क्‍या आपका खाना पोषक है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 11, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Grocery shopखाना हमारी सबसे बड़ी ज़रूरत है और एक अच्छी क्वालिटी के खाने के लिए हम किसी भी हद तक जाने को तैयार होते हैं। हमारे लिए यह सबसे महत्‍वपूर्ण बात है कि हमारा परिवार स्वास्थवर्धक और ताज़े खाने का प्रयोग करे। स्वास्थ्यवर्धक खाना परिवार के बुजुर्ग सदस्यों को किसी भी प्रकार के दर्द से दूर रखता है, युवा वर्ग को स्वस्थ्य और एक्टिव बनाता है और बच्चों को बड़े होने और खेलने की ताकत देता है।


लेकिन हमें यह कैसे पता चलेगा कि हम अपने परिवार को जो खाना दे रहे है वो पूरी तरह से पोषक है।

 

क्या आर्गेनिक खाद्य पदार्थ सबसे अच्छा आप्शन है। आप जो कुछ भी खा रहे हैं, उसकी एक बार जांच ज़रूर करें:

 

  •   ज़मीन को उपजाऊ बनाने के लिए आज फर्टिलाइज़र का प्रयोग बहुत ही आम है।
  • फर्टिलाइज़र इनार्गेनिक साल्ट से मिलकर बने होते हैं जो हमारे लिए नुकसानदायक भी हो सकते हैं।
  • फर्टिलाइज़र पौधों में पानी के साथ डाले जाते हैं और धीरे धीरे पौधों की जड़ें पानी के साथ फर्टिलाइज़र को भी सोख लेती हैं और यह पौधों का एक भाग बन जाता है।
  •  प्रतिदिन फर्टिलाइज़र युक्त आहार लेने से हमारे शरीर का मेटाबालिज़म बिगड़ जाता है।
  • कुछ फर्टिलाइज़र इतने ज़हरीले होते हैं कि शोधकर्ताओं के अनुसार यह मानव शरीर में कैंसर जैसी भयावह बीमारी को जन्म दे सकते हैं।
  • फसलों की पत्तियों, फलों और दूसरे भागों में पेस्ट लग जाते हैं जो कि फसलों को क्षति पहुंचाते हैं। इस प्रकार के नुकसानदायी जीवों से फसलों को बचाने के लिए पेस्टिसाइड का इस्तेमाल होता है।
  • पेस्टिसाइड वो नुकसानदायी रासायन हैं जिनका उपयोग सिर्फ पेस्ट को मारने के लिए किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि वो केमिकल जो पेस्ट को मारने में कामयाब होते हैं वो कम नुकसान करते हैं।
  • कृषि पद्धति का पता लगाने वाले वैज्ञानिक मानते हैं कि पेस्टिसाइड और इन्सेक्टिसाइड कैंसर के बहुत बड़े कारक हैं।


आर्गेनिक फार्मिंग क्या है :


आर्गेनिक फार्मिंग के लिए उन पदार्थों का इस्तेमाल होता है जो कि इनार्गेनिक मूल के होते हैं। ऐसे इनार्गेनिक पदार्थों को पूरी तरह से प्राकृतिक और सुरक्षित माना जाता है और उनमें नाइट्रेट की मात्रा अधिक हो सकती है जो कि फसल के लिए अच्छे होते हैं। लेकिन अगर नाइट्रेट की मात्रा बहुत अधिक होती है तो यह प्राकृतिक रूप से नाइट्राइट में बदल दिया जाता है जो कि बहुत नुकसानदायी होता है। जैसे कि प्रोटीन की अधिक मात्रा से शरीर को नुकसान पहुंचता है उसी प्रकार नाइट्राइट की अधिक मात्रा से पौधों को नुकसान पहुंचता है।


इससे यह सिद्ध होता है कि खेती पर दवाओं से भी ज्यादा ध्यान देना चाहिए क्योंकि फर्टिलाइज़र या पेस्टिसाइड की थोड़ी सी भी अधिक मात्रा से हमारे स्वास्थ्य पर घातक प्रभाव पड़ सकते हैं। ज़ोरदार पेस्टिसाइड और इन्सेक्टिसाइड, इनार्गेनिक फर्टिलाइज़र, अनहैल्दी फारमिंग प्रैक्टिस से हमें कितना नुकसान हो सकता है हम सोच भी नहीं सकते। सभी आर्गेनिक फूड खराब नहीं होते, हम सभी प्रकार के फर्टिलाइज़र को त्याग नहीं सकते। लेकिन हमें याद रखना चाहिए ज्यादातर इनार्गेनिक फर्टिलाइज़र और पेस्टिसाइड बहुत ही नुकसानदायक होते हैं और उनसे कैंसर भी हो सकता है। आज की जीवनशैली में यह नामुमकिन सी बात है कि हमारी अपनी फसल हो या किचन गार्डेन हो। बाहर से खाने पीने के पदार्थ खरीदना हमारी मज़बूरी भी है और ज़रूरत भी। ऐसे में हमें कच्चे फलों और सब्जि़यों को खाने या पकाने से पहले ठीक प्रकार से धोना चाहिए।


मार्केट में सब्जि़यां और फल खरीदते समय थोड़ा ध्यान देकर और रसोईघर में थोड़ी सी सावधानियां बरतकर आप अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते हैंआज की जीवनशैली में यह नामुमकिन सी बात है कि हमारी अपनी फसल हो या किचन गार्डेन हो। बाहर से खाने पीने के पदार्थ खरीदना हमारी मज़बूरी भी है और ज़रूरत भी। ऐसे में हमें कच्चे फलों और सब्जि़यों को खाने या पकाने से पहले ठीक प्रकार से धोना चाहिए।


मार्केट में सब्जि़यां और फल खरीदते समय थोड़ा ध्यान देकर और रसोईघर में थोड़ी सी सावधानियां बरतकर आप अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते हैं।

 

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES8 Votes 17771 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर