महिलाएं कैसे बनाएं प्यार और करियर में बैलेंस

By  ,  Onlymyhealth editorial team
Feb 28, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • जिम्मेदारी निभाईए और जरूरत पड़े तो थोड़ा टफ बन साथी को जिम्मेदारी का अहसास कराइए।
  • पार्टनर को अपनी हर चीज और समस्या के बारे में बताइए और उनके परामर्श भी लीजिए।
  • प्यार और घर आपकी प्राथमिकता होनी चाहिए लेकिन करियर को अनदेखा न करें।
  • पहनावा और मेकअप का ख्याल रखें।  करियर और प्यार की प्लानिंग हमेशा किए रहें।

 

कई लोगों को इस समस्या का सामना करना पड़ता है। कभी काम इश्क के आड़े आता है तो कभी इश्क काम से उलझने लगता है। नतीजा हजार परेशानियां। काम और प्यार के बीच में संतुलन बनाने में अच्छे-अच्छे मात खा जाते हैं। इन दोनों के बीच तालमेल न बैठा पाने का असर काम और इश्क दोनों पर पड़ता है। और कई बार इंसान के दोनों हाथ खाली रह जाते हैं। न ही प्यार मिलता है और न ही करियर में अपेक्षित सफलता ही मिल पाती है। वो कहते हैं ना खुदा ही मिला न विसाले सनम।

Balance between work and love

महिलाओं को बनाना पड़ता है प्यार और काम में बैलेंस

आज की टफ लाइफ में अधिकतर शादी-शुदा महिलाएं कामकाजी होती हैं। शादीशुदा और कामकाजी होना बहुत ही मुश्किल काम होता है। करियर और प्यार, किसी भी लड़की के जीवन के ऐसे दो पहलू हैं, जिनमें सामंजस्य बनाना बेहद जरूरी है। दोनों के बीच सही तालमेल बैठा पाना आसान नहीं। ऐसे में प्यार और करियर के बीच तालमेल बैठाने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखें, जिससे आप परेशानियों से परे रहेंगी।

 

मानसिक स्थिति

सबसे पहले इस बात के लिए मानसिक रूप से तैयार रहें कि अब आपको दोहरी जिम्मेदारियां निभाना पड़ेगी। ज्यादा कार्यभार से अपना धीरज न खोएं।

जिम्मेदारियां

अपने साथी को ऑफिस के कार्य से जुड़ी जिम्मेदारियों और उसकी प्रकृति के बारे में जरूर बताएं ताकि वह कार्य की गंभीरता को समझते हुए आपको पूरा सहयोग दें। कई बार अगर वो आपका काम नहीं करते और आपको अपना काम कराने के लिए थोड़ा टफ होना पड़ता है जरूर होइए।

आपसे बेहतर कौन जानता है भला

अपनी स्थिति आप ही बेहतर समझती हैं। इसलिए हर पहलू पर गौर करने के बाद ही अपने फैसले लें। आपको अपनी प्रायरिटी लिस्ट तय करनी होगी कि आप आपको किन चीजों पर फोकस करना है इस मामले में कोई कंफ्यूजन न पालें और अपना माइंड एकदम क्लीयर रखें। एक समय पर एक ही काम करें। अपनी सिचुएशन को ध्यान में रखकर जितना काम करेंगी, दोनों में बैलेंस बैठाना उतना ही आसान होगा।

लंबी छुट्टी न लें

कार्यस्थल की जिम्मदारियों और स्थितियों को ध्यान में रखते हुए ही छुटिटयों के लिए आवेदन करें। अगर आप किसी जिम्मेदार पद पर हैं तो बहुत लंबी छुट्टी न लें। ये आपकी इमेज पर अच्छा असर नहीं डालती।

 

प्राथमिकता

अगर कहीं प्राथमिकता देने की बात आती है, तो पहले अच्छी तरह हर स्थिति पर गौर करें। हो सकता है कि ऑफिशल टाइम के बाद कोई मीटिंग हो या कोई पार्टी और आपके लिए वह टाइम अपने प्यार के साथ बिताना ज्यादा जरूरी हो, तो प्रा‍‍थमिकता तय करें। इस बात को कभी न भूलें कि आप अगर परफेक्शन के चक्कर में रहेंगी, तो दोनों जगह प्रॉब्लम हो सकती है।

जरूरी है प्लानिंग

किसी भी काम को करने से पहले प्लानिंग बेहद जरूरी है। अपने दिन की शुरूआत एक अच्छी प्लानिंग के साथ करें। फिर पूरे दिन इसी शेड्यूल को फॉलो करें। अगर यह ब्रेक होगा, तो आपको दिक्कत हो सकती है।


विचार-विमर्श

छुट्टी पर जाने से पहले अपने विभाग से संबद्ध अधिकारी से विचार-विमर्श कर लें। उन्हें अपने कामकाज से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां जरूर दें।

माहौल के अनुकूल

ऑफिस जाते समय आपका पहनावा और मेकअप भी ऑफिस के माहौल के अनुकूल होना चाहिए। ज्यादा गहरा मेकअप करने या बहुत भड़कीले रंगों के कपड़े पहनने से बचें।

 

छुट्टी यानी नो ऑफिस वर्क

अगर आप छुट्टी पर हैं, तो इसका मतलब यह नहीं कि आप छुट्टी वाले दिन भी ऑफिस का काम ही करेंगी। उस दिन आप ऑफिस का काम छोड़कर अपने प्यार को दे सकती हैं।
 

बैलेंस बना कर चलें

आपके लिए अपने प्यार के साथ मीटिंग कैंसिल करना आसान है, बजाए अपनी ऑफिस मीटिंग के। इसलिए यह बैलेंस आपको बना कर चलना हैं।

 

Read More Article on Dating in hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES7 Votes 44471 Views 5 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर