क्योंकि तब होती है जुड़वा या एकाधिक गर्भावस्था

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 26, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • जुड़वा या तो एक जैसे या फिर भिन्न -भिन्न प्रकृति के हो सकते हैं।
  • लड़का-लड़की जुड़वां, लड़की-लड़की जुड़वां या लड़का-लड़का जुड़वां होते हैं।
  • जुड़वा या एकाधिक गर्भावस्था में वजन और थकान अधिक बढ़ने लगती है।
  • कुछ महिलाओं को खुद ब खुद दो बच्चों के होने का अहसास होने लगता है।

एक ही गर्भावस्था के दौरान पैदा होने वाली दो संतानों को जुड़वां कहा जाता है। जुड़वां संतानें आमतौर पर एक जैसे हो सकते हैं। इसका मतलब है कि वे एक ही युग्मनज से पनपे हैं जो विभाजित होता जाता है और दो भ्रूणों का रूप ले लेता है।

judva ya ekaadhik garbhavastha ke lakshan एक ही गर्भावस्था के दौरान पैदा होने वाली दो संतानों को जुड़वां कहा जाता है। जुड़वां संतानें आमतौर पर एक जैसे हो सकते हैं। इसका मतलब है कि वे एक ही युग्मनज से पनपे हैं जो विभाजित होता जाता है और दो भ्रूणों का रूप ले लेता है।

दरअसल एक भ्रूण जो गर्भ में अकेले विकसित होता है उसको सिंगलटन कहा जाता है, जबकी एक साथ पैदा हुई एकाधिक संतानों में से एक को मल्टीपल अर्थात  एकाधिक कहा जाता है। सैद्धांतिक रूप से ऐसा संभव है कि दो सिंगलटन एक समान हो सकते हैं अगर मां और पिता के दोनों गेमेट के सभी 23 गुणसूत्र एक जन्म से अगले जन्म तक एकदम ठीक मिलते हों। जबकि प्राकृतिक परिस्थितियों में ऐसा होना मुमकिन नहीं है। विरले ही कभी एक नियंत्रित संसर्ग संभव हो सकता है।

 

एकाधिक गर्भावस्था

  • ऐसा जरूरी नहीं है कि जुड़वा बच्चों को जन्म देना माताओं के स्वास्थ्य के लिए अच्छा हो, बल्कि बात यह है कि स्वस्थ माताओं में ही जुड़वा बच्चों को जन्म देने की संभावनाएं अधिक होती हैं। आमतौर पर जुड़वा बच्चों का जन्म माता के स्वास्थ्य की ओर इशारा करता है। साथ ही जुड़वा बच्चों की मां के स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव भी पड़ता है।
  • एक ही गर्भावस्था के दौरान पैदा होने वाली दो संतानों को जुड़वा कहते हैं और इसे एकाधिक गर्भावस्था के नाम से भी जाना जाता है।
  • आमतौर पर जुड़वा या तो एक जैसे हो सकते हैं या फिर भिन्न -भिन्न प्रकृति के भी हो सकते हैं क्योंकि वे दो अलग अलग अंडो में दो विभिन्न शुक्राणुओं द्वारा निषेचित होते हैं।
  • जुड़वा बच्चों में तीन चीजें आमतौर पर सामान्य दिखाई देती हैं जैसे- लड़का-लड़की जुड़वां होते हैं। लड़की-लड़की जुड़वां या लड़का-लड़का जुड़वां होते हैं।

 


एकाधिक गर्भावस्था के लक्षण

  • आमतौर पर जुड़वा या दो भ्रूण के लक्षण भी सामान्य की तरह ही होते हैं। हालांकि कुछ महीनों बाद जुड़वा का अहसास होने लगता है।
  • जुड़वा गर्भावस्था के लक्षणों में अधिक उच्च स्तर एचसीजी की आवश्यकता पड़ती है।
  • गर्भवती महिला जहां एक ही अंडे को सोनोग्राफी में देख पाती है वही कुछ महीनों बाद वह दो भ्रूण को आसानी से देख लेती है।
  • कुछ महिलाओं को खुद ब खुद दो बच्चों के होने का अहसास होने लगता है। सामान्यतः जुड़वा होने पर वजन अधिक बढ़ जाता है।
  • एकाधिक गर्भावस्था में वजन तेजी से बढ़ने लगता है।
  • जुड़वा एकाधिक गर्भावस्था के दौरान सुबह के दौरान अधिक थकान का अनुभव होती है।
  • गर्भावस्था के सामान्य लक्षण रहते हुए भी एकाधिक गर्भावस्था के जोखिम बढ़ जाते हैं।

 

एकाधिक गर्भावस्था और सामान्य गर्भावस्था में बहुत अधिक अंतर नहीं होता लेकिन वजन और थकान अधिक बढ़ने लगती है। बहरहाल, गर्भावस्था कैसी भी हो देखभाल और सावधानी बेहद जरूरी है।

 

Read more articles on Pregnancy Symptoms in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES124 Votes 74429 Views 2 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर