कामसूत्र से बनायें अपनी सेक्स लाइफ और भी बेहतर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 24, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

कामसूत्र में स्त्री और पुरुष की शारीरिक संरचना और मनोविज्ञान का भली प्रकार से वर्णन हुआ है। सम्भोग एक ऐसी क्रिया है जो न सिर्फ जीवन की उत्पत्ति करती है बल्कि इनसान के बीच के रिश्ते को और खूबसूरत और मजबूत बनाती है।

kamasutra se banaye apani sex life aur bhi behtarआज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी और तनावपूर्ण दिनचर्या का असर लोगों की सेक्‍स लाइफ खराब कर रहा है। यह एक गंभीर समस्या है। लेकिन कामसूत्र का अनुसरण कर इस परेशानी से ना सिर्फ बचा जा सकता है बल्कि एक आनंदमय सेक्स लाइफ भी पाई जा सकती है।

सम्भोग के प्रति उदासीनता और शर्म आपको चरित्रवान नहीं बनाती बल्कि आपके जीवन की समस्यों को बढ़ा देती है। यह जानना आपके लिए बहुत जरूरी है कि सम्भोग क्रिया का सही ज्ञान आपके दांपत्य और सामाजिक जीवन दोनों को बेहतर बना सकता है।

कामसूत्र न केवल सेक्‍स संबंधों के बारे में व्‍यावहारिक व उचित जानकारी देता है, बल्कि यह दाम्‍पत्‍य जीवन के समस्‍त पहलुओं पर भी विस्‍तृत और गहन प्रकाश डालता है।

 

[इसे भी पढ़ें : कामसूत्र है प्रेम का आधार]

 

मानसिक रूप से हों मज़बूत:  
सम्‍भोग की परिणति शरीर से ज़्यादा मस्तिष्क द्वारा होती है। कामसूत्र सकारात्मक सोच और आत्मविश्वास रखने की शिक्षा देता है।


काबू करें वीर्यपतन प्रक्रिया: 
हस्‍तमैथुन को एक प्रभावी प्रक्रिया बनाया जा सकता है। इसे करने में कम से कम घंटे भर का समय लें। आप इसके लिए सेक्स विडीयोज़ की मदद ले सकते हैं। जब पतन होने को हो तो इसे रोकने का प्रयास करें और दिमाग कही और लगाएं। इससे धीरे-धीरे शीघ्र पतन पर काबू करने में मदद होगी।


नियमित करें व्यायाम:
प्रतिदिन व्यायाम करने से न सिर्फ आपका शरीर स्वस्थ्य व तरोताजा रहता है बल्कि आपकी सेक्स क्षमता भी बढ़ती है। आप कीलेग्स एक्सरसाइज़ भी कर सकते हैं जो विशेषकर सेक्स पॉवर के लिए लाभकारी होती है।


संवाद है जरूरी:
अपने प्रेमी से बात कर एक-दूसरे की इच्छाएं जानें और सहयोग करें। ऐसा करने से आपके सम्बन्ध में सहजता आएगी और आप सेक्‍स का भरपूर आनंद उठा पाएंगे।

 

[इसे भी पढ़ें : सात भागों में समाया कामसूत्र का ज्ञान]

 

सेक्स को करें नियंत्रित:
जब वीर्य स्‍खलित होने वाला हो, तो यह कोशिश करें कि पुरुष ऊपर की स्थिति में हो। और अपनी क्रिया को रोककर कुछ देर रुकें और फिर दोबारा सेक्स क्रिया प्रारंभ करें। इससे सम्भोग का समय व आनंद दोनों बढ़ेगा। साथ ही सेक्स करते समय गति को भी नियंत्रित करते रहें। अपने पैरों की गति को बिल्‍कुल धीमा कर दें।


वजन और पोज बदलते रहें:
कोशिश करें कि आपका अधिकांश वज़न आपके पार्टनर के बजाय आपके हाथों पर बंटा रहे। सेक्स के समय प्रेमी के साथ क्रिया का भी सामंजस्‍य बनाए रखें। सेक्स के पोज भी कई बार बदले जा सकते हैं।


स्थान का सही चुनाव:
आरामदायक स्थान का ही चुनाव करें। ध्यान रहे कि आप ऐसे स्थान को न चुनें जो आपकी उत्तेजना को का बढ़ाता हो । यदि बैडरूम उचित नहीं लगता तो कोई और स्थान चुनें। बहुत जल्दी- जल्दी स्थान न बदला जाए तो ही बेहतर है।


हर दिन की है अ‍हमियत:
कई लोग अपने दाम्‍पत्‍य जीवन के नीरस होने की शिकायत करते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आप अपने साथी से रति-क्रिया पर खुलकर बात करें। अपने साथी को नए संभोग आसनों में शामिल करें। इस प्रकार से आप अपने संबंधों को खूबसूरत बना पाएंगे।


शरीर है अहम:
प्रेम की उत्पत्ति सिर्फ मन या हृदय में ही नहीं होती शरीर में भी होती है। स्त्री-पुरुष यदि एक दूसरे के शरीर से प्रेम नहीं करते हैं तो मन, हृदय या आत्मा से प्रेम करने का कोई महत्व नहीं। प्रेम की शुरुआत ही शरीर से होती है और कामसूत्र इसका पूरा निचोड़ है।

 

 

Read More Articles om Kamasutra in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES145 Votes 13874 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर