इस बार पहले से खतरनाक है डेंगू

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 30, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

is baar pahle se khtarnaak hai dengue

डेंगू का डंक इस बार पहले से कहीं अधिक खतरनाक हो गया है। मरीजों की संख्या में तो इजाफा हो ही रहा है साथ ही यह बीमारी नए लक्षणों के साथ सामने आ रही है। इन नए लक्षणों के चलते इस बीमारी की पहचान कर पाना पहले से कहीं अधिक मुश्किल हो गया है। पहले और दूसरे दिन सामान्य सा दिखने वाला बुखार डेंगू शॉक सिंड्रोम में बदल रहा है। बीते साल डेंगू की बड़ी पहचान शरीर पर लाल चकत्ते पड़ना माना जाता था। लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो रहा है। यानी यह बीमारी अब पहले से ज्यादा खतरनाक हो गयी है।


[इसे भी पढ़े : डेंगू आघात सिंड्रोम क्या है]

 

कैसे पहचाने डेंगू को

पेट में दर्द और उल्टी
अगर आपके पेट में दर्द हो रहा हो और साथ ही उल्टी की भी शिकायत हो, तो यह डेंगू का लक्षण हो सकता है। ऐसे में आपको फौरन चिकित्सीय परामर्श लेना चाहिए।


बुखार और लो बीपी
अगर आपको बुखार है और साथ ही आपका रक्त चाप सामान्य से कम है तो जरा भी देर करना उचित नहीं। फौरन रक्त जांच करवाइए। आमतौर पर एक स्वस्थ व्यक्ति का रक्त चाप 80/120 होता है।

 

[इसे भी पढ़े : डेंगू जानलेवा भी हो सकता है]

 

वायरल साधारण, लेकिन प्लेटलेट्स कम
आप जिसे साधारण वायरल मानकर बैठे हैं वह कहीं डेंगू तो नहीं। जी, इस बात की भी संभावना हो सकती है कि साधारण सा दिखने वाला बुखार खतरनाक डेंगू का ही नया लक्षण हो। इस स्थिति में अपने प्लेटलेट्स की जांच करवाएं। और यदि इनकी संख्या 32 हजार से कम हो, तो यह डेंगू हो सकता है।

पहले भी हुआ हो डेंगू
अगर किसी को पहले भी डेंगू की शिकायत हो चुकी है तो उसके दोबारा इस बीमारी की चपेट में आने की संभावना काफी बढ़ जाती है। क्योंक‍ि ऐसे लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है इसलिए यह वायरस दोबारा उन पर हमला कर उन्हें अपनी चपेट में ले सकता है।

[इसे भी पढ़े : डेंगू से बचने के तरीके]

 

डेंगू से कैसे बचें

  • अपने घर और आसपास के इलाकों में पानी जमा न होने दें।
  • मच्छरों से बचने के लिए मच्छरदानी का इस्तेमाल करें और साथ ही पूरी बांह के कपड़े पहनें।
  • बदलते मौसम में अगर आप किसी नयी जगह पर जा रहे हैं, तो मच्छरों से बचने के उत्पादों का प्रयोग करें।
  • 5 दिन से अधिक समय तक बुखार होने पर रक्तजांच ज़रूर करा लें । डेंगू से बचना है तो मच्छरों से बचें।

 

Read More Article on Dengue in hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2 Votes 11699 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर