वर्किंग वूमेन रोज सुबह करें ये 2 काम, फिटनेस होगी कदमों पर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 09, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कामकाजी महिलाओं के लिए फिट रहना होता है बेहद जरूरी।
  • ऑफिस में लिफ्ट के स्‍थान पर सीढि़यों का इस्‍तेमाल करें।
  • नेशनल हेल्थ एंड न्यूट्रीशन एक्जामिनेशन सर्वे की रिपोर्ट।

महिलाएं अक्‍सर अपनी सेहत का सही प्रकार से ध्‍यान ही नहीं रख पातीं। ऐसे में उन्‍हें कई समस्‍याएं हो सकती हैं। कामकाजी महिलाओं के लिए यह समस्‍या और भी अधिक होती है क्‍योंकि घर और दफ्तर के बीच सही तालमेल बैठा पाना कोई आसान काम नहीं। लेकिन, कुछ बातों का ध्‍यान रख वे अपने स्‍वास्‍थ्‍य का सही प्रकार से ध्‍यान रख सकती हैं।

तेज चाल सुधारे हाल

मद्धम-मद्धम चलना छोडिए और जरा तेज कदम बढ़ाएं। तेज चलने से आपके शरीर में रक्‍त संचार बढ़ता है और इससे आपकी सेहत पर सकारात्‍मक असर पड़ता है। मेडिकल भी इस चीज को मानता है कि जो लोग तेज चलते हैं वो धीरे चलने वालों की अपेक्षा में काफी फूर्तिवान और स्वस्थ जीवन जीते हैं। इसलिए अगर आप वर्किंग हैं और फिट रहना चाहती हैं तो सबसे पहले थोड़ा तेज चलने की आदत डालें।

जरा फुर्ती हो जाए

फुर्ती से काम करने से अधिक ऊर्जा खर्च होती है। इससे शरीर पर जमा अतिरिक्‍त चर्बी भी खत्‍म होगी। यहां एक बात ध्‍यान रखने वाली है कि फुर्ती का अर्थ लापरवाही से नहीं है।

पैदल चलें जरा

ऑफिस में अगर संभव हो तो लिफ्ट के स्‍थान पर सीढि़यों का इस्‍तेमाल करें। अपने घर से बस स्‍टॉप अथवा मेट्रो तक पैदल जाएं। अगर वक्‍त मिले तो अपनी सोसायटी के पार्क में टहलने जाएं। इन सबसे आपको मानसिक और शारीरिक दोनों प्रकार के लाभ होंगे।

इसे भी पढ़ें : घर और ऑफिस के काम के बीच खुद को ऐसे रखें फिट

थोड़ा-थोड़ा खाएं सेहत बनाएं

एक ही बार भरपेट खाने से अच्‍छा है कि थोड़ी-थोड़ी देर बाद कुछ न कुछ खाती रहें। लेकिन खाते समय इस बात का जरूर ध्‍यान रखें कि वह पौष्टिक हो। तला-भुना खाना आपके लिए नुकसानदेह हो सकता है। दफ्तर में शाम को अगर भूख लगे तो हेल्‍थी स्‍नैक्‍स का ही सहारा लें।

ब्रेक तो बनता है

कुछ लोग दिन भर बैठकर कंप्यूटर के सामने सारा समय बिताते हैं जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह हो सकता है। अगर आपके साथ भी ऐसा है तो लगातार एक जगह चिपककर न बैठें, थोड़ी-थोड़ी देर में खड़ी होकर टहलें, हाथ-पैरों को हिलाएं व थोड़ा सा हलका-फुलका व्यायाम भी करें। हर बीस मिनट के बाद दूर जगह पर दृष्टि डालें, नजर टिका कर देखने की कोशिश करें। रोशनी बहुत ज्यादा न रहे, तेज रोशनी आंखों में तनाव पैदा करती है। यदि सीधे इससे बचत संभव न हो तो इसके लिए चमक रहित स्क्रीन अपने मॉनीटर पर लगाएं। बार-बार पलकें भी झपकाएं, यह आंखों की अच्छी एक्सरसाइज है। 

 
दांतों का दुश्मन सोडा 
बचपन से सुनते आई होंगी कि सोडा दांत खराब कर देता है इसको ज्यादा मत पिया करो परंतु अब इस बात की पुष्टि डॉक्टरों ने भी कर दी है। नेशनल हेल्थ एंड न्यूट्रीशन एक्जामिनेशन सर्वे के अनुसार जो लोग दिन में तीन से चार बार सोडा पीते हैं उनके दांतों के खराब होने के चांसेज 62 प्रतिशत अधिक होते हैं। ऐसे व्यक्तियों में दांतों के टूटना, उनके पीलेपन व दांतों में गड्ढे पड़ने की संभावना अधिक हो जाती है। 

इसे भी पढ़ें : वर्किंग वुमेन को फिट रखेगी ये 8 सीक्रेट टिप्‍स!


तनाव से कैसे बचें
आजकल तनाव या कुंठा होने का कोई सीधा कारण नहीं होता। घर से ऑफिस पहुंचने की चिंता, काम समय पर खत्म करने की चिंता, बस में भीड़-भाड़ की घबराहट या फोन कनेक्ट न हो पाने की चिड़चिड़ाहट बहुत सारी वजहें हैं जो व्यर्थ ही तनावग्रस्त कर देती हैं। इसका असर पूरी दिनचर्या पर पड़ता है। अब जानकारों ने इसका आसान हल बताया है कि अपने गुस्से व गुबार को अंदर दबा न रहने दें, बाहर निकालें। ऐसे काम करें जिससे आप तनाव वाली बातों को भुला सकें जैसे लंबी सैर पर जाएं, किसी मनोरंजक खेल को खेलें या फिर बागवानी में ध्यान लगाएं।  


वजन कम करें मिनटों में
अगर आप मोटापे को लेकर परेशान हैं और अपना वजन कम करने के लिए जिम या हेल्थ सेंटर्स के चक्कर लगाने के अलावा डाइटिंग भी कर रही हैं तो अब आपके लिए एक खुशखबरी है। एक शोध से पता चला है कि घर बैठकर भोजन करते हुए भी आप अपने वजन पर काफी हद तक नियंत्रण रख सकती हैं। इसके लिए बस आपको पहले दस मिनट तक भोजन धीरे-धीरे और चबाकर खाना होगा।  इसके तुरंत बाद आपका दिमाग वजन कम करने की प्रक्रिया शुरू कर देगा और आप भूख से अधिक नहीं खाएंगी। इसका नतीजा कुछ ही दिनों में आपके सामने आ जाएगा। 


ब्लडप्रेशर पर काबू 
अपनी अच्छी व मीठी यादों को याद कर आप अपने खुशगवार पलों को ताजा कर सकती हैं। इससे आपका खराब मूड तो सुधरेगा ही रक्तचाप भी नियंत्रित होगा, ऐसा शोधकर्ताओं का मानना है। जब भी कभी नेगेटिव थिकिंग हावी होने लगे तो प्लेजेंट मेमोरी की मदद लें। कैलिफोर्निया में हुए अध्ययन के अनुसार ऐसी घटनाओं को सोच कर जिनसे आपका चेहरा तमतमा उठे या गुस्सा आने लगे, आपका ब्लड प्रेशर बढ़ाएगा, दिल का रोगी बनने में भी देर नहीं लगेगी। इसलिए दूर कीजिए उन दुखद यादों को और याद कीजिए खुशगवार पलों को।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles on Health and Fitness in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES3 Votes 14998 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर