गर्भावस्था में भारतीय व्यंजन

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 28, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • पोषक तत्व युक्त खुराक बहुत जरूरी है गर्भावस्था के दौरान।
  • प्रोटीन, कैल्शियम, फोलिड एसिड जैसे पोषक तत्वों का समावेश।
  • भ्रूण के विकास के लिए प्रोटीन बेहद आवश्यक होता है।
  • मछली, मांस, अंडे में प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

गर्भावस्था महिला के लिए एक ऐसी अवस्था होती है, जब उसे अपने स्वास्थ्य के साथ-साथ होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य की भी चिंता करनी होती है। ऐसे में उसके लिए यह जरूरी हो जाता है कि वह ऐसा पौष्टिक आहार ले, जो उसे ताकत दे ही उसके बच्चे के लिए भी लाभदायक हो।

 

indian food during pregnancy

परंपरागत भारतीय आहार में ऐसी कई चीजें हैं, जो गर्भावस्था में महिलाओं के लिए स्वास्थ्यवर्धक होती हैं। गर्भावस्था में स्वस्थ आहार लेना महिलाओं के लिए बहुत जरूरी है। आइए जानें गर्भावस्था में भारतीय व्यंजन कौन-कौन से लिए जा सकते हैं।

 

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कुछ पौष्टिक व्यंजन जो कि मां और बच्चे दोनों के लिए जरूरी हैं

 

  • दूध से बने खाद्य पदार्थ
  • पनीर युक्त खाद्य पदार्थ
  • पौष्टिक दालें
  • फल युक्त सब्जियां
  • चावल और मोटे अनाज से बना खाना
  • घी, गुड और शर्करा युक्त डेजर्ट
  • मेवे और घी युक्त मिठाईयां
  • हरे पत्तेदार सब्जियां और इसी तरह की अन्य तरकारियां
  • यदि आपको नानवेज खाने का शौक है तो उबले हुए अंडे, मछली के तेल

 

  • यह जरूरी नहीं कि गर्भवती महिलाएं भोजन की मात्रा पर ध्यान दें कि वह कब कितना भोजन ले रही है बल्कि सही मायनो में उन्हें भोजन की किस्म पर ध्यान देना चाहिए कि वह खुराक क्या ले रही हैं।
  • गर्भावस्था के दौरान पोषक तत्व युक्त खुराक बहुत जरूरी है। ये पौष्‍टिक खुराक ही बच्चे के विकास में बहुत उपयोगी है।
  • गर्भावस्था में महिलाओं को अपने खाने में कैलोरी की मात्रा अधिक कर देनी चाहिए जिससे मां और बच्चे को भरपूर आहार मिल सकें।
  • आमतौर पर भारतीय आहार में दूध, फल, दाल, अण्डे, सब्जी और सलाद में बढ़ोत्तरी करनी चाहिए। इससे न कि तैलीय खाद्य पदार्थों में।
  • भारतीय व्यंजनों के दौरान आप यदि स्वस्थ आहार लेती हैं तो आप स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों से बच सकती हैं।  
  • यदि आप भोजन में हरी पत्तेदार सब्जियां, बीज वाली फलिया, मौसम के हिसाब से फल, दूधयुक्त खाद्य पदार्थ, सोयाबीन, दलिया, ओटमील, मूंगफली, अंकुरित दालें जैसी चीजों को सही मात्रा में लेती रहें तो निश्चित रूप से आप स्वस्थ रहेंगी और आपके होने वाले बच्चे का विकास भी सही रूप में होगा।
  • गर्भवती महिलाओं को भारतीय व्यंजन ध्यान रखना चाहिए कि उनके व्यंजनों में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, विटामिन, फोलिड एसिड जैसे पोषक तत्वों का समावेश हो, यदि वे इस बात का ध्यान रखेंगी तो गर्भावस्था के दौरान उन्हें कम परेशानियां होंगी।
  • आमतौर पर कहा जाता है भ्रूण के विकास के लिए प्रोटीन बेहद आवश्यक है, ऐसे में आपको अपने व्यंजनों में प्रोटीन की मात्रा का खास ध्यान रखना चाहिए। जो भी आप खाना लें उसमें प्रोटीन की भरपूर मात्रा हो। मछली, मांस, अंडे में प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है लेकिन आप शाकाहारी भोजन लेना पसंद करती हैं तो आपको पनीर और पनीरयुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन अवश्य करना चाहिए।





Read More Articles on Pregnancy Diet in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES165 Votes 57398 Views 4 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर