पार्टनर की देखभाल के साथ ही समझदारी से काम लें किशोर पिता

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 20, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • किशोर पिता बच्‍चे के साथ ही अपने पार्टनर का भी ध्‍यान रखें।
  • शिक्षा को बीच में न छोड़ें कम उम्र में पिता बनने वाले लड़के।
  • अपने परिवार में बात करें और माता-पिता को विश्‍वास में लें।
  • परिवार की बेहतरी के लिए समझदारी से काम लें, घबराएं न।

किशोर गर्भावस्था की बात आने पर सारा ध्यान किशोर माताओं को होने वाली समस्याओं पर ही केंद्रित हो जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं एक किशोर पिता के लिए यह समय कैसा और कितना मुश्किल भरा होता है।

teen age father

कम उम्र में पिता बनने वाले युवक को भी कम मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ता। इन परेशानियों के चलते वे कई बार अपने पार्टनर का ठीक से साथ नहीं दे पाते। किशोर गर्भावस्था में युवक व युवतियों को उनके परिवार के साथ की जरूरत होती है। वे खुद को माता-पिता की जिम्मेदारियों के लिए तैयार नहीं कर पाते। और अनुभवहीनता व जानकारी के अभाव में वे कुछ गलत कदम उठा लेते हैं।


ऐसे समय में परिवार के सदस्‍यों को चाहिए कि वे उन्‍हें नई जिम्‍मेदारी के लिए तैयार करें। अपने अनुभवों को उनके साथ साझा करें, उन्‍हें समझाएं और हिम्‍मत से काम लेने की सलाह दें। कई बार कुछ लोग कम उम्र में मां बनने वाली किशोरी और बाप बनने वाले किशोर को गलत नजरों से देखने लगते हैं, लेकिन ऐसे में उनके परिवार को उनके साथ रहना चाहिए। इस लेख के जरिए हम आपको बताते हैं ऐसी कुछ महत्त्‍वपूर्ण बातें जिससे वे इस समय का सामना कर सकें और अपने पार्टनर का साथ दे सकें।


पार्टनर की देखभाल करें

किशोर पिताओं को अपने पार्टनर की सेहत का खासतौर पर खयाल रखना चाहिए। सेहतमंद शिशु पाने के लिए जरूरी है कि आप पार्टनर के खाने-पीने का ध्यान दें, ताकि वह किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या से बची रहे। आपको पार्टनर की शारीरिक जरूरतों को जानना चाहिए कि उसे इस समय किस चीज की जरूरत है। यदि आपकी पार्टनर सेहतमंद रहेगी तो नवजात भी स्‍वस्‍थ्‍य रहेगा। खाने में प्रोटीन, कैल्शिम, हरी सब्जियां और फल का ध्यान रखना चाहिए।

 

शिक्षा पूरी करें

किशोर पिताओं को अपनी स्कूली शिक्षा जरूर पूरी करनी चाहिए क्योंकि बिना शिक्षा के आगे की पढ़ाई व अच्छी नौकरी मिलने में कई मुश्किलें हो सकती हैं। शिक्षा पूरी होने के बाद ही आप आत्म निर्भर हो सकेंगे और अपने पार्टनर व बच्चे की देखभाल ठीक से कर पाएंगे। अक्सर देखा जाता है कम उम्र में पिता बनने वाले किशोर परिवार की जिम्‍मेदारियों के बीच पढ़ाई छोड़कर बैठ जाते हैं जो कि उनके और बच्‍चे के भविष्‍य दोनों के लिए ठीक नहीं होता।

 

माता- पिता से बात करें

किशोर गर्भावस्था के बारे में किशोर व किशोरी दोनों को अपने माता-पिता को जरूर बताना चाहिए। बिना उन्हें बताए इस दौर का सामना करना बहुत मुश्किल है। अभिभावकों को अपनी पूरी बात विस्तार से बताएं, उनसे कुछ भी छिपाना आपके लिए खतरनाक हो सकता है। उन्‍हें भरोसे में लें और बताएं कि इस समय उन्‍हें उनके साथ की जरूरत है। वे इस मुश्किल दौर में आपका जरूर देंगे, लेकिन इसके लिए आपको उन्‍हें विश्‍वास में लेना होगा।

 

पितृत्व के बारे में जानें

अगर आप बच्चा चाहते हैं और उससे जुड़ी सभी जिम्मेदारियों को उठाने के लिए तैयार हैं तो पितृत्व के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानने की कोशिश करें। अपने परिवार में पितृत्‍व सुख से गुजर चुके किसी व्‍यक्ति से इस बारे में बात करें और बेहतर करने के लिए जानकारी करें। बच्चे को खुशहाल व सुरक्षित जीवन देने के लिए उचित रास्ते की तलाश करें।

किशोर गर्भावस्‍था का समय किशोरी के लिए नहीं बल्कि उसके पार्टनर के लिए भी मुश्किल भरा होता है। ऐसे समय में युवक को हिम्‍मत से काम लेना चाहिए और अपने परिवार के अच्‍छे के बारे में चिंतन करना चाहिए।

 

 

 

Read More Article On Teenage Pregnancy In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES3 Votes 43099 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर