जादुई स्‍प्रे मिटाएगा सर्जरी के निशान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 26, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

स्‍प्रे से हटाए निशानजख्‍म भर जाते हैं, लेकिन उन जख्‍मों के निशान आपको हमेशा उनकी याद दिलाते रहते हैं। नजर पड़ते ही उन जख्‍मों की टीस फिर सालने लगती है। हालांकि अब पीडि़तों को ताउम्र इस दर्द के साथ नहीं जीना पड़ेगा। ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने एक ऐसा स्‍प्रे बनाने का दावा किया है, जो जख्‍म के निशान मिटाने में सक्षम है।

 

ब्रिटिश अखबार 'डेली मेल' के मुताबिक 'री-सेल स्‍प्रे' के इस्‍तेमाल से जख्‍मों के निशान से राहत मिलती है। वैज्ञानिकों ने कहा है कि इसके निर्माण में मरीज की त्‍वचा कोशिकाओं का इस्‍तेमाल किया जाता है। डॉक्‍टर मरीज को बेहोश करने के बाद डाक टिकट के आकार का त्‍वचा का टुकड़ा निकालते हैं। इसकी मोटाई एक से दो मिलीमीटर होती है। इसके बाद टुकड़े में मौजूद कोशिकाओं को अलग करके पोषक तत्‍वों के एक घोल में मिला दिया जाता है। इंजेक्‍शन के जरिये यह घोल जख्‍मी हिस्‍से पर छिड़ककर ऊपर से पट्टी बांध दी जाती है। इससे चीड़-फाड़ या कटे-जले के निशान धीरे-धीरे मिटने लगते हैं। वक्‍त के साथ-साथ जख्‍मी हिस्‍से पर नयी त्‍वचा आ जाती है।

 

विशेषज्ञों 'री-सेल स्‍प्रे' से निशान मिटाने की प्रक्रिया काफी सरल और सस्‍ता बताते हैं। इलाज या सर्जरी के कुछ ही द‍िन बाद इसका इस्‍तेमाल शुरू किया जा सकता है। उन्‍होंने बताया कि 'री-सेल स्‍प्रे' के निर्माण में दूसरे की त्‍वचा का भी इस्‍तेमाल किया जा सकता है, लेकिन इससे मरीज का शरीर बाहरी कोशिकाओं को नकार सकता है।

 

कॉस्‍मेटिक सर्जन डॉक्‍टर सज्‍जाद राजपार के अनुसार त्‍वचा के ऊपर कोई भी निशान तब उभरता है, जब उसकी सबसे अंदरूनी सतह पर डर्मिस नष्‍ट हो जाते हैं। इसे गायब करने में कोलाजेन की अहम भूमिका है, जो इस स्‍प्रे में भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जख्‍म ठीक होने की प्रक्रिया में यह प्रोटीन कोशिकाओं के बीच गोंद का काम करता है।



Read More Articles On Health News In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES10 Votes 5998 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर