आपके मातृत्‍व सुख को बढ़ाएंगी ये एप्‍स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 02, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बच्‍चे के जन्‍म के बाद बच्‍चे की देखभाल करना होता है मुश्किल।
  • मैजिक स्‍लीप, बेबी ट्रैकर, बेबी शूशर, माई बेबी टूडे एप्‍प करें प्रयोग।
  • ब्रेस्‍टफीडिंग, बच्‍चे की मालिश, डायपर आदि की जानकारी है इसमें।
  • बच्‍चे का रोने और सोने के साथ टीकाकारण की जानकारी भी पायें। 

प्रसव के बाद मां की जिम्‍मेदारी बढ़ती है, हर समय बच्‍चे को लेकर मां चिंतित रहती है। जो पहली बार मां बनीं हैं उनमें चिंता अधिक होती है, कि बच्‍चे की देखभाल कैसे करें, कैसे बच्‍चे को खिलायें, बच्‍चे को कितना सुलायें आदि सवाल मां के जेहन में हमेशा उठते हैं जिसके लिए उसे सलाह की जरूरत पड़ती है।

लेकिन पहली बार मां बन रही महिलाओं के हजारों सवालों का जवाब मोबाइल एप्‍स के जरिये आसानी से मिल सकता है। बच्‍चे की ब्रेस्‍टफीडिंग से लेकर बच्‍चे की मालिश, खानपान और सोने के समय जैसे सवालों का हल आप आसानी से मोबाइल एप्‍प में पा सकती हैं। पहली बार मां बनने वाली महिलाओं के लिए ये एप्‍प वरदान की तरह हैं। इन एप्‍प के बारे में अधिक जानिए।

Apps for New Mothers

 

मैजिक स्‍लीप

बच्‍चे के जन्‍म के बाद सबसे अधिक समस्‍या होती है बच्‍चे की नींद को लेकर, बच्‍चे को कितनी देर सुलाया जाये जैसे सवाल आपको परेशान करते हैं। इस एप्‍प के जरिये आप अपने बच्‍चे की नींद के बारे में जान सकते हैं। यह बच्‍चे को सुलाने के तरीकों की भी जानकारी देता है।


बेबी ट्रैकर : डायपर

बच्‍चों का डायपर बदलना बहुत मुश्किल काम है, लेकिन इसे समय पर बदलना बहुत जरूरी है नहीं तो बच्‍चे को डायपर रैशेज हो सकते हैं। यह एप्‍प आपके बच्‍चे के डायपर का खयाल रखता है, यानी इस एप्‍प में यह भी जानकारी दी गई है कि दूध पीने के बाद बच्‍चा कितनी देर बाद डायपर गीला करता है। अपने इन्‍हीं गुणों के कारण यह एप्‍प डायपर बदलने की प्रक्रिया को आसान बनाता है।

 

बेबी शूशर

बच्‍चे की देखभाल करते हुए आप अक्‍सर परेशान हो जाती हैं, क्‍योंकि आपको पता नहीं कि बच्‍चा कब सोये और कब उठ जाये। लेकिन यह एप्‍प बच्‍चे के सोने के समय और उठने के बाद के समय के बारे में दिखाता है। यानी बच्‍चा सोने के बाद जब उसका उठने का समय होगा तो यह एप्‍प आवाज करेगा जिससे आप जान जायेंगी कि आपके बच्‍चे के उठने का समय हो गया है।

 

बेबी पैक एंड गो

बच्‍चे के साथ बाहर जाते वक्‍त अक्‍सर आप भूल जाती हैं कि क्‍या साथ ले जायें और क्‍या नहीं। अक्‍सर आप इस जगह का निर्धारण भी नहीं कर पाती किं बच्‍चे के साथ जाने के लिए मुफीद जगह कौन सी है। लेकिन यह एप्‍प आपकी इस समस्‍या का समाधान है, बाहर जाते वक्‍त क्‍या जरूरी है इसकी जानकारी इस एप्‍प में है साथ ही आपके आसपास की लोकेशन की जानकारी भी यह आपको बताता है।

Must Have Apps for New Mothers

वेब एमडी बेबी

इस एप्‍प में बच्‍चे की देखभाल के लिए 400 से ज्‍यादा लेख हैं, 600 टिप्‍स और 70 वीडियो हैं जो बच्‍चे के जन्‍म से लेकर देखभाल तक की सारी जानकारी आसानी से पा सकते हैं।

 

माई बेबी टूडे

प्रसव के बाद से लेकर प्रत्‍येक दिन की जानकारी इस एप्‍प में मौजूद है, यानी पहले दिन से आप अपने बच्‍चे की देखभाल कैसे करें उसकी जानकारी इस एप्‍प में पा सकते हैं। बच्‍चों को चिक्त्सिक के पास कब ले जायें, उनको टीका कब-कब लगवायें आदि की जानकारी इसमें है।

 

बेबी ट्रैकर - नर्सिंग

इसमें बच्‍चे की ब्रेस्‍टफीडिंग यानी स्‍तनपान की पूरी जानकारी दी गई है। नई मां के लिए स्‍तनपान कराना बहुत मुश्किल होता है, लेकिन इस एप्‍प के जरिये आप स्‍तनपान कराने के सही तरीके की जानकारी पा सकती हैं।


तकनीक के इस प्रयोग ने मां और बच्‍चे के प्‍यार को और बढ़या है, इन एप्‍स के जरिये आप आसानी से अपने बच्‍चे की जरूरतों को समझ सकती हैं जिसे वो बोलकर नहीं बता सकता।

 

Read More Articles on Apps in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES10 Votes 1258 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर