अब सांसो से हो पाएगी मलेरिया की जांच

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 19, 2016
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

शोधकर्ता एक ऐसे उपकरण का ईजाद करने में जुटे हैं, जिससे मलेरिया की जांच के लिए ना ही खून के नमूनों की और ना ही स्वास्थ कर्मियों की जरूरत होगी। केवल सांस के जरिए ही की इस उपकरण से मलेरिया की जांच की जा सकेगी। चलिये विस्तार से जानें खबर -  


दुनिया भर में मलेरिया की पहचान में देरी के चलते लाखों लोगों की असमय मौत हो जाती है। इस बड़ी समस्या से निपटने के लिए शोधकर्ता एक ऐसे उपकरण को तैयार करने में जुटे हैं, जिससे परिक्षण करने के लिए ना तो खून के नमूनों की आवश्यकता होगी और ना ही इसे करने वाले स्वास्थ कर्मियों की। मलेरिया की जांच केवल सांस के माध्यम से ही हो सकेगी।

 

Malaria Test device in Hindi

 

वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के सहायक प्रोफेसर डॉक्टर ऑड्रे ओडम इस संबंध में बताते हैं कि यह उपकरण ठीक उसी प्रकार काम करेगा, जैसे शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों का की जांच के लिए ब्रीथेलाइजर टेस्ट करता है। इस उपकरण के जरिए फिलहाल की अपेक्षा बहुत कम खर्च आएगा। साथ ही रक्त के नमूने लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी और ना ही इसके लिए किसी प्रशिक्षित स्वास्थकर्मी को ही लगाना होगा।


शोधकर्ताओं ने टेरेपेनेस नाम के ऐसे खुशबूदार कार्बनिक यौगिकों बनाने वाले परजीवी की पहचान की है, जिनकी महक मच्छरों को आकर्षित करती है। इस तरह के तत्व जब खून में मौजूद होते हैं तो वे फेफड़ों में आ जाते हैं और फिर मरीज की सांसों में भी फैल जाते हैं। शोध में इस तथ्य के सामने आने के बाद से ही वैज्ञानिक इस उपकरण को बनाने में जुट गए हैं, जिससे सांस के जरिए ही मलेरिया का पता लगाया जा सके।


विश्व स्वास्थ संगठन के मुताबिक प्रति वर्ष 5 लाख लोग मलेरिया के कारम मौत का शिकार बनते हैं। जिनमें से अधिकांश मौते समय से जांच न हो पाने के कारण होती हैं।



Image Source - Getty Images

Read More Health News in Hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES730 Views 0 Comment