ताकि बारिश की बूंदे न छीन लें आपकी आंखों की खूबसूरती

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 09, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आंखों को खास देखभाल की जरूरत होती है बरसात के मौसम में।
  • बरसात के दौरान वायरल संक्रमण का शिकार बन सकती हैं आंखें।
  • किसी दूसरे व्यक्ति का रूमाल या तौलिया इस्तेमाल करने से बचें।
  • साथ ही अपने भोजन में विटामिन 'ए' 'सी' और 'ई' को शामिल करें।

tips for eye care in monsoonआंखें हमारे शरीर का सबसे नाजुक और संवेदनशील अंग है। इसलिए इनकी देखभाल में सबसे ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए, और बरसात के मौसम में तो आंखों को खास देखभाल की जरूरत होती ही है।

 

मानसून के आते ही आंखों में कई तरह की परेशानियों का खतरा बढ़ जाता है। कंजक्टिवाइटिस, स्टाई और खुश्क आंखों जैसी समस्याएं इस मौसम में ही अधिक होती हैं। बरसात के दौरान आंखें वायरल संक्रमण का शिकार बन सकती हैं। मानसून में आंखों की विशेष देखभाल के लिए कुछ आसान से टिप्स अपनाएं और अपनी आंखों को स्वस्थ रखें। आइए जाने ऐसे ही कुछ टिप्‍स के बारे में।


मानसून में आंखों की देखभाल के टिप्स


साफ सफाई का ध्‍यान

आंखों को साफ रखें, आंखों को हमेशा साफ और ठंडे पानी से धोएं। दिन में दो-तीन बार आंखों को जरूर धोएं। बार-बार अपनी आंखों को हाथ से न छुएं। आंखों में अगर लाली हो या आंखों से कुछ निकल रहा हो तो कांटेक्ट लेंस न लगाएं।


नाखून साफ रखें 

खासतौर पर बरसात के मौसम में नाखूनों को न बढ़ाएं क्योंकि धूल उनमें जमा हो सकती है। और अगर आपको नाखून बढ़ाने भी है तो इनकी साफ-सफाई का विशेष ध्‍यान रखें।


आंखों को धूप से बचाएं

घर के बाहर निकलने से पहले धूप का चश्मा लगाएं। यह न सिर्फ धूप से बचाता है बल्कि धुएं और गंदगी से होने वाली एलर्जी से भी रक्षा करता है।


तेज हवा से बचें

आंख में कुछ गिर जाने पर उसे मले नहीं, बल्कि उसे साफ पानी से धुले। आराम न मिले तो तुरंत चिकित्सक की सलाह लें। कांटेक्ट लेंस पहनने वालों को ज्यादा सावधान रहना चाहिए, क्योंकि कांटेक्ट लेंस हवा में उड़ने का खतरा रहता है।


आई मेकअप का ध्‍यान

अपने आई-मेकअप का सामान किसी के साथ शेयर न करें। बारिश में आंखों का मेकअप अधिक खराब होता है। इस मौसम में काजल, आई लाइनर, मस्करा आदि वॉटर प्रूफ लगाएं।


स्वस्थ आदतें अपनाएं

मानसून के दौरान कंजक्टिवाइटिस या आंखें आ जाने की बीमारी आम होती है। अगर इस मौसम में कोई संक्रमित हो जाए तो अपनी आंखों को अच्छे से धोएं, और उन्हें ठंडक प्रदान करें। किसी दूसरे व्यक्ति का रूमाल या तोलिया इस्तेमाल ना करें, बल्कि अपने ही तौलिए एवं रूमाल का ही इस्तेमाल करें। ऐसे में किसी नेत्र रोग विशेषज्ञ से सलाह लेकर एंटीबायोटिक आई ड्रॉप्स का इस्तेमाल करें। आंखों में संक्रमण होने पर लेंस का प्रयोग न करें।


आंखों को रगड़ें नहीं

आंखों में खुजली होने पर इन्हें रगड़ने से बचें। गंदे हाथों से आंखों को रगड़ने पर पलक संबंधी संक्रमण होने का खतरा बना रहता है।


खानपान का ध्‍यान रखें

साथ ही अपने खान-पान का ध्‍यान रखें। मानसून में हरी सब्‍िजयों, मौसमी फल एवं दूध का सेवन जरूर करें। साथ ही अपने भोजन में विटामिन 'ए' 'सी' और 'ई' को शमिल करें। आंखों को स्‍वस्‍थ और बीमारियों से बचाने के लिए विटामिन बहुत जरूरी होते है।

 

 

 

 

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES6 Votes 14413 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर