लिशमानियासिस

By  ,  दैनिक जागरण
Nov 07, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

लीसमानियासिसक्या आपने कभी लीसमानियासिस नाम की बीमारी का नाम सुना है? यह दुनिया की सबसे खतरनाक बीमारियों में से एक है। इस बीमारी में शरीर में फोड़े हो जाते हैं।  पूरा चेहरा

 

वीभत्स हो जाता है। इससे जान भी जा सकती है। यह बीमारी परोटोजोआ नामक परजीवी के कारण होती है। इससे दुनिया में करीब एक करोड़ 20 लाख लोग प्रभावित हैं। वैज्ञानिकों के मुताबिक इस शोध से इस बीमारी का इलाज खोज निकालने में मदद मिलेगी।

 

वैज्ञानिकों को हाल ही में इस खतरनाक बीमारी से संबंधित एक बड़ी सफलता मिली है। ब्रिटिश वैज्ञानिकों को इस परजीवी के तीन किस्मों के बीच कई समानताएं मिली हैं। उन्होंने इसके लिए लीसमानियासिस मेजर, एल. इंफैंटम और एल. ब्राजीलयनसीस जैसे परजीवियों के जेनेटिक कोड की तुलना की। ध्यान रहे कि एल. ब्राजीलयनसीस परजीवी ही कालाजार का कारण होता है। जब इस प्रयोग के नतीजे आए तो वैज्ञानिक चौंक पड़े।

 

इंग्लैंड के यार्क यूनिवर्सिटी के डेबरोह स्मिथ ने कहा कि तीनों में आश्चर्यजनक समानताएं है। हमारे लिए तो यह बिलकुल अप्रत्याशित है। इनमें बस दो सौ जीनों का फर्क है, बाकी के लगभग 7800 जीन एक जैसे हैं। हमें इनके कई नए जीनों के बार में भी पता चला। वैज्ञानिकों के मुताबिक इस शोध से इस बीमारी का इलाज खोज निकालने में मदद मिलेगी।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES3 Votes 12383 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर