जानें, गुस्सा क्यों आता है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 31, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

jane gussa kyu aata hai

 

गुस्सा हर किसी को आता है। किसी को अपने बॉस पर,  तो किसी को अपने टीचर पर। कोई अपने साथी से नाराज होता है तो किसी दोस्‍तों पर भड़ास निकालता है। और ज्‍यादातर लोग तो सरे राह चलते हुए भी लोगों से भिड़ते हुए देखे जा सकते हैं। हालांकि, यह भी सब जानते हैं कि क्रोध इंसान की बुद्धि खा जाता है, लेकिन बावजूद इसके लोग अक्‍सर चीखते-चिल्‍लाते देखे जा सकते हैं। लेकिन, वैज्ञानिक इस गुस्‍से की जड़ तक पहुंचने में कामयाब हो गए हैं।

 

हाल ही में हुए एक शोध में मस्तिष्क में गुस्‍से की जड़ का पता चलता है। शोध्‍कर्ताओं को गुस्‍से के लिए जिम्‍मेदार ब्रेन रिसेप्‍टर का पता चला है । यह मस्तिष्क रिसेप्टर एक एंजाइम है जिसका नाम मोनोएमीन आक्सीडेस ए है। इतना ही नहीं इस रिसेप्टर को बंद कर देने से गुस्से से निजात भी पाई जा सकती है।

 

इस एंजाइम के उचित तरीके से कार्य नहीं करने से चूहों में तुरंत गुस्सा आते देखा गया है। ये रिसेप्टर मानव में भी पाए जाते हैं।

 

पढ़े: कैसे गुस्से को कहे बॉय बॉय

 

इस रिसेप्टर को बंद कर वैज्ञानिकों को चूहों को गुस्से से मुक्त करने में सफलता मिली है। इसके बाद इंसानों के भी गुस्‍से  से निजात पाने का एक नया रास्ता सामने आया है।

 

विज्ञान पत्रिका न्यूरोसांइस जर्नल के मुताबिक साउथ कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय और इटली के शोधार्थियों की यह खोज उन्मादी व्यवहार तथा अल्जाइमर रोग, ऑटिज्म, बाइपोलर डिसऑर्डर और सिजोफ्रेनिया जैसे कई अन्य मनोवैज्ञानिक रोगों के इलाज के लिए औषधि का विकास करने में मदद कर सकती है।

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES9 Votes 18860 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर