दिल को स्‍वस्‍थ रखने के लिए इन बातों का रखें ख्‍याल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 28, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • स्वस्थ शरीर पाने के लिए हृदय को स्वस्थ रखना बेहद जरूरी होता है।
  • हृदय को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम बहुत जरूरी है।
  • रोज आपके भोजन में कम से कम पांच प्रोटीनयुक्त फल और सब्जियां हों।
  • साथ ही अपने भोजन में अधिक वसायुक्त पदार्थ भी बिल्कुल न लें।

स्वस्थ शरीर पाने के लिए हृदय को स्वस्थ रखना जरूरी है। हृदय के स्वास्थ्य के लिए संतुलित आहार के साथ हर रोज व्यायाम से दिन की शुरुआत करें। आजकल की भागदौड़ की जिंदगी में हृदय संबंधी रोगों की संभावना बढ़ जाती है इसिलए जीवनशैली में सुधार जरूरी है। जंक फूड, धूम्रपान व अल्कोहल हृदय रोग की एक बड़ी वजह है। इन आदतों को छोड़कर कुछ यूं अपनी जीवनशैली में सुधार करें। 

 

1. चुस्त बनें

हृदय की मांसपेशियों को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम बहुत जरूरी है। इससे हृदय की धड़कन प्रक्रिया बेहतर तरीके से होती है, साथ ही शरीर को रक्त से आसानी से ऑक्सीजन प्राप्त होता है, जिससे आपकी कार्यक्षमता बढ़ती है और ताकत मिलती है। कभी भी अपने शरीर पर अत्यधिक भार मत लें। अगर आपको कुछ समय के लिए थकावट महसूस हो रही है तो कार्य शुरू करने से पहले शरीर को 15 मिनट का आराम दें। जिससे आपकी कार्यशक्ति वापस बढ़ सके।

 

2. धूम्रपान छोड़ें

वैज्ञानिकों द्वारा यह बात सिद्ध की जा चुकी है कि धूम्रपान करने वाले व्यक्तियों में दिल का दौरा या आकस्मिक हृदय रोग से मृत्यु होने की संभावना आम व्यक्तियों की तुलना में दुगुनी होती है। धूम्रपान छोड़ देने के 10 वर्षो के अंदर इन बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। तो आप अभी से ही धूम्रपान से मुक्त होने के लिए कदम क्यों नहीं उठातीं।

 

Healthy Heart in Hindi

 

3.कम वसा का इस्तेमाल

शोध इस बात की पुष्टि करते हैं कि वसा का कम से कम प्रयोग हृदय को कई रोगों से बचाता है। कोलेस्ट्रोल बढ़ने से हृदय पर दबाव पड़ता है। अगर आप शुरू से ही कम वसा के इस्तेमाल का नियम बना लें तो हृदय संबंधी गंभीर रोगों का सामना भी न करना पड़े। 


4. वजन पर करें नियंत्रण

यदि आपका वजन अधिक है तो आपके हृदय पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है और उसे तेजी से धड़कना पड़ता है। अधिक वजन का कारण असंतुलित भोजन और व्यायाम की कमी है, जिससे कई अन्य रोग भी जन्म लेते हैं। इससे बचाव का सबसे अच्छा तरीका है, ताजे फल, हरी सब्जियां, संतुलित भोजन का सेवन और नियमित व्यायाम।

 


5. जरूरी है आराम  

तनावग्रस्त रहना स्वस्थ जीवन का मार्ग नहीं है। कल्पना कीजिए जैसे कि आप अत्यधिक चीजों को एकसाथ नहीं संभाल पाते हैं वैसी ही स्थिति आपके हृदय के साथ भी हो सकती है। रोज का अत्यधिक तनाव ब्लड प्रेशर को बढ़ाता तो है ही साथ ही यह हृदय की पेशियों को भी प्रभावित करता है। इसलिए तनावमुक्त रहने का प्रयत्‍‌न करें, पर्याप्त नींद लें और साथ ही आराम के लिए भी समय रखें। ध्यान करें, यह आपके लिए लाभदायक होगा।

 

 

Healthy Heart in Hindi

 

6. खूब खाएं मछली 

डायटीशियन शिखा शर्मा का कहना है कि एक या दो मछली के टुकड़े का सप्ताह में एक बार जरूर सेवन करें। ट्राउट, सालमन या टुना जैसी ऑयली मछली में ओमेगा 3 और ओमेगा 6 के जरूरी तत्व होते हैं, जो कि कोरोनरी हृदय रोग के लिए दिए जाते हैं और ये रक्त के थक्के बनने से रोकथाम में मदद करता है। 


7. फल खाएं

स्वस्थ हृदय के लिए जरूरी है कि रोज आपके भोजन में कम से कम पांच प्रोटीनयुक्त फल और सब्जियां हों। ये विटामिन व प्रोटीनयुक्त होते हैं जो कि एलडीएल को कम करने में सहायक होते हैं तथा कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से रोकते हैं। हृदय को स्वस्थ व स्वच्छ रखने के लिए सभी आवश्यक तत्व फलों में होते हैं। इसलिए फलाहार जरूर करें।

 


8. कम करें नमक का सेवन

शरीर में सोडियम की मात्रा सही अनुपात में बनाएं रखने के लिए भोजन में नमक की कुछ मात्रा होना जरूरी है, पर ज्यादा तेज नमक हाई ब्लड प्रेशर और हृदय रोग का कारण भी बन सकता है। अपने भोजन में ज्यादा नमक न लें और ज्यादा नमकीन नाश्तों का सेवन भी कम करें। पोटेशियम के लिए फल व सब्जियां अच्छे स्त्रोत हैं जो प्राकृतिक रूप से आपके शरीर में सोडियम की मात्रा बनाए रखने में सहायक होते हैं।


9. वसा से बचें

यह हमेशा कहा जाता रहा है कि अपने भोजन में अधिक वसायुक्त पदार्थ न लें। पशुओं से प्राप्त पदार्थो जैसे मांस, मक्खन, चीज में वसा अधिक पाई जाती है, साथ ही पकाए गए बिस्कुट या केक में भी यह अधिक होता है। इनसे शरीर में कोलस्ट्रॉल की मात्रा तो बढ़ती ही है साथ ही हृदय भी अस्वस्थ होता है।

 

 

Read More Articles On Heart Health In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES22 Votes 18220 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर