मानसून में गर्भवती रखें अपने खानपान का विशेष ध्‍यान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 21, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मानसून में जरूरी विटामिन, खनिज, कैल्शियम, प्रोटीन सही मात्रा में उपयोग।
  • सेल्‍यूलोस युक्‍त सब्‍िजयां को पचने में समय लगता है इसलिए इसे न खाएं।
  • बरसात में बाहर के खाने में बैक्‍टीरिया होने की संभावना अधिक होती है।
  • जंक फूड के सेवन से बचे, इनसे शरीर को जरूरी पोषण नहीं मिल सकता है।

अगर आप गर्भवती हैं तो जरा संभल जाइए, मानसून ने दस्तक दे दी है। इस मौसम में खाने-पीने में बरती गई जरा-सी लापरवाही आपकी तबीयत बिगाड़ सकती है। इस मौसम में आप अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखें।

pregnancy diet during monsoon

 

ऐसे में आमतौर पर डॉक्टर पौष्टिक आहार लेने की सलाह देते हैं। मानसून में गर्भवती महिला को जरूरी विटामिन, खनिज, कैल्शियम, प्रोटीन, कैलोरी से भरपूर खाद्य पदार्थों भरपूर सेवन करना चाहिए। आइए जानें मानसून में गर्भवती को अपने आहार में किस प्रकार की सावधानी लेनी चाहिए।


इन बातों का रखें ध्यान-

 
•    अगर आप गर्भवती हैं तो हमेशा ताजा खाना ही खाएं। इस मौसम में थोड़ी-सी लापरवाही आपको नुकसान पहुंचा  सकती है।


•    खाना फ्रिज में से निकालते ही न खाएं। उसे थोड़ी बाहर रखकर उसका तापमान सामान्य होने दें।

•    दिन में आठ-दस गिलास पानी पीएं। बाहर के खाने का परहेज करें।
 
•    जंकफूड को बिल्कुल नजरअंदाज कर दें।

•    मानसून में पत्तेदार सब्जियां ना खाएं, क्योंकि इन सब्जियों में सेल्यूलोस होता है जो ठीक से पचता नहीं है।

•    बरसात में विशेष तौर पर कटे और खुले में रखे हुए फल ना खाएं।
 
•    तला खाना नहीं खाना चाहिए। यह जल्दी नहीं पचता।

•    ऐसी चीजें खानी चाहिए जो सूखी हों जैसे मक्का, चना, बेसन, जौ आदि।

इस मौसम में पीने के पानी का सावधानी से इस्तेमाल करें। पानी को जहाँ तक हो सके उबाल कर ठण्डा करके ही पीएं।

चीजें है जो मानसून में आपको फिट रखेंगी-

 
•    हल्दी हमारे शरीर को कीटाणुओं से बचाती है। थोड़ी-सी हल्दी में कुछ बूंद पानी मिलाकर उसकी गोली बनाकर खाना भी बहुत मददगार साबित होगा।

•    शहद आपकी पाचन क्रिया को ठीक रखने में मदद करता है। रोजाना दो चम्मच शहद आपको तो फिट रखेगा, साथ ही, इससे नींद भी अच्छी आयेगी।

•    आप लहसुन की चटनी बनाकर तो खा ही सकती हैं। यह आपके शरीर को रोग रहित बनाता है।

•    लौह युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन भी गर्भावस्था के दौरान बहुत जरूरी है। ये न सिर्फ खून की कमी को दूर करता है बल्कि हड्डियों को भी मजबूत करता है।

•    उबला हुआ भोजन खाना गर्भावस्था के समय सबसे बढि़या है।

•    गर्भावस्था में ऐसा भोजन करना चाहिए, ताकि मोटापा ना हो।

•    गर्भावस्था आहार में कम से कम नमक का इस्तेमाल करते हुए फोर्टिफायड फूड लेना चाहिए।

•    गर्भवती महिला को गेहूं, ओट मिल और अनाज की ब्रेड का ही सेवन करना चाहिए।

•    पानी तो हमेशा से ही किफायती होता है। गर्भवती महिला को अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए।

•    ताजा खाने के साथ-साथ ताजे फल, ताजा जूस और उबला हुआ दूध और उससे बने पदार्थों का ही सेवन करना चाहिए।

•    बरसात के मौसम में कुछ चीजें जैसे मांस, अंडा, नट्स, पालक, गाजर, आलू, मक्का, मटर, संतरे, अंगूर, तरबूज और जामुन, ब्रेड, अनाज, चावल का सेवन गर्भावस्था के दौरान अवश्य ही करना चाहिए।

डॉक्टर की राय के अनुसार अपने खान-पान में बदलाव करते रहें।

 

 

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES9 Votes 45776 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • reeta22 Aug 2012

    nice info

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर