महिलाओं के लिए स्वस्थ आहार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 27, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • महिलाओं को अनाज का सेवन अधिक करना चाहिए।
  • फलों में मौजूद फाइबर देता है जरूरी पोषण।
  • डिनर के बाद मलाईरहित दूध पीने से होता है लाभ। 
  • पानी पीने से विषाक्‍त पदार्थ निकलते हैं बाहर।

 

सलाद खाती महिला

महिलाएं स्वस्थ दिखने के लिए कई प्रकार के प्रयोग करती हैं। अपने चेहरे और शरीर को हेल्दी बनाने के लिए कई नुस्खे अपनाती हैं। उनको लगता है कि स्वथ्य दिखने के लिए वर्कआउट और जिम के अलावा डाइटिंग एक बेहतर उपाय है। कई महिलाएं लगातार डाइटिंग करती हैं। जो महिलाएं मोटी होती हैं उनको लगता है खाना न खाने से जल्दी वजन पर नियंत्रण मिल जाएगा, जबकि यह उनकी गलतफहमी होती है। खाना न खाने से शरीर को जरूरी पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं जिसके कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है और कई प्रकार की बीमारियां शुरू हो जाती हैं। इसलिए स्वस्थ और छरहरी काया के लिए योगा और एक्सरसाइज के अलावा स्वस्थ‍ आहार भी बहुत जरूरी होता है।



महिलाओं के लिए स्वस्थ आहार -


अनाज –
अनाज में सभी प्रकार के पोषक तत्व‍ मौजूद होते हैं। फाइबर, मिनेरल्स, विटामिन्स, कैल्शियम और प्रोटीन पिसे हुए अनाज की तुलना में साबुत अनाज में ज्यादा पाये जाते हैं। साबुत अनाज खाने से महिलाओं के शरीर को ऊर्जा मिलती है। वजन घटाने और बढाने के लिए साबुत अनाज का प्रयोग किया जा सकता है। साबुत अनाज के रूप में ब्राउन चावल, गेहूं, जौ आदि का प्रयोग किया जा सकता है।


सब्जियां -
महिलाओं को अपनी आहार योजना में हरी और सीजनल सब्जियों को शामिल करना चाहिए। हरी सब्जियों में कैलोरी की मात्रा कम होती है और यह शरीर को पोटैशियम, विटामिन और फाइबर प्रदान करते हैं। हरी और पत्‍तेदार सब्जियां जैसे – पालक, पत्तागोभी, तोरी, करेला आदि खाने से शरीर को भरपूर मात्रा में पोषण मिलता है।



फल -
महिलाओं को स्वीस्थ रहने के लिए हर रोज एक फल जरूर खाना चाहिए। अगर फल नहीं खा सकते हैं तो एक गिलास जूस अवश्य पीना चाहिए। फलों में विटामिन, कैल्शियम और फाइबर की पर्याप्त मात्रा मौजूद होती है। फल खाने से शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है और सामान्य बीमारियों के अलावा गंभीर बीमारियां जैसे – डायबिटीज, कैंसर आदि के होने की संभावना कम होती है।

    

सलाद -
खाने के साथ या खाने से पहले सलाद खाना चाहिए। सलाद खाने के कारण महिलाएं ज्यादा खाने से बच सकती हैं जिससे मोटापा को कम करने में मदद मिलती है। लेकिन यह ध्यान रखना चाहिए कि सलाद में खीरे, ककडी, टमाटर जैसे विटामिन वाले खाद्य-पदार्थ भरपूर मात्रा में हैं या नही।


दूध और दही -
दूध और उससे बने खाद्य पदार्थों को डाइट प्लान में जरूर शामिल करना चाहिए। दूध, दही और पनीर भी स्वस्थ आहार हैं। डिनर के बाद मलाईरहित दूध पीने से शरीर को भरपूर पोषण मिलते हैं और आतिरिक्त वसा भी शरीर में नही जाती है जिससे मोटापे की संभावना नहीं होती है।


पानी -
महिलाओं को जितना हो सके उतना पानी पीना चाहिए। पानी पीने से शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकलते हैं। मोटापा कम करने के लिए पानी एक बे‍हतर विकल्प हो सकता है। इसके अलावा पानी पीने से शरीर और त्वचा के कई रोग समाप्त होते हैं।



शरीर पर खान-पान का असर तभी पडेगा जब उसके लिए एक निश्चित अंतराल हो। खाने के बीच में कम से कम 6 घंटे का अंतराल होना चाहिए, जिससे कि खाना अच्छे से पच सके। डिनर जल्दी कर लेना चाहिए, क्योंकि रात में खाना देर से पचता है।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES41 Votes 16515 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर