पुरुषों के स्तनों का आकार कम करने के लिए लिपोसक्शन

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 24, 2014
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कॉस्मेटिक सर्जरी कराने वाले लोगों की तादाद में आई तेज़ी।
  • टिशुओं में सूजन आने के कारण बढ़ जाते हैं पुरुषों के स्तन।
  • सूजन आने की समस्या को गाइनिकोमेस्टिया कहा जाता है।
  • लिपोसक्शन द्वारा अतिरिक्त वसा को निकाल दिया जाता है।

पहले के मुकाबले अब कॉस्मेटिक सर्जरी कराने वाले लोगों की तादाद लगातार बढ़ रही है। इंडियन कॉस्मेटिक सेक्टर एनालिसिस की एक रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली में हर साल मेल कॉस्मेटिक सर्जरी का बाजार 20 प्रतिशत के हिसाब से बढ़ रहा है। कॉस्मेटिक सर्जरी कराने वालों में 40 प्रतिशत तक पुरुष होते हैं, जबकि चार से पांच साल पहले तक ये संख्या केवल 10 प्रतिशत थी। लिपोसक्शन आपरेशन भी लोग काफी संख्या में कराते हैं। आमतौर पर लोग चर्बी कम करने के लिए लिपोसक्शन कराते हैं, लेकिन कई पुरुष अपने स्तनों का आकार कम कराने के लिए भी लिपोसक्शन कराते हैं। पुरुषों द्वारा स्तनों का लिपोसक्शन कराने के पीछे एक प्रमुख वज़ह गाइनिकोमेस्टिया बामारी होती है। तो चलिये जानते हैं कि पुरुषों के स्तनों का आकार कम करने के लिए लिपोसक्शन कैसे होता है और गाइनिकोमेस्टिया का इससे क्या संबंध है। और साथ ही जानेंगे की गाइनिकोमेस्टिया क्या होता है?  

 

 

Liposuction for male breast in Hindi

 

 

गाइनिकोमेस्टिया की समस्या

पुरुषों या बच्चों के स्तनों के टिशुओं में सूजन आने की समस्या को गाइनिकोमेस्टिया कहते हैं। सूजन के कारण उनके स्तनों का आकार भी बढ़ जाता है। ऐसा इस्ट्रोजन और टेस्टासिटरॉन नामक हार्मोन के असंतुलन के कारण होता है। पुरुषों में स्तन के टिशु बहुत कम मात्रा में रहते हैं, जबकि स्त्रियों में किशोरावस्था में ये टिशु, हार्मोन के प्रभाव से अच्छी तरह विकसित होते हैं। पुरुषों में इनके बढ़ने से चूचक का आकार बदलता और ये स्त्रियों जैसे बन जाते हैं। हालांकि ये स्त्रियों जैसे बड़े नहीं होते नहीं होते, लेकिन फिर भी आकार परिवर्तन होने से ये लज्जाजनक स्थिति पैदा कर देते हैं। इससे अंतरंग हार्मोन असंतुलन की संभावना का पता चलता है और इसके उपचार के लिए चिकित्सा की आवश्यकता होती है। इसकी सबसे उत्तम चिकित्साओं में लिपोसक्शन भी एक है। लिपोसक्शन की की तकनीक होती हैं।

 

 

 

Liposuction for male breast in Hindi

 

 

 

क्यों होता है गाइनिकोमेस्टिया

दरअसल महिलाओं और पुरुषों में टेस्टास्टिरोन और इस्ट्रोजन हार्मोन के कारण यौनांगों का विकास और रखरखाव होता है। पुरुषों में टेस्टास्टिरोन एधिक होता है ताकि पुरुषत्व जैसे पेशिय घनता, शारीरिक केश आदि हों, जबकि स्त्रियों में इस्ट्रोजन होता है जिससे स्त्रीत्व जैसे स्तनों आदि का विकास होता है। पुरुषों में इस्ट्रोजन की अपेक्षा टेस्टास्टिरोन की कमी होने के कारण गाइनिकोमेस्टिया होता है। इन हार्मोन का संतुलन कई कारणों से बिगड़ सकता है, जैसे  प्राकृतिक हार्मोन परिवर्तन, औषधियां या कुछ शारीरिक अवस्थाएं। कुछ रोगियों में तो गाइनिकोमेस्टिया के सही कारण का पता लगना मुश्किल हो जाता है।  


 

पुरुष स्तनों के लिए लिपोसक्शन

गाइनिकोमेस्टिया सामान्य ग्रंथियों के ऊतक और वसा की वृद्धि होती है। लिपोसक्शन द्वारा स्तनों को पुरुषों जैसा सामान्य आकार देने के लिए अतिरिक्त  वसा को निकाल दिया जाता है। लेकिन यह विधी विशेष रूप से निपल और परिवेश के नीचे की कठिन ग्रंथियों के ऊतक के लिए प्रभावी नहीं होती है। अधिकांश समय लिपोसक्शन से परिवेश घेरे के रंजित (पिमेंटिड) भाग के किनारे पर चीरों की मदद से अतिरिक्त ग्रंथियों के ऊतकों को हटाने का काम किया जाता है। जब पुरुष स्तन वृद्धि के कारण त्वचा खींच जाती है तो अतिरिक्त त्वचा को हटाने भी आवश्यक हो सकता है। इसके अलावा पुरुष स्तनों के आकार को कम करने के लिए तुमेस्केन्ट (Tumescent) लिपोसक्शन लोकल ऐनिस्थीश़िया की मदद से किया जाता है।

 

 

Read More Articles On Mens Health In Hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES287 Votes 17150 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर