कैसे बने सकारात्मक

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 13, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सकारात्मक सोच आपको पॉजिटिव रखती है।
  • दिमाग से अलविदा करें नकारात्मक विचार।
  • मेडिटेशन दिलाता है नकारात्मकता से आजादी।
  • सकरात्मकता के दृढप्रतिज्ञ बनना होता है जरूरी।

मनुष्य एक संवेदनशील प्राणी है। मनुष्य का ध्यान संवेदनाओं से संचालित होता है। हम महसूस करते हैं कि हमारा जीवन मुख्यतः हमारी सोच पर ही निर्भर करता है। हम जैसा सोचते हैं, हमारी जिंदगी वैसी ही बन जाती है। यदि हम अच्छा सोचते हैं, तो अच्छा होता है और यदि बुरा सोचते हैं तो बुरा होता है। इस तरह यदि हम यह नतीजा निकाले कि आमतौर पर अनुभव ही जीवन है, तो शायद गलत नहीं होगा।

positive

पॉजीटिव कैसे रहें

अच्छे काम करें और पॉजीटिव बने। अपने स्वार्थ पूर्ति के लिए दूसरों को कष्ट ना पहुंचाएं। आपको ऐसे काम करने चाहिए जिनसे आपको सभी जगहों पर मान-सम्मान ही मिले। ऐसे कामों से खुद को दूर रहे, जिनसे आप अपमान के पात्र बन सकते है। इससे आप अपने लिए पॉजीटिव फील करेंगे।
ऐसे काम करें जिनसे राष्ट्रहित जुड़ा हो और दूसरों को खुशी मिले। परिस्थितियों में संभलना सीखें, और जिन परिस्थितियों में नकारात्मक विचार आते हैं, उनसे सही तरीके से सामना करना सीखें। इस दौरान संयमित होकर स्वयं के सफल होने की ही कामना करें। आप ऐसा करेंगे तो आप देखेंगे कि जो नकारात्मक विचार आ रहे हैं वह धीरे-धीरे पॉजीटिव सोच मे बदल जाएंगे।परिस्थितियों को पहचानें। फिर अगर कोई समस्‍या हो तो इन समस्याओं से छुटकारा पाने की कोशिश करें, सकारात्मक सोच बनाए रखें। किसी भी घटना, विषय या व्यक्ति के बारे में अच्छा सोचें। दूसरे के प्रति अच्छा सोचेंगे, तो आप स्वयं के प्रति ही अच्छा करेंगे।  

नकारात्मक सोच से बचें

नकारात्मकता का जवाब सकारात्मकता के अलावा कुछ भी नहीं हो सकता यह बात मन में बैठा लें। इसके बाद जो भी नकारात्मक विचार मन में आए उसके साथ तर्क करना सीखें और वह भी सकारात्मकता के साथ। जिस प्रकार से नकारात्मक विचार लगातार आते रहते हैं, ठीक उसी तरह से आप स्वयं से सकारात्मक विचारों के लिए स्वयं को प्रेरित करें और अपने प्रयासों में सफलता हासिल करें। अगर आपने अपना ध्यान सकारात्मकता पर केंद्रित कर लिया तब न केवल अच्छे विचार आएंगे, बल्कि आप स्वयं के प्रति दृढ़ प्रतिज्ञ हो पाएंगे।नकारात्मक सोच से ऐसे बचें। इसलिए 'थिंक पॉजीटिव...एक्ट पॉजीटिव'।

positive
कुछ आसान से तरीके अपनाए

साँस ले और छोड़े,दिन में एक बार ऐसा जरूर करें, इससे तनाव कम होगा। संगीत सुने, योग करें, ध्यान लगाए या तैराकी करें। इससे आप पॉजीटिव फील करेंगे।अपने शहर से बाहर से कही घुमने जाए कुछ दिनों के लिए इससे आपको काम के बोझ से आराम मिलेगा और आप पॉजिटिव फील करेंगे। आप अपने लिए कुछ सीमा निर्धारित कर लें। अपने सोशल साइटस जैसे फेसबुक इत्‍यादि को कम से कम चेक करें। इससे आप पॉजिटिव फील करेंगे।

यदि आपको सचमुच अपने व्यक्तित्व को पॉजीटिव बनाना है, तो हमेशा अपनी सोच की दिशा को सकारात्मक रखिए। ये पॉजीटिव रहने का एक आसान तरीका है।

Read More Health and Fitness in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES73 Votes 14508 Views 4 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • v b jain28 Sep 2013

    positive thinking must hai,in my opinion - MENTAL HEALTH IS BASE OF COMPLETE HEALTH. Achcha lekh hai, social netwrking site bhi logo ko isame bahut madad karati hain.

  • sahil khan05 Oct 2012

    feet kiase rahe please send me a masssage...............

  • neeraj21 Aug 2012

    aankho ki dekh bhaal karne ke liye kya kar na chahiye.kya khaye kyapeeye...ya fir koi yoga ho to wo bataye.

  • neeraj21 Aug 2012

    aankho ki dekh bhaal karne ke liye kya kar na chahiye.kya khaye kyapeeye...ya fir koi yoga ho to wo bataye.

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर