बहरेपन को हमेशा के लिए दूर रखेगा आयरन

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 10, 2017
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आयरन की कमी से सुनने की क्षमता का कमजोर होना।
  • कान की बीच वाली हड्डी में भी आ जाती है समस्‍या।
  • हरी पत्तेदार सब्ज‍ियों में भरपूर आयरन होता है।

बहरेपन के लिए हम उम्र, शारीरिक कमजोरी, स्नायु संबंधी गड़बड़ी तथा आंतों की खराबी को जिम्‍मेदार मानते हैं। या ऐसा भी माना जाता है कि भीतरी पर्दे में चोट लगने, कान में कड़ा मैल जमने, कान के बहने आदि के कारण कान से सुनाई देना बंद हो जाता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि अगर आपके सुनने की क्षमता कमजोर होती जा रही है, तो इसके लिए आपका खानपान जिम्मेदार हो सकता है। विश्‍वास नहीं हो रहा ना, लेकिन यह बात सच है कि खाने में पर्याप्‍त आयरन की कमी से भी आपको बहरेपन की समस्‍या हो सकती है।   

जी हां, एक नए शोध में शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि आयरन की कमी की वजह से व्यक्त‍ि के सुनने की क्षमता कमजोर हो सकती है। यह शोध  पेंसिलवेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने किया है।

deafness in hindi

इसे भी पढ़ें : हियरिंग लॉस के लक्षणों के बारे में जानें

बहरेपन के लिए जिम्‍मेदार है आयरन

शोध के दौरान 3 लाख लोगों पर अध्ययन किया गया। विशेषज्ञों के अनुसार वैश्वि‍क स्तर पर 30 प्रतिशत लोग एनीमिक हैं। यानी विश्व की 30 प्रतिशत आबादी में खून की कमी है। और आप जानते हैं कि इसका अहम कारण खाने में आयरन की कमी है।

शोध के दौरान विशेषज्ञों ने पाया कि आयरन की कमी का खून की कमी के अलावा बहरेपन से भी संबंध है। आयरन की कमी से भी बहरेपन की समस्या आ सकती है। इसके साथ ही कान की बीच वाली हड्डी में भी इससे समस्या आ सकती है। शोधकर्ताओं ने पेन्नसिल्विया के लगभग 3 लाख वयस्कों के मेडिकल रिकॉर्ड्स देखे। इसकी उम्र 21 से 90 के बीच थी। औसत आयु 50 साल रही। मेडिकल रिकॉर्ड्स के अनुसार शोधकर्ताओं ने पाया कि जिन लोगों के शरीर में आयरन की कमी थी उनकी सुनने की क्षमता भी कम थी। जबकि जिन में शरीर में आयरन का स्तर सामान्य था, उनमें बहरेपन का खतरा नहीं देखा गया।

क्‍या कहता है शोध

शोधकर्ताओं ने कहा कि आयरन की कमी से होने वाला बहरापन ब्रेन को भी प्रभावित करता है। अगर कोई व्यक्त‍ि ज्यादा दिनों तक आयरन की कमी वाली स्थ‍िति में बना रहता है तो उसके सोचने समझने की क्षमता भी इससे प्रभावित हो सकती है। साथ ही वह फैसले लेने में असफल साबित हो सकता है।


आयरन की कमी के लक्षण

आयरन की कमी के कारण थकान, पीली त्वचा और नाखून, कमजोरी, चक्कर आना, सिर में दर्द आदि जैसी परेशानियां भी होती हैं। नए अध्ययन के अनुसार, हरी पत्तेदार सब्जियां, ब्राउन राइस और मीट व्यक्ति को बहरेपन से दूर रखती है। इसलिए अपने आहार में आयरन की मात्रा को बढ़ाये। आयरन की कमी को पूरा अपने आहार में आयरन युक्‍त चीजों को शामिल करें।

इसे भी पढ़ें : आयरन से भरपूर दस सर्वश्रेष्‍ठ खाद्य पदार्थ


आयरन के स्रोत

  • हरी पत्तेदार सब्ज‍ियों में भरपूर आयरन होता है। सर्दियों में आसानी से मिल जाते हैं। इन्हें अपनी खुराक में शामिल करें।
  • रोजाना दाल खाएं क्‍योंकि इनमें प्रोटीन के साथ-साथ भरपूर मात्रा में आयरन होता है।
  • आयरन के लिए टोफू भी खा सकते हैं। इसमें आयरन के साथ-साथ प्रोटीन भी उच्च मात्रा में पाया जाता है।
  • इसके अलावा अपने आहार में जई और बींस जैसे राजमा, चना आदि को भी शामिल करें।

इन सब आयरन से युक्‍त खाने को अपने आहार में शामिल कर आप आयरन की कमी, खून की कमी और बहरापन तीनों को दूर सकते हैं।   


ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप


Image Source : Shutterstock.com

Read More Articles on Ear Problem in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES1798 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर