जेटलैग के असर से बचाएगा चश्‍मा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 23, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

jet lag ke asar se bachayega chasma

विदेश में विमान यात्रा करने वालों को सफर के बाद 'जेटलैग' परेशान करता है। इसके चलते उनकी नींद और बाकी दिनचर्या पर उसका असर पड़ता है। अनुसंधानकर्ताओं ने ऐसे लोगों के लिए ‘समय नियंत्रित’ करने वाला चश्मा बनाया है। यह चश्‍मा व्‍यक्ति के शरीर की जैविक घड़ी को रीसेट करता रहेगा जिससे जेटलैग और अनिद्रा की बीमारी से निपटना आसान हो जाएगा। 

 

[इसे भी पढ़ें: मोटे लोग खुशमिजाज होते हैं]


उच्च-प्रौद्योगिकी की मदद से निर्मित यह चश्मा हल्के हरे रंग की रोशनी उत्सर्जित करता है। इस रोशनी का असर मानव की जैविक घड़ी पर पड़ता है यह हमारे सोने के पैटर्न को बदलता है।

इस बनाने वाले अनुसंधानकर्ता का कहना है कि ‘री-टाइमर’ नामक इस उपकरण का उपयोग करके लंबी दूरी तक यात्रा करने वाले यात्री भी विमान से बिल्कुल तरोताजा महसूस करते हुए उतरेंगे।




खबर के अनुसार, चश्मे का विकास करने वाले प्रोफेसर लिओन लैक का कहना है कि यह चश्मे अनिद्रा की बीमारी से ग्रस्त लोगों की भी मदद कर सकते हैं। यह शिफ्ट में काम करने वाले कर्मचारियों को ज्यादा सजग रखेगा और किशोरों को सुबह वक्त पर उठने में भी मदद करेगा।

उनके अनुसार, ‘री-टाइमर से निकलने वाली रोशनी हमारे शरीर की 24 घंटे वाली जैविक घड़ी को नियंत्रित करने वाले मस्तिष्क के हिस्से को प्रभावित करती है।’


Write a Review
Is it Helpful Article?YES10950 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर