्‍कीडियोडोमाईकासिस कोक्‍कीडियोडस द्वारा होने वाला संक्रमण है, जो कभी-कभी निमोनिया का कारण भी बन सकता है।
  • क्रीप्टोकॉकसिस फंगस क्रीप्टोकॉकस नोफॉर्मन्स से होने वाला संक्रमण है, यह त्‍वचा ह‍ड्डियों और यूरीन मार्ग में फैलने से पहले फेफड़ों (निमोनिया का कारण बन) और ब्रेन
  • (सूजन का कारण), को प्रभावित करता है।
  • क्रिप्टोस्पोरिडियोसिस, प्रोटोजोआ परजीवी क्रिप्टोस्पोरिडियम के कारण होने वाला रोग है। यह संक्रमण और डायरिया रोग का कारण बनता है।  
  • हरपीज सिंप्लेक्स वायरस संक्रमण है, जो ब्रोंकाइटिस, निमोनिया, और ग्रासनलीशोथ की समस्‍या का कारण बनता है।
  • हिस्टोप्लास्मोसिस, फंगस हिस्‍टोप्‍लाज्‍मा कॅप्सुलटूम से होने वाला लंग इंफेक्‍शन है, जो फ्लू और निमोनिया के लक्षणों की तरह प्रगतिशील हिस्टोप्लास्मोसिस का कारण बनता है, यह बीमारी अन्‍य अंगों को भी प्रभावित कर सकती है।
  • सेप्टीसीमिया (रक्त संक्रमण) बैक्टीरिया साल्मोनेला से होता है।

HIV in hindi

मस्तिष्क संबंधी जटिलताएं

वायरस से संबंधित सूजन सीएनएस के रूप में, एचआईवी / एड्स जैसे हाथ पैरों में भ्रम की स्थिति, विस्मृति, व्यवहार के मुद्दों, सिर दर्द, कमजोरी, और अकड़ना के रूप में विभिन्न लक्षणों का अनुभव हो सकता है। वायरस और इलाज के लिए दवाओं का इस्‍तेमाल दर्द, दाद, रीढ़ की हड्डी की समस्या, चाल संबंधी समस्‍या, निगलने में परेशानी, चिंता, डिप्रेशन, बुखार, दृष्टि खोना और कोमा जैसी समस्‍याएं हो सकती है।

संक्रमण के लिए असंबंधित अन्य तंत्रिका संबंधी जटिलताओं जैसे एड्स डिमेंशिया जटिलता, एचआईवी से जुड़ा डिमेंशिया, सीएनएस लिम्फोमा, न्यूरोपैथीस (तंत्रिका संबंधी विकार), वसुओलर मयेलोपथी (एक रीढ़ की हड्डी की हालत), और विभिन्न मनोवैज्ञानिक विकार भी शमिल है।


अन्य जटिलताएं

  • एचआईवी / एड्स से पीड़ि‍त लोगों को
  • लिम्फोमा, या लिम्फ नोड्स के कैंसर
  • कापोसी सारकोमा रक्त वाहिनियों के कैंसर का एक प्रकार (HHV-8)
  • वेस्टिंगसिंड्रोम, जिसमें व्‍यक्ति का वजन ज्यादातर मांसपेशियों से कम से कम शरीर के वजन से 10 प्रतिशत तक कम हो जाता है। साथ ही दस्‍त कमजोरी, बुखार की समस्‍या बनी रहती है।      
  • किडनी की बीमारी, या एचआईवी जुड़े नेफ्रोपैथी भी शामिल है।

 

एचआईवी/एड्स के साथ स्वस्थ बने रहने के उपाय

एचआईवी/एड्स की चपेट में आने का मतलब जीवन का अंत नहीं होता है, बल्कि इसकी चपेट में आने के बाद अगर दवाओं का सही तरीके से सेवन किया जाये और अपनी दिनचर्या को सुधारा जाये तो इसकी जटिलताओं को कम किया जा सकता है। एचआईवी/एड्स ग्रस्‍त मरीजों को दवाओं का सही तरीके से सेवन करना चाहिए, सभी सुझावों का पालन करना चाहिए, अधिक एक्‍सपोजर से बचना चाहिए, खानपान पर ध्‍यान देना चाहिए, आदि।


इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty
Read More Articles on HIV/AIDS in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES73 Votes 18827 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर