क्‍या शैंपू और कंडीशनर एक ही ब्रांड के होने चाहिए

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 28, 2016
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • स्‍कैल्‍प और बालों की समस्‍याएं एक जैसी नहीं होती।
  • शैंपू विशिष्‍ट रूप से जड़ों के लिए प्रयोग किया जात है।
  • कंडीशनर आपके बालों के सिरों को हाइड्रेंट करता है।     
  • स्‍कैल्‍प और बालों की जरूरतों के अनुसार प्रोडक्‍ट चुनें।

अपने लिए शैंपू और कंडीशनर की खरीदारी करना बहुत ही आसान काम हैं, इस बात को आप भी मानते होंगे। इसके लिए आप अपने बालों की समस्‍या और प्रकार के लिए डिजाइन किया गया और एक ही ब्रांड का शैंपू और कंडीशनर खरीदते हैं। ब्रांड इस काम को इतना आसान बना देता है, कि शायद ही हमारे दिमाग में कोई दूसरा विचार आता हो। लेकिन एक ही ब्रांड के शैंपू और कंडीशनर का इस्‍तेमाल वास्‍तव में अच्‍छा विचार नहीं हैं। आइए इस आर्टिकल के माध्‍यम से जानें कि हमें एक ही ब्रांड का शैंपू और कंडीशनर चुनना चाहिए या नहीं।  
shampoo and conditioner in hindi

आपका शैंपू और कंडीनशर एक जैसा क्‍यों नहीं होना चाहिए ?

जरूरी नहीं कि आपके स्‍कैल्‍प और बालों की समस्‍याएं एक जैसी हो। हो सकता है कि आपका स्‍कैल्‍प ऑयली हो लेकिन बाल के सिरे से घुंघराले और ड्राई हो। ऐसे में शैंपू विशिष्‍ट रूप से जड़ों के लिए जबकि कंडीशनर आपके बालों के सिरों को हाइड्रेंट करने के लिए प्रयोग करना चाहिए। असल में, शैंपू आपके स्‍कैल्‍प और जड़ों पर केंद्रित होना चाहिए जबकि आपका कंडीशनर बालों के बीच से लेकर सिरों के लिए होना चाहिए। इस बात से यह तो स्‍पष्‍ट हो गया है कि एक ही ब्रांड का शैंपू और कंडीशनर का उपयोग व्‍यर्थ है। हालांकि यह सुनने में आपको बहुत आसान लग रहा हैं, लेकिन इसके बारे में आपने पहले कभी सोचा भी नहीं होगा।


अपने लिए प्रोडक्ट को कैसे चुनना चाहिए ?

शैंपू और कंडीशनर कई प्रकार में आते हैं- वैल्‍यूमजिंग, मॉइस्‍चराइजिंग, स्मूथनिंग आदि। यह तो स्‍पष्‍ट हो गया है कि बालों की सभी समस्‍याओं के लिए दोनों का एक ही ब्रांड का होना जरूरी नहीं है। अगर आपका स्‍कैल्‍प ड्राई और बाल ठीक है, तो मॉइश्‍चराइजिंग शैंपू एक सही पसंद हैं, लेकिन मॉइश्‍चराजिंग शैंपू +कंडीशनर आपकी बालों की सिरों पर भारी हो सकते हैं। इसलिए, शैम्पू और कंडीशनर का कॉकटेलिंग एक अद्भुत विचार है।

आपका शैंपू आपके स्‍कैल्‍प की समस्‍याओं, बालों के प्रकार, केमिकल ट्रीटमेंट और कंडीशनर आप अपने बालों को किस स्‍टाइल में चाहते हैं, के अनुसार लिया जाना चाहिए। अगर किसी दिन आप अपने बालों को ब्‍लो ड्राई की मदद से स्लिक और सिल्‍की स्‍टाइल में बनाना चाहते हैं तो स्‍मूथनिंग कंडीशनर एक अच्‍छा चुनाव हो सकता है। लेकिन किसी ओर दिन, अगर आप बालों को नेचुरल तरीके से ड्राई करना चाहते हैं तो वैल्‍यूमजिंग कंडीशनर एक बेहतर विचार होगा। असल में, अपने स्‍कैल्‍प और बालों की जरूरतों के हिसाब से अपने प्रोडक्‍ट को चुनना चाहिए।

आप अपने शैंपू और कंडीशनर कब एक जैसा ले सकते हैं?

स्‍कैल्‍प में खुजली या डैंड्रफ जैसी प्रमुख समस्‍या होने पर शैंपू और कंडीशनर का एक ही ब्रांड का होना एक अच्‍छा विचार है। क्‍योंकि एंटी-डैंड्रफ शैंपू के बाद अगर एंटी-डैंड्रफ कंडीशनर का प्रयोग न किया जाये तो कॉस्‍मेटिक कंडीशनर स्‍कैल्‍प के लाभ को कम करता है। एंटी-डैंड्रफ प्रोडक्‍ट मे एक्टिव सामग्री (जिंक प्‍यृथीयोन) एंटी-डैंड्रफ शैंपू के बाद कंडीशनर के इस्‍तेमाल से अधिक प्रभावी ढंग से काम करती है।
 
अन्‍य मामलों में, आपको अपने प्रोडक्‍ट पर अधिक विचार करना चाहिए। टेस्‍ट और नुकसान को ध्‍यान में रखते हुए, आपको बालों के लिए शैंपू और कंडीशनर का सही कॉकटेल चुनना चाहिए, जिससे आप अपनी चाहत के अनुसार शानदार बाल सकें।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते है।

Image Source : Getty

Read More Articles on Hair Care in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES23 Votes 3387 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर