लेकिन थोड़ी थोड़ी पिया करें

By  ,  दैनिक जागरण
Feb 04, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

लेकिन थोड़ी-थोड़ी पिया करें किडनी में कैंसर के खतरे को 40 फीसदी कम करती है हफ्ते में दो ग्लास रेड वाइन


न्यूयार्क, रायटर : वाइन पीते हैं तो शौक से पीजिए। यह किडनी में कैंसर के खतरे को 40 फीसदी कम कर देती है। लेकिन ख्याल रहे, हफ्ते में दो ग्लास से ज्यादा नहीं।

 

आमतौर पर अल्कोहल को लिवर और किडनी का दुश्मन माना जाता है। लेकिन एक अध्ययन ने इस अवधारणा को हल्की सी तब्दीली दी है। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक अल्कोहल किडनी में कैंसर पनपने के खतरे को कम कर देता है। स्टाकहोम के कारलोनिस्का इंस्टीट्यूट की डाक्टर डा.एलिस्जा वोक और उनके सहयोगियों ने स्वीडन में अल्कोहल युक्त विभिन्न पेयों और कुल अल्कोहल के सेवन के साथ किडनी के कैंसर के खतरों के बारे में अध्ययन किया है। इस अध्ययन में 855 ऐसे लोगों को शामिल किया गया जो किडनी के कैंसर से पीडि़त थे। 1204 लोग ऐसे भी शामिल किए गए जिनमें यह मर्ज नहीं था।

 

इन लोगों से एक निश्चित अवधि में विभिन्न मानकों के हिसाब से अल्कोहल के सेवन का लेखा-जोखा लिया गया, मसलन-एक ग्लास बीयर यानी 200 मिली, एक ग्लास वाइन यानी सौ मिली और 40 मिली के बराबर स्ट्रांग बीयर या तेज शराब।

 

रिपोर्ट के मुताबिक 100 ग्राम मीडियम स्ट्रांग बीयर में 2.8 ग्राम अल्कोहल पाया गया, इसी तरह 100 ग्राम रेड वाइन में 9.9 ग्राम और 100 ग्राम तेज शराब में 32 ग्राम अल्कोहल पाया गया। वाइन और बीयर में प्रयुक्त अल्कोहल एथनाल होता है। इसे एथनालिक अल्कोहल, ग्रेन अल्कोहल, हाइड्रोक्सीथेन और पेय अल्कोहल भी कहा जाता है।

 

अध्ययन के मुताबिक प्रति माह शराब या बीयर के जरिए 620 ग्राम एथनाल लेते हैं, उनमें किडनी के कैंसर का खतरा 40 फीसदी कम हो जाता है। यह आकलन उन लोगों के मुकाबले है जो शराब या बीयर पीते ही नहीं। शोधकर्ताओं का दल अपने अध्ययन के बाद इस नतीजे पर पहुंचा है कि हफ्ते में दो ग्लास या इससे कुछ ज्यादा रेड वाइन पीते हैं उनमें न पीने वालों की अपेक्षा किडनी के कैंसर का खतरा 40 फीसदी कम रहता है।


यही नतीजा व्हाइट वाइन या बीयर के साथ भी आता है। लाइट, मीडियम या स्ट्रांग बीयर, स्ट्रांग वाइन या फिर तेज शराब से किडनी की कोशिकाओं में कैंसर के खतरे से कोई ताल्लुक नहीं पाया गया। कैंसर के खतरे को कम करने में मददगार होता है शराब या बीयर में मौजूद फेनोलिक्स। एंटीआक्सीडेंट और एंटीम्यूटेजेनिक तत्व फेनोलिक्स में पाए जाते हैं, यही कैंसर के खतरे को कम करते हैं।

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES8 Votes 14953 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर