मेक्सिको की ट्रेन में ये हुआ क्या? लोगों के बैठने के लिए लगाई गई ‘पीनिस सीट’

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 31, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

- मेक्सिको में लगाई गई पीनिस सीट
- लोगों को यौन उत्पीड़न के लिए दी जा रही जागरुकता
- महिलाओं के साथ बढ़ रहे यौन उप्तीड़न के मामले

मैं पैदा एक छोटे शहर में हुई। वहां, जब भी मैं घर के बाहर निकलती, तो मेरी मां या पापा के साथ निकलती। स्कूल की पढ़ाई खत्म करने के बाद जब मैं दिल्ली अपनी ग्रेजूएशन करने के लिए आई, तो दिल्ली की चका-चौंध देखकर दंग रह गई। कॉलेज था दूर और रहने का ठिकाना मिला उससे करीब 15 किलोमीटर दूर। हालांकि, दिल्ली एक ऐसी जगह है, जहां पर एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए कई विकल्प हैं, लेकिन क्या वह लड़कियों के लिए सेफ है? कॉलेज का पहला दिन था और मैंने दिल्ली की बस में अपने कॉलेज पहुंचने के लिए पहली बार कदम रखा था। सीट जैसे ही शुरू हुई मैंने सीट के ऊपर ‘लेडीज सीट’ लिखा देखा। वहां, पहले से ही कोई पुरुष बैठे थे। जब मैंने उनसे कहा कि सीट खाली करें, ये लेडीज सीट है और मुझे बैठना है, तो उन्होंने साफ इंकार कर दिया।

penis seat

इस बात के लिए जब मैंने कंडक्टर से बोला, तो उन्होंने मेरी ओर ध्यान न देते हुए मुझे यह कह दिया कि मैडम किसी और सीट पर बैठ जाएं, यह व्यक्ति यहीं पास में उतरने वाला है। यह घटना सिर्फ मेरे साथ ही नहीं, बल्कि कई महिलाओं के साथ हुई होगी। लेकिन, अब मेक्सिको एक ऐसा पहला शहर बना है, जिसने इन घटनाओं को गंभीरता से लिया है। सेक्सिज़म, एक ऐसी चीज है, जो दुनिया में हर कहीं प्रचलित है।

इन सभी को देखते हुए मेक्सिको की ट्रेन में ‘पीनिस सीट’ लगाई गई हैं। पढ़कर चौंके न, क्योंकि यह सचाई और हकीकत है। यह नग्न, बिना सिर और पैर वाली सीट है, जिस पर चेस्ट और निप्पल्स, पेट, बेले बटन और पीनिस का आकार खिंचा गया है। इसके अलावा एक अनोखी चीज और की गई है इस पर वह हैं लोगों को मेसेज देना का कार्य। सीट के ऊपर की तरफ लिखा गया है इस पर बैठना तकलीफदेह हो सकता है, लेकिन इस बात को सेक्शुअल वॉइलेंस के साथ तुलना न करें, जिसका भुगतान महिलाएं अपनी रोज की जिंदगी में करती हैं

इसे कहते हैं एक ऐसी सेक्सिअस्ट चीज होना, जहां केवल पुरुष बैठ सकते हैं। जब लोगों ने इस सीट पर ध्यान दिया, तो उनकी प्रतिक्रिया काफी चकित करने वाली थी। इसके अलावा भीड़ में कुछ लोग ऐसे भी थे, जो गलती से उस सीट पर बेठ गए और अचानक से उठ खड़े हुए। यह सीट प्लास्टिक की बनी है।

इस तरह के कैंपेन करने के पीछे का आइडिया सिर्फ जागरुकता फैलाना था। मेक्सिको में करीब 65 प्रतिशत महिलाएं ऐसी हैं, जो सेक्शुअल हरासमेंट (यौन उत्पीड़न) का सामना करती हैं। ऐसा वे तब महसूस करती हैं, जब वे किसी पब्लिक ट्रांसपोर्ट में ट्रेवल कर रही होती हैं। उमीद है कि आपको इस आर्टिकल से कुछ प्रेरणा मिली होगी?

News Source- Scoopwhoop.com

Image Source- Scoopwhoop.com

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Others Related Articles In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1921 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर