क्या कम सोने से वज़न घटता है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 09, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • वजन घटाने के लिए रात को पर्याप्त नींद लें।
  • पर्याप्त नींद ना लेने पर शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है।
  • ग्लूकोज की मात्रा ज्यादा होने पर चर्बी जमा होने लगती है।
  • कम नींद लेने से कार्बाहाइड्रेट युक्त आहार ज्यादा खाना का मन करता है।

अगर आप वजन घटाना चाहते हैं, तो जानकारों का कहना है कि आपको भरपूर नींद लेनी चाहिए। हाल ही में हुए शोध में पता चला है कि जो लोग हर रात पांच घंटे या उसे कम सोते हैं उनका वजन सात घंटे सोने वालो से ज्यादा होता है।

sleep apneaअध्ययन के मुताबिक जो लोग कम सोते हैं और ज्यादा खाते हैं, उनकी ज्यादा ऊर्जा खर्च नहीं होती। जिससे वजन बढ़ने की समस्या होती है। अगर आप अपना वजन नियंत्रित करना चाहते हैं तो कम सोने से कोई फायदा नहीं होगा। पहले के कई शोधों में यह बात साबित नहीं होती कि कम नींद आने से वजन बढ़ता है लेकिन सोने को हमेशा ही हमारी प्राथमिकता में रखा गया है। हमेशा से ही डॉक्टर एक अच्छी नींद की सलाह देते आएं हैं।

 

ज्यादा सोने से घटता है वजन

पर्याप्त नींद लेने से तनाव का स्तर तो कम होता ही है साथ ही आपके शरीर के हर अंग को आराम भी मिलता है। आप जब तक जागते रहेंगे तब तक आपके अंदर कुछ ना कुछ खाने की इच्छा होती रहेगी जो कि आपके पाचन शक्ति व शरीर के लिए नुकसानदेह है। रिसर्च के मुताबिक जो लोग कम सोते हैं वे ज्यादा से ज्यादा कैलोरी ऊर्जा लेते हैं। इसके साथ ही पर्याप्त नींद नहीं लेने से उनकी ऊर्जा का क्षय भी कम होता है जिससे उनका वजन बढ़ता जाता है। इसके विपरीत जो लोग ज्यादा सोते हैं वे उनकी तुलना में कम कैलोरी उर्जा लेते हैं और सोने में ज्यादा कैलोरी ऊर्जा क्षय करते हैं। अध्ययन कहता है कि अगर इस बात को आम जिंदगी पर लागू किया जाए तो कम सोने पर मोटापे का खतरा बढ़ता है।

 

 

अपर्याप्त नींद लेने से वजन बढ़ने के साथ कई और समस्याएं हो सकती हैं आइए जानें उनके बारे में।

  • अपर्याप्त नींद से शरीर के कार्बोहाइड्रेट का पूरा प्रयोग नहीं हो पाता और शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है जिससे इंसुलिन बढ़ता है और शरीर में चर्बी जमा होने लगती है।   
  • कम सोने से लेप्टिन का लेवल नीचे चला जाता है, जिससे शरीर में कार्बोहाईड्रेट युक्ता आहार खाने की प्रबल इच्छा होती है।
  • अपर्याप्त नींद से हार्मोन की वृद्धि का स्तर घटता है जिससे शरीर में समस्याएं पैदा होती हैं।   
  • भरपूर नींद नहीं लेने से इंसुलिन बनने की प्रक्रिया में रुकावट आती है, जिससे डायबटीज का खतरा बढ़ जाता है।
  • पूरी नींद आपको ब्लड प्रेशर के खतरे से बचा सकती है।
  • कम नींद लेने से हृदय रोग का खतरा बना रहता है।

 

 

Read More Article On Weight Loss In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES16 Votes 47407 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • Ajay Parmar27 Apr 2012

    Kya Dopahar Ko Sone Se Vajan Me Koi Fark Padata Hai?...

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर