किशोर गर्भावस्‍था का सामना करने के लिए जरूरी है सकारात्मक दृष्टिकोण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 16, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • किशोर गर्भावस्‍था में संदेह होने पर पहले जांच करानी चाहिए।
  • स्वस्थ गर्भावस्था के लिए जरूरी है खान-पान का ध्‍यान रखना।
  • हेल्‍थी प्रेग्‍नेंसी के लिए जरूरी है नियमित व्‍यायाम के साथ देखभाल।
  • परेशानियों से बचे रहने के लिए हमेशा सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाएं।

गर्भधारण के लिए प्‍लानिंग जरूरी है। कई बार बिना किसी प्‍लानिंग के कुछ महिलाओं का कम उम्र में ही गर्भ ठहर जाता है। ऐसा खासकर किशोर उम्र में ज्‍यादा होता है।

how to face teenage pregnancy

किशोरी का शरीर कुछ इस तरह होता है कि वह गर्भधारण बहुत जल्‍द कर लेता है, चाहे वह नहीं भी चाहे तो भी। ऐसे समय में किशोरी भावनात्मक और आर्थिक रूप से बच्चा पैदा करने की स्थिति में नहीं होती। ऐसी स्थिति आने पर आपको हिम्‍मत से काम लेना चाहिए, यह चुनौती है जिसका आपको सामना करना है। कम उम्र में बच्‍चे की परवरिश करना थोड़ा मुश्किल भरा होता है। आइए जाने ऐसी स्थिति का आपको किस तरह सामना करना चाहिए।

 

गर्भावस्था परीक्षण

यदि आपको गर्भवती होने का संदेह है तो सबसे पहले आपको अपना परीक्षण करना चाहिए। आजकल बाजार में होम प्रेग्‍नेंसी किट भी उपलब्‍ध है, जिससे घर पर ही पता लगाया जा सकता है कि आप प्रेग्‍नेंट हैं या नहीं। यदि प्रेग्‍नेंसी टेस्‍ट पॉजिटिव आता है तो आपको तुरंत चिकित्‍सक से संपर्क करना चाहिए।

 

अन्‍य विकल्प

यह पता लगने के बाद कि आप गर्भवती हैं, आपको यह निर्णय करना है कि आपको प्रेग्‍नेंसी को किस प्रकार हैंडल करना है। अपनी करीबी व जानकार व्‍यक्ति से इस बारे में चर्चा करें और इसके फायदे तथा नुकसान के बारे में जानने के बाद ही कोई निर्णय लें। आखिरी निर्णय आपका ही होगा, इसलिए किसी के दबाव में आए बिना स्‍वतंत्र रूप से निर्णय लें। बच्‍चे के जन्‍म से पहले और बाद में बाद आपके पास निम्‍नलिखित विकल्‍प होते हैं।


गर्भपात :यदि आप बच्‍चा नहीं चाहती तो आप गर्भपात करा सकती हैं। गर्भपात कराने से पहले चेकअप जरूरी है और इसके लिए कुशल चिकित्‍सक की ही मदद लें।


गोद देना :यदि आप बच्चे का पालन पोषण करने के लिए मानसिक रूप से तैयार नहीं है और गर्भपात भी नहीं कराना चाहती तो एक विकल्प यह है कि आप अपने बच्‍चे को किसी सम्मानित एजेंसी या परिवार को गोद दे सकती हैं।


एकल पेरेटिंग :
एकल पेरेटिंग का निर्णय लेना मुश्किल भरा होता है। इसका अर्थ यह होता है कि आप अपने बच्‍चे का लालन-पालन अकेले करेंगी।

 

स्वस्थ गर्भावस्था टिप्‍स

हेल्‍दी प्रेग्‍नेंसी के लिए आपको खानपान का ध्‍यान रखना चाहिए। आहार में आपको ताजे फल, सब्जियां, कम वसा वाले डेयरी उत्पाद और जरूरी विटामिन लेने चाहिए। गर्भावस्था में आपका आहार कैसा हो इसके लिए आप चिकित्‍सक से भी परामर्श कर सकती हैं। एल्‍कोहल के सेवन और धूम्रपान से बचें। इस दौरान जंक फूड और कैफीन से भी परहेज करना चाहिए।

 

गर्भावस्था के दौरान खयाल

किशोर गर्भावस्था के समय आपका मन अशांत रहता है। ऐसे में कई बार आप अपने स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति भी लापरवाही बरतना शुरू कर देती हैं। स्वस्थ गर्भावस्था के लिए जरूरी है कि आप अपनी सही तरीके से देखभाल करें। गर्भावस्था के दौरान भरपूर नींद लें और हल्के व्यायाम करें। किशोर गर्भावस्था से गुजरना काफी मुश्किल है, लेकिन अपने जीवन में सकारात्मक दृष्टिकोण बनाएं रखें, इससे आपको मदद मिलेगी।

 

सहायता समूहों से संपर्क

आदर्श गर्भावस्था के लिए आप किसी सहायता समूह से संपर्क कर सकती हैं, ऐसे समूह आपको गर्भावस्था के बारे में पूरी जानकारी देते हैं। साथ ही आप अपने रहने और चिकित्सा के खर्च के लिए 'आशा दीदी' से संपर्क कर सकती हैं।

 

 

 

Read More Article On Teenage Pregnancy In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES3 Votes 43311 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर