महिलाओं की मौत का जिम्‍मेदार है असुरक्षित गर्भपात

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 04, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

mahilao ki maut ka jimedaar hai asurakshit garbhpaat

असुरक्षित गर्भपात से भारत में सलाना 4,500 महिलाओं की मौत हो जाती है। दूसरे शब्दों में, यह देश में 8 फीसदी मातृत्व मृत्यु के लिए जिम्मेदार है। यह जानकारी शुक्रवार को संसद में दी गई।

स्वास्थ्य राज्य मंत्री अबू हसीम खान चौधरी ने एक लिखित जवाब में कहा कि 'नमूना पंजीयन प्रणाली के भारत के महापंजीयक' (आरजीआई-एसआरएस) की सर्वेक्षण रिपोर्ट (2001-03) के अनुसार, गर्भपात देश में 8 फीसदी मातृत्व मृत्यु के लिए जिम्मेदार है। दूसरे शब्दों में, इससे सलाना करीब 4,500 महिलाओं की मौत हो जाती है।

संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के लिए जननी सुरक्षा योजना (जेएसवाई) के तहत कुछ शर्तो के साथ सीधे राशि दी जा रही है। योजना में गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल), अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) की गर्भवती महिलाओं पर विशेष ध्यान दिया गया है।

चौधरी ने कहा कि इस योजना की बदौलत संस्थागत प्रसव में महत्वपूर्ण बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि गांवों में स्वास्थ्य सेवाओं को खासकर गर्भवती महिलाओं तक पहुंचाने के लिए 8.8 लाख 'आशा' कार्यकर्ताओं की नियुक्ति की गई है।

 


Read More Article on Health News in hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES1 Vote 2574 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर