कैसे बचाएं अपनी त्वचा को होली के रंगों से

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 02, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Skin care in holiपहले लोग होली के मौके पर हल्दी, चदंन, गुलाब और टेसू के फूल से रंग बनाया करते थे, लेकिन आजकल बाजार में रासायनिक रंग धड़ल्ले से बेचे जाते हैं। ऐसे मे सावधानी बरतना बहुत ज़रूरी है। ऐसे रंगों मे कई तरह के रासायनिक और विषैले पदार्थ मिले होते हैं, जिनसे त्वचा को काफी नुकसान पहुंचता है।  आईए जानें होली में त्वचा को रंगो से कैसे बचाएं।

  • होली में रंग खेलने के 15 मिनट पहले अपने शरीर पर खूब सारा मॉस्चोराइजर या तेल जरूर लगाएं।  इसके बाद शरीर पर वाटरप्रूफ सनस्क्रीन लगाना नहीं भूलें। इससे रंग छुड़ाने में ज्यादा परेशानी नहीं होगी।
  • होली के दिन पूरे शरीर को ढकने वाले कपड़े पहनने चाहिए। हो सके तो कपड़े के अंदर कोई स्विमिंग सूट पहन लें जिससे होली का रसायन कपड़ों क अंदर नहीं जा पाए।
  • होली में जब भी रंग खरीदने  जाएं तो कोशिश करें कि हरा, बैगनी, पीला और नारंगी रंग न लेकर लाल या फिर गुलाबी रंग खरीदें, क्योंकि इन सब गहरे रंगों में ज्या दा रसायन मिले हुए होते हैं।
  • अगर आपके शरीर पर कोई घाव या चोट आदि है तो होली नहीं खेलनी चाहिए। इससे रंगों में मिले रासायनिक तत्व घाव के माध्यम से शरीर के रक्त में मिलकर नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  • ऑयल पेंट या वार्निश का प्रयोग होली खेलने के लिए नहीं करें। यह त्वचा को काफी नुकसान पहुंचाता है।
  • सूखे रंग की तुलना में गीला रंग ज्यादा नुकसानदेह है इसलिए सुखे रंगों से होली खेलने की कोशिश करें।
  • रंग की वजह से शरीर के किसी हिस्से में खुजली या जलन हो तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।
  • अगर आप रसायनिक रंगों से होली नहीं खेलना चाहते हैं तो रंग को अपने हाथों पर लगाकर चेक कर लें कि वो कैसा है।

 
रंगों से होने वाले नुकसान

काला रंग

काला रंग लीड ऑक्साइड हो सकता है इससे कई तरह की स्वास्थ समस्याएं हो सकती हैं। जैसे गुर्दे की समस्या।

हरा रंग


हरे रंग में कॉपर सल्फेट होता है। इससे आंखों में एलर्जी की समस्या हो सकती है जो अंधेपन का कारण  भी बन सकता है।

बैगनी रंग


बैंगनी रंग में क्रोमियम आयोडाइड मिला होता है। इसके प्रयोग से अस्थमा व अन्य एलर्जी का सामना करना पड़ सकता है।

सिल्वर रंग


सिल्वर रंग में एल्मुनियम ब्रोमाइड हो सकता है। जिससे कैंसर होने की संभावना होती है। इसलिए इस रंग से दूर रहें।

नीला रंग


नीले रंग में परसियाई नीला मिला होता है जिससे त्वचा संबंधी रोग होने का खतरा रहता है।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES3 Votes 12108 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर