किशोर गर्भावस्‍था के लिए जिम्‍मेदार हैं सामाजिक व पारिवारिक कारण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 26, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • युवती की कम उम्र में शादी है किशोर गर्भावस्‍था का अहम कारण।
  • यौन शिक्षा के अभाव से भी बढ़ रहे हैं किशोर गर्भावस्‍था के मामले।
  • यौन दुर्व्यवहार के कारण कम उम्र में गर्भवती हो जाती हैं युवतियां।
  • दोस्‍तों के दबाव में शारीरिक संबंध बनाना भी टीनएज प्रेग्‍नेंसी की वजह।

उन्‍नीस साल से कम उम्र में गर्भवती होने वाली महिलाओं को किशोर गर्भावस्‍था की श्रेणी में रखा जाता है। किशोर गर्भावस्‍था के पीछे कई सामाजिक कारण हो सकते हैं।

causes of teenage pregnancy

जब कोई महिला 19 साल से कम उम्र में बच्चे को जन्म देती है या गर्भवती हो जाती है, तो यह किशोर गर्भावस्था कही जाती है। किशोरावस्था में लड़कियां शारीरिक तथा मानसिक रूप से बच्चे को जन्म देने की स्थिति में नहीं होती। लेकिन विभिन्न सामाजिक, पारिवारिक और कई बार आर्थिक कारणों से उन्हें गर्भधारण के लिए बाध्य होना पड़ता है।

किशोर गर्भावस्था के मामले भारत में बड़ी संख्‍या में सामने आ रहे हैं। भारत में प्रत्येक एक हजार लड़कियों में से 62 युवतियां कम उम्र में ही मां बन जाती हैं। हमारे यहां कम उम्र में शादी होना किशोर गर्भावस्था का मुख्य कारण है। अज्ञानता व नवजात मृत्यु दर में बढ़ोतरी होने के कारण बहुत सी महिलाएं 15 से 19 साल की उम्र में मां बन जाती हैं। इस लेख के जरिए हम बात करते हैं किशोर गर्भावस्‍था के कारणों के बारे में।

कम उम्र में शादी

भारत में न सिर्फ ग्रामीण बल्कि कई शहरी इलाकों में लड़कियों की शादी कम उम्र में ही कर दी जाती है। इसका परिणाम उनकी शिक्ष पर पड़ता है और वे अनपढ़ रह जाती हैं या फिर उनकी पढ़ाई पूरी नहीं हो पाती। शादी के बाद ससुराल पक्ष की ओर से उन पर बच्चे पैदा करने का दबाव डाला जाता है। कम उम्र में गर्भधारण करना मां और शिशु दोनों के लिए बहुत खतरनाक होता है।

यौन शिक्षा का अभाव

किशोर गर्भावस्था के लिए यौन शिक्षा का ज्ञान न होना भी एक मुख्‍य वजह है। स्‍कूलों और कॉलेजों में यौन शिक्षा नहीं दिए जाने पर किशोर व किशोरियों को दोस्‍तो, फिल्मों व फोटो के जरिए जो जानकारी मिलती है वे उसी को सही मानकर चलते हैं। इस जानकारी की सच्‍चाई की कोई गारंटी नहीं होती। किशोर गर्भावस्था से बचने के लिए स्कूलों व अभिभावक को बच्चों को सही ढ़ंग से यौन व्‍यवहार से संबंधित जानकारी देनी चाहिए।

बलात्कार व यौन दुर्व्यवहार

रेप और यौन दुर्व्यवहार के चलते ज्यादातर लड़कियां किशोर गर्भावस्था का शिकार जो जाती हैं। आंकड़ो के मुताबिक 43 से 62 फीसदी किशोरियां व्यस्क पुरुषों द्वारा यौन दुर्व्यवहार का शिकार होती हैं, जिससे वे गर्भवती हो जाती हैं। इसके अलावा देश में बढ़ रही बलात्कार की घटनाओं को भी किशोर गर्भावस्था की बड़ी वजह माना जाता है।

दोस्तों के दबाव में

किशोरावस्था में दोस्तों का प्रभाव काफी होता है। कई बार दोस्तों की बातों व उनसे प्रभावित होकर लड़के और लड़कियां बिना ज्ञान के शारीरिक संबंध बना लेते हैं। ऐसा भी होता है कि लड़कियां इसके लिए तैयार नहीं होतीं और उनका पार्टनर उन पर दबाव डालता है जिसकी कारण अनियोजित गर्भावस्था हो जाती है।

किशोर गर्भावस्‍था को कम करने के लिए जरूरी है कि युवकों एवं युवतियों को स्‍कूल और कॉलेज में यौन व्‍यवहार से जुड़ी सभी जानकारी दी जाए, जिससे वे इसके दुष्‍प्रभावों के बारे में जान सकें।

 

 

 

 

Read More Articles On Teenage Pregnacy In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES13 Votes 45193 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर